Chandraprabha Vati चंद्रप्रभा वटी Details in Hindi

loading...

चंद्रप्रभा वटी, को 37 पदार्थों के योग से बनाया गया है। यह एक बहुत ही लोकप्रिय और प्रभावी दवा है जो की बहुत से रोगों में दी जाती है। \’चंद्र\’ का मतलब है चंद्रमा और \’प्रभा\’ का मतलब है चमक। तो इसका शाब्दिक अर्थ है वो दवा या टेबलेट जो शरीर में चमक लाए। ये दवा कई नामी आयुर्वेदिक कंपनियों द्वारा निर्मित की जाती है।

chandraprabha-vati

Chandraprabha Vati is an Ayurvedic formulation consisting of 37 ingredients (28 herbs, 3 mineral salts, 2 alkali, 2 metal ashes, sucrose and Aspelt mineral pitch). It is an effective and well-known medicine for treating genito-urinary ailments, muscular and joint pain, obesity, diabetes, jaundice, piles, sujak, weakness, seminal problems, digestive impairment, etc. It is used for rejuvenation. Here information is given about complete list of ingredients, properties, benefits, uses and dosage of this medicine in Hindi language.

चंद्रप्रभा वटी को मधुमेह और मूत्र रोगों में प्रयोग किया जाता है। यह मूत्रेंद्रिय और वीर्य-विकारों की सुप्रसिद्ध औषधी है। इसका उपयोग शरीर में चमक लाता है और बल, ताकत और शक्ति बढती है।

Benefits of Chandraprabha Vati

चंद्रप्रभा वटी सूजाक के कारण होने वाली दिक्कतों को नष्ट करती है। पुराने सूजाक में इसका उपयोग होता है। सूजाक के कारण होने वाले फोड़े, फुंसी, खुजली आदि में इस दवा को चन्दनासव या सारिवाद्यासव के साथ दिया जाता है। यह दवा शरीर से विष को निकालती है और धातुओं का शोधन करती है।

किसी कारण से जब शुक्रवाहिनी और वातवाहिनी नाड़ियाँ कमज़ोर हो जाती हैं तब इस स्थिति में वीर्य अपने आप ही निकल जाता है जैसे की स्वप्नदोष nocturnal discharge/night fall, पेशाब के साथ वीर्य जाना discharge of semen with urine , premature ejaculation. ऐसे में इस दवा को गिलोय के काढ़े giloy decoction के साथ दिया जाना चाहिए। यह दवा पुरुष जननेंद्रिय विकारों male reproductive system related diseases में अच्छा प्रभाव दिखाती है।

loading...

इस का प्रयोग स्त्री रोगों gynecological problems में भी होता है। यह गर्भाशय uterus को शक्ति देती है और उसकी वकृति को दूर करती है। सुजाक, उपदंश आदि में यह प्रभावी है। स्त्रियों में होने वाले अन्य समस्यों जैसे की पूरे शरीर में दर्द full body pain, मासिक में दर्द painful menstruation, १०-१२ दिनों का मासिक धर्म periods for 10-12 days आदि में यह दवा अशोक घृत के साथ दी जाती है।

मूत्र रोगों में जैसे की बहुमूत्र, मूत्रकृच्छ, मूत्राघात urine retention, मूत्राशय में किसी तरह की विकृति, पेशाब में जलन burning sensation while urination, पेशाब का लाल रंग, पेशाब में दुर्गन्ध, पेशाबी में चीनी sugar in urine, श्वेत प्रदर, किडनी की पथरी kidney stones , पेशाब में एल्ब्यूमिन, रुक रुक के पेशाब आना, मूत्राशय की सूजन inflammation of urinary bladder, आदि में ये बहुत ही अच्छा प्रभाव दिखाती है।

जब मूत्र कम मात्रा में बने और मूत्राघात हो तो इसका प्रयोग पुनर्नवासव या लोध्रासव के साथ किया जाता है।

वात के अधिक होने पर कब्ज़ और मन्दाग्नि हो जाती है जो ज्यादा दिन रहने पर भूख न लगना, अपच, ज्यादा प्यास, कमजोरी आदि दिक्कतें पैदा करती हैं। इसमें में भी इस दवा का प्रयोग अच्छा असर दिखाता है।

यह दवा बलवर्धक, पोषक, कांतिवर्धक, और मूत्रल है।

नीचे इस दवा के घटक, गुण, सेवनविधि, और मात्रा के बारे में जानकारी दी गयी है।

चिकित्सीय उपयोग

  • विबंध (Constipation), शूल (Colicky Pain)
  • अरुचि (Tastelessness), मन्दाग्नि (Impaired digestive fire)
  • ग्रंथि (Cyst), पांडू (Anemia), कमाला (Jaundice), प्लीहोदर (Disorder of Spleen, Ascites associated with splenomegaly)
  • अर्बुद (Tumor), कटी शूल (Lower backache)
  • कुष्ठ (Diseases of skin), कंडू (Itching)
  • आंत्र वृद्धि (Hernia), अंड वृद्धि (prostate)
  • दांत रोग (Dental disease), नेत्र रोग (Eye disorder)
  • मूत्र रोग, अनाह (Distension of abdomen due to obstruction to passage of urine and stools), मुत्रक्रिछा (Dysuria), प्रमेह (Urinary disorders), अश्मरी (Calculus), मूत्रघात (Urinary obstruction)
  • अर्श (Haemorrhoids), भगंदर (Fistula-in-ano),
  • स्त्रीरोग (Gynaecological disorders), आर्तव रज (Dysmenorrhoea)
  • वीर्य सम्बन्धी दोष, शुक्र दोष (Vitiation of semen), दुर्बल्य (Weakness)
  • Natural safe effective diuretic मूत्रल

घटक Complete list of ingredients

1. Candraprabha (Karpura) Sublimated Extract 3 g
2. Vaca Rhizome 3 g
3. Musta Rhizome 3 g
4. Bhunimba (Kiratatikta) Plant 3 g
5. Amrita (Guduci) Stem 3 g
6. Daruka (Devadaru) Heart Wood 3 g
7. Haridra Rhizome 3 g
8. Ativisha Root 3 g
9. Darvi (Daruharidra) Stem 3 g
10. Pippalimula (Pippali) Root 3 g
11. Citraka Root 3 g
12. Dhanyaka Fruit 3 g
13. Haritaki Pericarp 3 g
14. Bibhitaka Pericarp 3 g
15. Amalaki Pericarp 3 g
16. Cavya Stem 3 g
17. Vidang Fruit 3 g
18. Gajapippali Fruit 3 g
19. Sunthi Rhizome 3 g
20. Marica Fruit 3 g
21. Pippali Fruit 3 g
22. Makshika dhatu bhasma (Makshika) Mineral 3 g
23. Yava kshara (Yava) Plant (Whole) 3 g
24. Sarji Kshara Svarjikshara Alkalli preparation 3 g
25. Saindhava lavan Salt 3 g
26. Sauvarcala lavan Salt 3 g
27. Vida lavan Salt 3 g
28. Trivrit Root 12 g
29. Danti Root 12 g
30. Patraka (Tejapatra) Leaf 12 g
31. Tvak Stem bark 12 g
32. Ela (Sukshmaila) Seed 12 g
33. Vanshlochan Silicacious Concretion 12 g
34. loha (Lauha) bhasma 24 g
35. Sita 48 g
36. Shilajeet 96 g
37. Guggulu (Exd.) 96 g

सेवनविधि और मात्रा How to take and dosage

1-2 tablets/250mg to 500mg, पानी/दूध/गिलोय काढ़ा/दारुहल्दी रस/बेल की पत्ती का रस/ गोखरू काढ़ा या केवल शहद के साथ लें।

Where to buy

आप इस दवा को सभी फार्मेसी दुकानों पर या ऑनलाइन खरीद सकते हैं।

Chandraprabha Vati is manufactured by Dabur, Shree Baidyanath Ayurved Bhawan, Patanjali Divya Pharmacy, Shree Dhootapapeshwar Limited, Shri Bajranga Ayurved Bhawan and some other pharmacies।

loading...

35 thoughts on “Chandraprabha Vati चंद्रप्रभा वटी Details in Hindi

  1. Sir jb m sex krta hu toh kai baari bahut jaldi discharge ho jata hu only 1 min. Lgti h kai baari toh….. premature ejaculation toh nhi h kahi yeh aap sahi guidance de please….

  2. नमस्ते सर
    मुझे सुबह में लाइटिंग करने में ब्लड जिसे दर्द भी बना रहता पाइल्स लक्ष्ण है मेरे लिए बताये
    धन्यवाद

  3. sir main bahut achha tha but mujhe kisi ne chandraprabha vati khane ko kaha aur bola ki main aur mota ho jaunga aur maine chandrapra vati khane laga aur mujhe swapandosh hone laga main sote samay bahut sapna dekhta hoo jiske karan night fall ho jata hai.please help me sir

  4. मुझे बहुत कब्ज और गैस बनता है और मैं बहुत दिनों से परेशान हूं पर इसका कोई सलूशन नहीं मिला फिर मैंने आयुर्वेदिक डॉक्टर से परामर्श लिया फिर उन्होंने मेरे लिए दवा लिखी जिसमें एक है द्राक्ष वेल और दूसरी है अविपत्तिकर चूर्ण और चंद्रप्रभा वटी और आरोग्यवर्धिनी वटीor vitenzyme यह दवा मुझे दी है और 3 महीने का कोर्स बताया है तो मुझे से 30 परसेंट फायदा तो पड़ा है पर पूर्ण तरीके से नहीं मिटी तो प्लीज मुझे स जंक्शन देवे

  5. hello sir ji,
    i have 30 year old suffering from diabetic type 2 , last one month every morning i have taken chandraprabhavati 2 tablet le raha hu kya ye thk hai mere lia,
    ya or koi aachi tablet ho to batao ji se ki me iss se nijat pata saku.

  6. Respected Sir Ji

    Mere penis se pus niklati hai kya Chandraprabhav vati lane se pus aani band ho gayagi kya.

    Sir Please Hindi me batana.

  7. Mujhe gas ki problem he, bohot tez darak (belch) aayi he kuch bhi khane pine ke bad, muje Patanjali k Dr. ne ye medicine di he plzz check and suggest me that those will work or not
    1. Dashmularishta
    2. Kumaryasava
    3. Chandraprbha vati
    4. Chitrakadi vati
    5. Mix of Lawan Bhaskar churna, shankh bhasm, karpadik bhasm & muktasudhi churna
    I have doubts about the medicine
    Plzz help

  8. mujhe night fall two days and one weak pe ho jata hi .kya mai bahut weak hun.mujhe aap kripya med…batayen .oise mai chandraprabha vati water ke sath use kar raha hun.

  9. hello sir mai 6mahino se lower back pain se parshan hu maine patanjali store se Chandra pravh vati aur silajit liya tha but isse koi phayada nahi hua sir kya karu

    • Amtawari ras aur lakshadi gugule ka sevan 15 dino tak kare.
      Dudh w shahad ke sath le.

      Aalu aur wajandar bhojan ko tyag de.
      Halka aur sadha bhojan kare.
      15 dino me result ki apeksha hai.

  10. Sir i have mild prostatitis for last one year should i take chandraprabha vati. After taking it i feel hot in stomach n also gas shod i continue. I am 32 year old

  11. Mere ko adhik hasthmethun ke Karan kamzori aur spermatocele ( epididymis cyst ) ho gya hai koi takleef nhi hai but me chata hoon ki ye shrink ho jaye chandprabha vati aur kachnaar guggul ke bare me suna hai ki vo cyst ko thik kar sakte hai aap koi salah de
    Thanks

  12. Hi
    I want to know that I have purchase Chandraprabh vati (B. R) and Divya shilajeet Rasayan for Patanjali store for under knee joints gets pain after 20 days of chikunguniya wheater it work or not what dosage I have to take.
    My age is 29 years

    • Please take any of following
      अमृता गुग्गुलु Amrita Guggulu (2 tablets twice daily)
      योगराज गुग्गुलु Yogaraj guggulu (2 tablets thrice daily)
      महायोगराज गुग्गुलु Maha yogaraja Guggulu (2 tablets twice daily)
      सिंहनाद गुग्गुलु Simhanada Guggulu (2 tablets thrice daily)
      गोक्षुरादी गुग्गुलु Gokshuradi Guggulu (2 tablets twice daily)
      कैशोर गुग्गुलु Kaishore Guggulu (2 tablets twice daily)
      त्रयोदाशांग गुग्गुलु Trayodashanga Guggulu (2 tablets thrice daily)

  13. sir hame chikunguniya hua hai
    mai noida sec-62 se patanjali store se ye dava laye hai ye dava benifit hai na
    1)chandraprabha vati(B.R)
    2)Giloy ghanvati
    but isse aram hai but fiber na ja raha hai
    koi dusari dava ka nam bataye jisase ki aram ho jaye
    mai patanjali ka 4 yr se product use karta hu

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*