मानसमित्र वटी Manasamitra Vatakam Detail and Uses in Hindi

मानसमित्र वटकम अथवा मानसामित्रावटक (गुटिका/गुलिका), आयुर्वेद की क्लासिकल दवाई है जो टेबलेट्स के रूप में उपलब्ध है इसे मानसमित्र वटी भी कहते हैं। यह दवा मानसिक रोगों के लिए है। इसका उपयोग अवसाद, एंग्जायटी, मनोविकृति, सिजोफ्रेनिया, दौरे, पागलपन/उन्माद, मिर्गी आदि

टैलेक्ट कैप्सूल Himalaya Talekt Detail and Uses in Hindi

टैलेक्ट हिमालय ड्रग कंपनी द्वारा निर्मित एक प्रोप्राइटरी हर्बल आयुर्वेदिक दवाई है तथा इसे त्वचा रोगों में लिया जा सकता है। टैलेक्ट से खून साफ़ होता है। इसमें नीम, गुडूच, विडंग, भृंगराज और कालमेघ के एक्सट्रेक्ट और हल्दी, अमलतास के

हिमालया प्योरिम Himalaya Purim Detail and Uses in Hindi

हिमालया प्योरिम, हिमालय ड्रग कंपनी द्वारा निर्मित एक प्रोप्राइटरी हर्बल आयुर्वेदिक दवाई है तथा इसे त्वचा रोगों में लिया जा सकता है। प्यूरिम से खून साफ़ होता है। इसमें नीम, गुडूच, वरुण, त्रिफला, विडंग, भृंगराज और कालमेघ के एक्सट्रेक्ट और

लशुनादि वटी Lashunadi Vati Detail and Uses in Hindi

लशुनादि वटी, एक क्लासिकल आयुर्वेदिक दवाई है जिसे, बहुत सी आयुर्वेदिक फार्मेसी बना रही हैं। इसमें प्रमुख घटक लशुन या लहसुन है। इसके अतिरिक्त इसमें जीरा, सेंधा नमक, गंधक, त्रिकटु, और हींग है। सभी को बराबर मात्रा में लेकर नींबू

कर्ण बिंदु Karna Bindu Detail and Uses in Hindi

कर्ण बिंदु, एक आयुर्वेदिक कान की ड्राप (ईयरड्रॉप) है। इसकी 2 बूंदे कान में अधिक वैक्स बनने से होने वाली दिक्कतों में की जा सकती है, जैसे कान में दर्द, सुनाई कम देना, कान में आवाजें आना आदि। कान को

नारायण तेल Narayan Oil Detail and Uses in Hindi

नारायण तेल यह एक औषधीय तेल है जिसक वर्णन भैषज्य रत्नावली के वातव्याधिकार में है। क्योंकि यह एक क्लासिकल दवाई है और आयुर्वेद के प्राचीन ग्रन्थों में वर्णित है इसे बहुत सी आयुर्वेदिक फार्मेसी बना रही हैं। नारायण तेल की

महानारायण तेल Mahanarayan Oil Detail and Uses in Hindi

महानारायण तेल आयुर्वेदिक तेल है। यह एक औषधीय तेल है जिसक वर्णन भैषज्य रत्नावली के वातव्याधिकार में है। क्योंकि यह एक क्लासिकल दवाई है और आयुर्वेद के प्राचीन ग्रन्थों में वर्णित है इसे बहुत सी आयुर्वेदिक फार्मेसी जैसे कि बैद्यानाथ्,

अग्निमुख चूर्ण Agnimukh Churna Detail and Uses in Hindi

अग्निमुख चूर्ण एक प्रसिद्ध आयुर्वेदिक औषधि है। इसमें आठ औषधीय द्रव्य हींग, वच, पिप्पली, सोंठ, अजवाईन, हर्रे, चित्रकमूल की छाल और कूठ है। इस दवा के सेवन से भूख बढ़ती है और पाचन ठीक होता है। यह एक गर्म प्रकृति

महासुदर्शन काढ़ा प्रवाही Mahasudarshan Kadha Detail and Uses in Hindi

महासुदर्शन काढ़ा प्रवाही, हर्बल आयुर्वेदिक दवा है। यह फरमेंटेड आयुर्वेदिक दवा, आसव है, और बुखार में उपयोगी है। इसमें 5-10 प्रतिशत तक सेल्फ-जनरेटेड अल्कोहल होता है। यह किसी भी कारण से होने वाले बुखार/ ज्वर/फीवर, के इलाज के लिए बहुत

स्फटिका भस्म Sphatika Bhasma Detail and Uses in Hindi

स्फटिक भस्म, फिटकरी की भस्म को कहते हैं। इसे शुभ्रा भस्म के नाम से भी जानते हैं। आयुर्वेद में इसे आंतरिक और बाह्य दोनों ही तरीकों से प्रयोग करते हैं। स्फटिक भस्म,  को बहुत ही कम मात्रा में, डॉक्टर के