दिव्य पुत्रजीवक बीज Patanjali Putrajeevak Beej Uses, Benefits, Side Effects, Dosage, Warnings in Hindi

पुत्रजीवक बीज Patanjali Putrajeevak Beej in Hindi, बांझपन और गर्भाशय से संबंधित समस्याओं के लिए फायदेमंद है। पुत्रजीवक और शिवलिंगी के बीज को नियमित रूप से लेने पर तो बांझपन और शिशुहीनता के कारणों का इलाज किया जाता है। Putrjeevak Beej और Shivlingi Beej के बीज का पाउडर लें 1-1 ग्राम या 1/4 चम्मच की मात्रा में, गाय के दूध के साथ खाली पेट लिया जाता है।

loading...

दवा के बारे में इस पेज पर जो जानकारी दी गई है वह इसमें प्रयुक्त जड़ी-बूटियों के आधार पर है। हम इस प्रोडक्ट को एंडोर्स नहीं कर रहे। यह दवा का प्रचार नहीं है। हमारा यह भी दावा नहीं है कि यह आपके रोग को एकदम ठीक कर देगी। यह आपके लिए फायदेमंद हो भी सकती हैं और नहीं भी। दवा के फोर्मुलेशन के आधार और यह मानते हुए की इसमें यह सभी द्रव्य उत्तम क्वालिटी के हैं, इसके लाभ बताये गए हैं।

यह पेज पुत्रजीवक बीज के बारे में हिंदी में जानकारी देता है जैसे कि दवा का कम्पोज़िशन, उपयोग, लाभ/बेनेफिट्स/फायदे, कीमत, खुराक/ डोज/लेने का तरीका, दुष्प्रभाव/नुकसान/खतरे/साइड इफेक्ट्स/ और अन्य महत्वपूर्ण ज़रूरी जानकारी।

  • पुत्रजीवक बीज में मौजूद सामग्री क्या हैं?
  • पुत्रजीवक बीज के उपयोग upyog क्या हैं?
  • पुत्रजीवक बीज के फायदे faide क्या हैं?
  • पुत्रजीवक बीज के दुष्प्रभाव या नुकसान nuksan क्या हैं?
  • पुत्रजीवक बीज को कब नहीं लेते हैं?
  • पुत्रजीवक बीज के संभावित दवा interaction क्या हैं?
  • पुत्रजीवक बीज से जुड़ी चेतावनियां और सुझाव क्या हैं?

Patanjali Putrajeevak Beej is Herbal Ayurvedic medicine. It is indicated in treatment of infertility. Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

  • दवा का नाम: पुत्रजीवक बीज Patanjali Putrajeevak Beej, Divya Putrajeevak Beej
  • निर्माता: पतंजलि दिव्य फार्मेसी
  • उपलब्धता: यह ऑनलाइन और दुकानों में उपलब्ध है।
  • दवाई का प्रकार: हर्बल
  • मुख्य उपयोग: ताकत देना और बच्चा ठहरने में लाभप्रद
  • मुख्य गुण: गर्भाशय की मांसपेशियों को मजबूत करना
  • दोष इफ़ेक्ट:वात-पित्त कम करना
  • मूल्य MRP: DIVYA PUTRAJEEVAK BEEJ 250 grams Price Rs 75

पुत्रजीवक बीज के घटक Ingredients of Patanjali Putrajeevak Beej

पुत्रजीवक के बीज, जिसका वानस्पतिक नाम Putranjiva Roxburghii है। इसे आम बोलचाल की भाषा में Putrajeevak, Putranjiva, Jiyopota, Jivaputrak, Putranjivah, Putrajivah, आदि नामों से जानते हैं।

यह वनस्पति भारत, श्रीलंका, पाकिस्तान, नेपाल, बांग्लादेश, इंडोनेशिया, मलेशिया आदि देशों में पायी जाती है।

Loading...

आयुर्वेदिक गुण और कर्म

पुत्रजीवक रस में कटु, लवण, तथा गुण में रूक्ष और गुरु है। यह शीत वीर्य और मधुर विपाक है। इसमें गर्भस्थापक, वात कफहर, विषघ्न, शोथाघ्न और तृषाहर गुण हैं।

  • रस (taste on tongue): कटु, लवण
  • गुण (Pharmacological Action): गुरु, रुक्ष
  • वीर्य (Potency): शीत
  • विपाक (transformed state after digestion): मधुर
  • कर्म: गर्भस्थापक, वात कफहर, विषघ्न, शोथाघ्न और तृषाहर गुण

पुत्रजीवक बीज के लाभ/फ़ायदे Benefits of Patanjali Putrajeevak Beej

  • इसका विशेष प्रभाव प्रजनन अंगों पर होता है। यदि पुरुष इसका सेवन करते हैं तो शुक्राणुओं की गिनती और गुणवत्ता में सुधार होता है।
  • loading...
  • इसके सेवन से रोजोविकर/मासिक धर्म menstrual disorders के विकारों में लाभ होता है।
  • इसके सेवन से शरीर में सूजन दूर होती है।
  • इससे गर्भाशय की कमजोरी दूर होती है ।
  • बार बार गर्भपात होता हो तो इसे अश्वगंधा पाउडर और मिश्री के साथ, लेकर देखना चाहिए।
  • यह इनफर्टिलिटी infertility में लाभप्रद है।
  • यह एक गर्भाशय की टॉनिक uterine tonic है और गर्भाशय को बल देती है।
  • यह प्रजनन प्रणाली के अंगों के स्वास्थ्य में सुधार करता है।
  • यह महिला बांझपन उपचार के लिए लाभप्रद है।

दवा के औषधीय कर्म

  • आक्षेपनाशक: Antispasmodic अनैच्छिक पेशी की ऐंठन से राहत देना
  • एंटीइन्फ्लेमेटरी: Anti-inflammatory सूजन को कम करना
  • एनाल्जेसिक: Analgesic दर्द में राहत
  • गर्भस्थापना: जो गर्भ की स्थापना में मदद करे।
  • गर्भाशय टॉनिक: गर्भाशय को ताकत देना।
  • रक्तस्तंभक: Styptic
  • रसायन: द्रव्य जो शरीर की बीमारियों से रक्षा करे और वृद्धवस्था को दूर रखे।
  • वातहर: द्रव्य जो वातदोष निवारक हो।

पुत्रजीवक बीज के चिकित्सीय उपयोग Uses of Patanjali Putrajeevak Beej

  • अज्ञात में शुक्रपात spermatorrhoea
  • ओलिगोस्पर्मिया oligospermia
  • कब्ज़ Constipation
  • कोल्ड cold
  • पेशाब में जलन Dysuria (painful or difficult urination)
  • प्रजनन अंगों के विकार Diseases of female genital organs
  • बच्चा होने की संभावना बढ़ाने के लिए Improves chances of conception
  • बहुत प्यास लगना Excessive thirst
  • बार बार गर्भपात होना Recurrent miscarriages
  • बुखार fever
  • योनि से आसामान्य स्राव Abnormal discharge from vagina
  • वाजीकरण Aphrodisiac (improves sexual desire)
  • शरीर में जलन Burning sensation
  • शुक्र में समस्या Semen disorders
  • सफ़ेद पानी की समस्या leucorrhoea
  • स्त्री बांझपन Female Infertility
  • स्पर्म समस्या Male infertility related to sperms

सेवन विधि और मात्रा Dosage of Patanjali Putrajeevak Beej

  • पुत्रजीवक बीज को पीस लें कर एयर टाइट कंटेनर में रख लें।
  • 3-6 ग्राम, दिन में दो बार, सुबह और शाम लें।
  • इसे दूध के साथ लें।
  • इसे भोजन करने के पहले लें।
  • या डॉक्टर द्वारा निर्देशित रूप में लें।

पुत्रजीवक बीज के इस्तेमाल में सावधनियाँ Cautions

  • इसके सेवन के दौरान गर्म तासीर का भोजन, बाहर का भोजन, अधिक तेल, खटाई, मिर्च, मसाले, बाहर की चाट आदि का सेवन नहीं करें।
  • उचित खुराक उपयोगकर्ता की उम्र, स्वास्थ्य और कई अन्य स्थितियों जैसे कई कारकों पर निर्भर करती है। उचित खुराक निर्धारित करने के लिए पर्याप्त वैज्ञानिक जानकारी नहीं है।
  • इसका इस्तेमाल 6-7 महीने तक किया जा सकता है।
  • उम्र और ताकत पर विचार करते हुए और किसी वैद्य की विशेषज्ञ सलाह के साथ, दवा का उचित अनुपात में उचित अनुपान के साथ इस्तेमाल किया जाना चाहिए।

पुत्रजीवक बीज के साइड-इफेक्ट्स Side effects

निर्धारित खुराक में लेने से दवा का कोई दुष्प्रभाव नहीं है।

पुत्रजीवक बीज को कब प्रयोग न करें Contraindications

इसके लिए कोई ज्ञात contraindications नहीं है।

भंडारण निर्देश

  • सूखी जगह में स्टोर करें।
  • इसे बच्चों की पहुँच से दूर रखें।

दवा के बारे में पूछे जाने वाले कुछ सवाल

क्या इस दवा को एलोपैथिक दवाओं के साथ ले सकते हैं?

हाँ, ले सकते हैं। लेकिन दवाओं के सेवन में कुछ घंटों का गैप रखें।

क्या पुत्रजीवक बीज को होम्योपैथिक दवा के साथ ले सकते हैं?

हाँ, ले सकते हैं।

पुत्रजीवक बीज को कितनी बार लेना है?

  • इसे दिन में 2 बार लेना चाहिए।
  • इसे दिन के एक ही समय लेने की कोशिश करें।

क्या दवा की अधिकता नुकसान कर सकती है?

दवाओं को सही मात्रा में लिया जाना चाहिए। ज्यादा मात्रा में दवा का सेवन साइड इफेक्ट्स कर सकता है।

क्या पुत्रजीवक बीज सुरक्षित है?

हां, सिफारिश की खुराक में लेने के लिए सुरक्षित है।

पुत्रजीवक बीज का मुख्य संकेत क्या है?

इनफर्टिलिटी।

पुत्रजीवक बीज का वात-पित्त या कफ पर क्या प्रभाव है?

  • वात कम करना ।
  • पित्त कम करना ।
  • कफ वृद्धि करना।

क्या इसमें गैर-हर्बल सामग्री शामिल है?

नहीं।

मैं यह दवा कब तक ले सकता हूँ?

आप इसे 6-7 महीने या जब तक ज़रूरत लगे, के लिए ले सकते हैं।

पुत्रजीवक बीज लेने का सबसे अच्छा समय क्या है?

इसे भोजन खाली पेट सुबह और भोजन से एक घंटे पहले या भोजन के 3 घंटे बाद रात को लेना चाहिए। इसे एक ही समय में दैनिक रूप में लेने की कोशिश करें।

क्या पुत्रजीवक बीज एक आदत बनाने वाली दवा है?

नहीं।

क्या यह दिमाग की अलर्टनेस पर असर डालती है?

नहीं।

क्या पुत्रजीवक बीज लेने के दौरान ड्राइव करने के लिए सुरक्षित है?

हाँ।

क्या मैं इसे पीरियड्स के दौरान ले सकती हूँ?

इसे लिया जा सकता है।

क्या एक मधुमेह व्यक्ति इसे ले सकता है?

हाँ।

यह किस प्रकृति के व्यक्तियों के लिए उपयुक्त नहीं है?

यह तासीर में ठंडा है जिससे यह कफ प्रकृति के लिए अधिक उपयुक्त नहीं है। जिन व्यक्तियों में वायु या पित्त दोष बढ़ा हुआ होता है यह उनके लिए अधिक उपयोगी है।

क्या पुत्रजीवक बीज से एलर्जी होती है?

नहीं।

loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.