मैनकाइंड बैंडी Bandy Detail and Uses in Hindi

बैंडी, मैनकाइंड द्वारा निर्मित एलबेन्डेजोल का ब्रांड नाम है। यह आंत्र और ऊतक परजीवियों के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवा है। एलबेन्डेजोल दुनिया भर में सबसे व्यापक रूप से प्रयुक्त कृमीनाशक है। यह दवा गोली और सिरप के रूप में उपलब्ध हैं। यह एक ऐलोपथिक दवाई है। इस पेज पर इस दवा के बारे बताया गया है जो की केवल जानकारी देने के उद्देश्य से है। । इस जानकारी का प्रयोग सेल्फ-मेडिकेशन के लिए न करें।

Bandy is allopathic anthelmintic medicine, with generic formula albendazole. It is indicated in treatment of parasites in body. This is a broad spectrum anthelmintic and its exact dose depends on the worms to be treated.

Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

  • दवाई का प्रकार: एलोपैथिक
  • ब्रांड / निर्माता का नाम: मैनकाइंड
  • जेनरिक: एलबेन्डेजोल
  • केमिकल फार्मूला: methyl 5-(propylthio)-2-benzimidazolecarbamate
  • मॉलिक्यूलर फार्मूला: C12H15N3O2S
  • मॉलिक्यूलर वज़न: 265.34
  • उपलब्धता: यह ऑनलाइन और दुकानों में उपलब्ध है।
  • मुख्य उपयोग: कृमि
  • मुख्य गुण: broad-spectrum anthelmintic

निशान का मतलब है “प्रिस्क्रिप्शन”। यह सिंबल लैटिन भाषा में प्रयोग किये जाने शब्द recipere का संक्षिप्त नाम है जिसका शाब्दिक मतलब है “लेने के लिए” या “इस प्रकार लें” ।

मैनकाइंड बैंडी की प्रेगनेंसी केटेगरी

केटेगरी डी D – मानव भ्रूण पर इस दवा का प्रतिकूल असर positive evidence of human fetal risk होता है।

इसको लेने से बच्चे में जन्मजात विकृतियाँ हो सकती हैं, इस लिए कुछ देशों में इसके सेवन के दौरान बच्चा न कंसीव करने की सलाह दी जाती है.

loading...

क्योंकि इसकी कुछ मात्रा वीर्य में जाती है इसलिए पुरुषों को भी इसके सेवन के बाद सेक्स के दौरान प्रोटेक्शन का प्रयोग करना चाहिए.

मैनकाइंड बैंडी के घटक Ingredients of Bandy

BANDY tablet: albendazole

BANDY oral suspension: albendazole 400 mg

BANDY PLUS

BANDY PLUS tablet: ivermectin 6 mg + albendazole 400 mg

BANDY PLUS oral suspension: ivermectin 1.5 mg/5 mL + albendazole 200 mg

BANDY PLUS tablet: ivermectin 12 mg + albendazole 400 mg

दवा के मुख्य प्रभाव

  1. कृमिनाशक anthelmintic
  2. कीड़े को लार्वा स्टेज में मारने वाला larvicidal
  3. कृमि के अंडे मारने वाला ovicidal
  4. कृमि को मारने वाला vermicidal

मैनकाइंड बैंडी के चिकित्सीय उपयोग Uses of Bandy tablet

बैंडी में एलबेन्डेजोल हैं जो की बहुत से कृमियों के इलाज़ के लिए प्रयोग किया जाता है.

राउंड वर्म Ascaris lumbricoides, पिन-वर्म (Enterobius vermicularis), हुक-कृमि worm (Necator americanus, Ancylostoma duodenale), विप-वर्म (Trichuris trichiura), थ्रेड-वर्म (Strongyloides stercoralis), टेप-कृमि Taenia spp and Hymenolepis nana only in the case of associated parasitism), Chlonorchiasis (Chlonorchis sinensis), Opisthorchiasis (Opisthorchis viverrini) और cutaneous लार्वा migrans; बच्चों में giardiasis (G.lamblia, G.duodenalis, G.intestinalis, Lamblia intestinalis).

सेवन विधि और मात्रा Dosage of Bandy tablet

यह ध्यान रखने योग्य बात है की एलबेन्डेजोल एक ब्रॉड स्पेक्ट्रम एनथेलमिंटिक है और बहुत से कृमियों के इलाज़ में कारगर है इसलिए इसकी सटीक मात्रा कृमि के प्रकार और शरीर में उनकी मात्रा पर निर्भर करती है.

कुछ लोग, विशेष रूप से बच्चे, गोली को पूरा निगलने में कठिनाइयों का अनुभव कर सकते हैं. ऐसे में गोली को चबा कर ले सकते हैं या गोली को कुचल कर भी लिया जा सकता है।

इस दवा की सामान्यतः दी जाने वाली मात्रा 400 mg (400 mg or two 200 mg tablets or 10 ml 4%

suspension, Single dose/Once a day) है जो की दिन में एक बार खाने के बाद ली जाती है. यह मात्रा दो वर्ष के अधिक उम्र के बच्चों और वयस्कों के लिए उपयुक्त है. यह राउंड वर्म, पिन वर्म, हुक वर्म, विप वर्म आदि को नष्ट करती है.

 एक से दो वर्ष के बच्चों को 200 mg अथवा 10 ml सस्पेंशन, (one 200 mg tablet or 5 ml 4% suspension, Single done/Once a day) दिन में एक बार खाने के बाद देते हैं.

यदि कृमि एक बार के दवा के सेवन से नहीं जाते तो दवा को तीन सप्ताह बाद फिर से दिया जाता है.

कृमि के प्रकार के अनुसार दवा की मात्रा

जब शरीर में मिक्स्ड कृमि बहुत ज्यादा हो तो (जैसा स्टूल टेस्ट से पता लगे) दवा की एक मात्रा पर्याप्त नहीं होती और ऐसे में यह दिन में एक बार तीन-पांच दिनों तक दी जाती है.

Strongyloidiasis, Taeniasis, Hymenolepiasis में दवा की 400 mg की मात्रा दिन में एक बार तीन दिन (one dose per day for 3 days on an empty stomach) तक दी जाती है.

Chlonorchiasis, Opisthorchiasis में दवा की 400 mg की मात्रा दिन में दो बार तीन दिन (400 mg, Once daily for 1 to 3 days with food) तक दी जाती है

Giardiasis में दवा की 400 mg (400 mg, one dose per day for 5 days on an empty stomach) की मात्रा दिन में दो बार पांच दिन तक दी जाती है

सस्पेंशन को उपयोग करने से पहले अच्छी तरह हिला लें।

या डॉक्टर द्वारा निर्देशित रूप में लें।

सावधनियाँ/ साइड-इफेक्ट्स/ कब प्रयोग न करें Cautions/Side-effects/Contraindications

  1. महिलाए दवा के सेवन के एक महीने बाद तक प्रेगनेंसी के लिए प्रयास न करें.
  2. पुरुषों के सेमन में भी इसकी कुछ मात्रा पायी जाती है,  इसलिए दवा के सेवन के बाद, प्रोटेक्शन का प्रयोग करें.
  3. इसके सेवन से गर्भस्थ शिशु को बहुत नुकसान हो सकते हैं, इसलिए प्रेगनेंसी के दौरान इसका सेवन न करें.
  4. ब्रेस्टफीडिंग के दौरान इस दवा का उपयोग न करें.
  5. इसका बहुत अधिक सेवन न करें. यह लीवर और बोन मेरो के लिए नुक्सानदायक है.
  6. पिन-कृमि के मामले में पूर्ण चिकित्सा प्राप्त करने के लिए, स्वच्छता की सख्त उपायों के अतिरिक्त घर में रहने वाले अन्य व्यक्तियों का इलाज करें ।
  7. सस्पेंशन को उपयोग करने से पहले अच्छी तरह हिला लें।
  8. Neurocysticercosis अथवा मस्तिष्क के टैपवार्म संक्रमण में इसके सेवन से इंटरक्रेनिअल प्रेशर बढ़ सकता है, दौरे आ सकते हैं, तथा देखने में समस्याएं आ सकती हैं. ऐसा परजीवी या टेपवर्म के मर जाने पर दिमाग में आई सूजन के कारण हो सकता है. यदि व्यक्ति को इस तरह के परजीवी के दिमाग में होने का पता नहीं है, और दवा के सेवन के बाद यह लक्षण होते हैं तो उसे तुरंत ही डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए जिससे स्टेरॉयड और एंटीकंवल्सेंट इलाज़ शुरू हो सके.
  9. जिन लोगों में लीवर सम्बंधित रोग है, उन्हें इसका प्रयोग सावधानी से करना चाहिए.
  10. गुर्दे के रोगों में इसका प्रयोग डॉक्टर के परामर्श के बाद करें.

ADVERSE REACTIONS

यह दवा वैसे तो लेना अधिकाँश लोगों के लिए सुरक्षित है, लेकिन कुछ बहुत अधिक सेंसिटिव लोगों में निम्नलिखित (uncommon, rare reactions) लक्षण हो सकते हैं:

  1. पेट में दर्द Abdominal pain
  2. एक्यूट जिगर की विफलता Acute liver failure
  3. गुर्दे की विफलता Acute renal failure
  4. खालित्य Alopecia
  5. चक्कर आना Dizziness
  6. यकृत एंजाइमों के उन्नयन Elevations of hepatic enzymes
  7. पर्विल मल्टीफार्मी Erythema multiforme
  8. बुखार Fever
  9. सरदर्द Headache
  10. हेपेटाइटिस Hepatitis
  11. दाने और पित्ती सहित अतिसंवेदनशीलता प्रतिक्रिया Hypersensitivity reactions including rash and urticaria
  12. बढ़ा हुआ इंटरक्रेनियल प्रेशर Increased intracranial pressure
  13. मेनिनजियल संकेत Meningeal signs
  14. मतली और उल्टी Nausea and vomiting
  15. स्टीवंस जॉनसन सिंड्रोम Stevens-johnson syndrome
  16. चक्कर आना Vertigo
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*