माजून अज़ाराक़ी Majun Azaraqi Uses, Benefits, Side Effects, Dosage, Warnings in Hindi

माजून अजाराकी Majoon-e-Azaraqi, Majun Azaraqi in Hindi, Hindi यूनाई दवाई है। माजून-ए-अज़ाराकी को आमतौर पर तंत्रिका, हेमिप्लेजिया, लकवा, चेहरे के पक्षाघात, कांपना, कटिस्नायुशूल, संधिशोथ, मिर्गी, सिफिलिस और न्यूरैस्थेनिया की बीमारियों के लिए दिया जाता है।

Majoon-e-Azaraqi 15 अवयवों से तैयार है। यह यूनानी चिकित्सा पद्धति का माजून Majun or Majoon है। है। माजून वे यूनाई दवाइयां है जो जड़ी बूटियों के पाउडर और चीनी या असल / शहद को मिलाकर बनाया जाता है। जड़ी बूटियों के पाउडर को चीनी और शाद के साथ अच्छे से मिक्स करके यह दवाएं तैयार की जाती हैं। दवा को नाम इसके प्रमुख द्रव्य या गुण के कारण दिया जाता है। इस दवा का नाम माजून अजाराकी है क्योंकि इस दवा का सिद्धांत घटक Azaraqi Mudabba है। अज़ाराक़ी Strychnos nuxvomica के बीज को कहते हैं।

यह पेज माजून अज़ाराक़ी के बारे में हिंदी में जानकारी देता है जैसे कि दवा का कम्पोज़िशन, उपयोग, लाभ/बेनेफिट्स/फायदे, कीमत, खुराक/ डोज/लेने का तरीका, दुष्प्रभाव/नुकसान/खतरे/साइड इफेक्ट्स/ और अन्य महत्वपूर्ण ज़रूरी जानकारी।

loading...
  • माजून अज़ाराक़ी में मौजूद सामग्री क्या हैं?
  • माजून अज़ाराक़ी के उपयोग क्या हैं?
  • माजून अज़ाराक़ी के दुष्प्रभाव क्या हैं?
  • माजून अज़ाराक़ी को कब नहीं लेते हैं?
  • माजून अज़ाराक़ी के संभावित दवा interatcion क्या हैं?
  • माजून अज़ाराक़ी से जुड़ी चेतावनियां और सुझाव क्या हैं?

 

  • दवा का नाम: माजून अज़ाराक़ी Majun Azaraqi
  • निर्माता: Hamdard
  • उपलब्धता: यह ऑनलाइन और दुकानों में उपलब्ध है।
  • दवाई का प्रकार: हर्बल यूनानी
  • मुख्य उपयोग: तंत्रिका और मस्कुलोस्केलेटल सिस्टम से संबंधित बीमारियाँ
  • गर्भावस्था में प्रयोग: नहीं करें
  • मूल्य MRP: Hamdard Majun Azaraqi @ Rs. 120.00

MAJOON-E-AZARAQI is Herbal Unani Medicine. It is indicated in ailments of nerve, hemiplegia, lukwa, facial paralysis, tremor, trembling, tremors, sciatica, rheumatism, epilepsy syphilis, and neurasthenia.

माजून अज़ाराक़ी के घटक Ingredients of Majun Azaraqi

  • Azaraqi Mudabbar Strychnos nuxvomica Linn. Seed 30g
  • Berg-e-Gaozaban Borago officinalis Linn. Leaf 20g
  • Ustukhuddus Lavandula stoechas Linn. Flower 15g
  • Kateera Cochlospermum religiosum Linn. Gum 15g
  • Narjeel Cocos nucifera Linn. Endosperm 15g
  • Maghz-e-Chilghoza Pinus gerardiana Wall. Kernel 15g
  • Dana Heel Khurd Eletarria cardamomum (L.) Maton Seed 10g
  • Zarambad Curcuma zeodaria Linn. Rhizome 10g
  • Shaqaq-ul-Misri Pastinaca secacul Linn. Rhizome 10g
  • Sandal Safaid Santalum album Linn. Heartwood 10g
  • Aamla Emblica officinalis Gaertn. Fruit 10g
  • Halela Siyah Terminalia chebula Retz. Fruit 10g
  • Ood Hindi Aquilaria agallocha Roxb. Heartwood 5g
  • Qaranfal Syzygium aromaticum (L.) Merr. L M Perry Flower bud 5g
  • Qand Safaid Sugar 675g

अज़ाराक़ी

Loading...

अज़ाराक़ी को कुचला, कुचिला, विंदू, तिंडुका, करास्कर, रामाफला, कुपाका, कालकुता, विशमुष्तिका, कुपुल्लू, विशुष्ष्ति, विश्वनाथुका और नक्स-वोमिका भी कहा जाता है।

नक्स वोमिका विष या जहर है। इसमें 2 सक्रिय एल्कोलोइड (स्ट्रैक्विनिन और ब्रूसिन) होते हैं, जो अत्यधिक जहरीले होते हैं। बीज जहर हैं जो घबराहट और मांसपेशी प्रणालियों को प्रभावित करते हैं जिससे टेटनिक आवेग और मृत्यु हो जाती है। छोटी खुराक में और शोधित करके इन बीजों के चूर्ण का प्रयोग यह और तंत्रिका संबंधी प्रेम, दस्त, और रीढ़ की हड्डी की प्रणाली की कमी के लिए दिया जाता है

कुचला को श्वसन तंत्र, न्यूरोमस्क्यूलर प्रणाली को उत्तेजित करने और जनरेटिव अंगों की कमजोरी में दिया जाता है। कुचला जहर है और इसलिए इसे लेड की जहरीले प्रभाव, सांप के काटने और अफीम की अधिक मात्रा के असर को कम करने में दिया जाता है। मांसपेशियों के धीरे धीरे बेकार होने के रोग wasting diseases में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। नक्स वोमिका के सेवन से कब्ज़ और पाचन की कमजोरी भी दूर होती है।

loading...

शुद्ध कुचला Strychnos nux-vomica स्ट्रैक्नोस नक्स-वोमिका, श्वसन और वैसोमोटर केंद्रों को उत्तेजित करता है। इसका दिल पर प्रत्यक्ष प्रभाव पड़ता है और एसिट्लोक्लिन acetylcholine के स्राव को रोकता है। यह सेरेब्रल प्रांतस्था और परिधीय नसों पर कार्य करता है, और चिह्नित अति सक्रियता दिखाता है। यह विषाक्त है। अधिकता में इसका सेवन हृदय पर बुरा असर डालता है और इसे उत्तेजित करता है। नक्स वोमिका को बड़ी खुराक घातक होती है। सुरक्षित खुराक में लेने पर भी दिमाग के सही सेर काम करने पर असर हो सकता है।

माजून अज़ाराक़ी के लाभ/फ़ायदे Benefits of Majun Azaraqi

  • इसे खाने से दर्द और सूजन में आराम आता है।
  • इसे खाने से शरीर में गर्मी बढ़ती है।
  • यह गठिया, कटिस्नायुशूल, पक्षाघात, चेहरे की पाल्सी, कंपकंपी, और मिर्गी में फायदेमंद है।
  • यह गैस्ट्रिक टॉनिक है।
  • यह पेशाब के ब्लैडर का टॉनिक है।
  • यह सिफलिस के इलाज में भी फायदा करती है।

माजून अज़ाराक़ी के चिकित्सीय उपयोग Uses of Majun Azaraqi

माजून अज़ाराक़ी तंत्रिकाओं को मजबूत और उत्तेजित करता है। यह तंत्रिका रोगों में उपयोगी है, विशेष रूप से पक्षाघात, चेहरे की पक्षाघात, हेमिप्लेगिया और कोरिया में। इसको खाने से संधिशोथ और गठिया से भी राहत मिलती है। सर्दियों में इसे खाने से बलगम के रोग दूर होते हैं।

  • तंत्रिका, और कफ वाले रोग Amraz Asbania Balghamia (Nervine, Phlegmatic Diseases)
  • आतशक Atishak (Syphilis)
  • नर्तन रोग Chorea (neurological disorder characterized by jerky involuntary movements affecting especially the shoulders, hips, and face)
  • फालिज़ Falij (Paralysis)
  • साइटिका Irqunnisa (Sciatica)
  • लकवा Laqva (Facial Palsy)
  • निकरस Niqras (Gout)
  • ट्रेमर Rasha (Tremer)
  • मिरगी Sara (Epilepsy)
  • वजौल मफसिल Wajaul Mafasil (Arthralgia)
  • नसों की कमजोरी Weakness of nerves

सेवन विधि और मात्रा Dosage of Majun Azaraqi

  • 3-5 ग्राम दिन में दो बार, सुबह और शाम लें।
  • इसे दूध के साथ लें।
  • इसे भोजन करने के बाद लें।
  • या डॉक्टर द्वारा निर्देशित रूप में लें।

माजून अज़ाराक़ी के इस्तेमाल में सावधनियाँ Cautions

  • उचित खुराक उपयोगकर्ता की उम्र, स्वास्थ्य और कई अन्य स्थितियों जैसे कई कारकों पर निर्भर करती है। उचित खुराक निर्धारित करने के लिए पर्याप्त वैज्ञानिक जानकारी नहीं है।
  • ध्यान रखें कि प्राकृतिक उत्पाद हमेशा सुरक्षित हों ऐसा जरूरी नहीं हैं।
  • इसका इस्तेमाल चिकित्सक की सलाह के आधार पर कम दिनों तक किया जा सकता है।
  • इस औषधि को केवल विशिष्ट समय अवधि के लिए निर्धारित खुराक में लें।
  • इस दवा को डॉक्टर की देख-रेख में ही लें।
  • इसे ज्यादा मात्रा में न लें।
  • यह हमेशा ध्यान रखें की जिन दवाओं में नक्स वोमिका को डाला जाता है, उन दवाओं का सेवन लम्बे समय तक नहीं किया जाता। इसके अतिरिक्त इन्हें डॉक्टर के देख-रेख में बताई गई मात्रा और उपचार की अवधि तक ही लेना चाहिए।
  • यह पित्त को बढ़ाता है। इसलिए पित्त प्रकृति के लोग इसका सेवन सावधानी से करें।

माजून अज़ाराक़ी के साइड-इफेक्ट्स Side effects

  • इससे कुछ लोगों में पेट में जलन हो सकती है।
  • यह दवा पेट में लम्बे समय तक रहती है और धीरे धीरे अब्सोर्ब होती है।
  • नक्स वोमिका, नर्वस सिस्टम को स्टियुमेलेट करता है। अधिकता में यह न्यूरोमस्कुलर पाइजन है।

माजून अज़ाराक़ी को कब प्रयोग न करें Contraindications

  • इसे गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान न लें।
  • जिन्हें पेट में सूजन हो gastritis, वे इसका सेवन न करें।
  • शरीर में यदि पहले से पित्त बढ़ा है, रक्त बहने का विकार है bleeding disorder, हाथ-पैर में जलन है, अल्सर है, छाले हैं तो भी इसका सेवन न करें।
  • इसे बताई मात्रा से अधिकता में न लें।
  • यदि दवा से किसी भी तरह का एलर्जिक रिएक्शन हों तो इसका इस्तेमाल नहीं करें।
  • अधिक मात्रा में सेवन पेट में जलन, एसिडिटी, आदि समस्या कर सकता है।
  • समस्या अधिक है, तो डॉक्टर की राय प्राप्तकर सही उपचार कराएं जिससे रोग बिगड़े नहीं।
  • निम्न स्वास्थ्य समस्या होने पर इसे नहीं लेना चाहिए:
  • एसिडिटी hyperacidity
  • नाक संबंधी रक्तस्राव nasal haemorrhages
  • पेट फूलना acute flatulence
  • पेशाब में जलन burning urination
  • मूत्र असंयम urinary incontinence
  • मूत्रमार्ग की सूजन inflammation of the urethra

भंडारण निर्देश

  • सूखी जगह में स्टोर करें।
  • इसे बच्चों की पहुँच से दूर रखें।
loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.