कौंच पाक Kaunch Pak Detail and Uses in Hindi

कौंच पाक, एक आयुर्वेदिक टॉनिक है जिसके सेवन से शरीर में शारीरिक, मानसिक और यौन शक्ति की वृद्धि होती है। यह पाक नपुंसकता नाशक, पौष्टिक, वीर्यवर्धक, वाज़िकारक तथा कामशक्तिवर्धक है। यह धातुक्षीणता को दूर करने वाली और शरीर को सबल और पुष्ट करने वाली दवा है।

इसके सेवन से शीघ्रपतन, इरेक्टाइल डिसफंक्शन, वीर्य सम्बंधित परेशानियों, कमजोरी आदि रोगों में लाभ होता है। इस पाक का मुख्य घटक कौंच या केवांच बीज Mucuna pruriens की गिरी है। केवांच की गिरी बहुत ही प्रभावशाली हर्बल दवा है तथा इसे हजारों वर्षों से पुरुष प्रजनन क्षमता में सुधार करने के लिए प्रयोग किया जाता रहा है। यह हाइपोथेलेमस पर काम करता है। इसके सेवन से सीरम टेस्टोस्टेरोन, लुटीनाइज़िंग luteinizing हार्मोन, डोपामाइन, एड्रेनालाईन, आदि में सुधार होता है। यह शुक्राणुओं की संख्या और गतिशीलता में भी उचित सुधार करने वाली नेचुरल दवा है। मानसिक तनाव, नसों की कमजोरी, टेस्टोस्टेरोन के कम लेवल आदि में इसके सेवन से बहुत लाभ होता है।

Kaunch pak

केवांच के साथ-साथ इसमें सफेद मूसली, वंशलोचन, त्रिकटु, चातुर्जात, घी, दूध, शहद आदि जैसे पौष्टिक द्रव्य है। पुरुषों में इसके सेवन से स्पर्म काउंट को बढ़ते है। यह वीर्य को की मात्रा और गुणवत्ता में सुधार करता है। कौंच के प्रमुखता होने से यह औषधि कामोद्दीपक, स्पेर्मेटोजेनिक, शक्तिवर्धक, अवसाद दूर करने के और फर्टिलिटी बढ़ाने के गुणों से युक्त है। चतुर्जात और त्रिकटु, के होने से यह भूख, पाचन और अवशोषण में सुधार करता है।

यह दवा आयुर्वेद की वाजीकरण शाखा के अंतर्गत आती है और पौरूष शक्ति तथा प्रजनन क्षमता में सुधार लाने और स्वस्थ संतान होने में सहायक है।

Kaunch Pak is an Ayurvedic medicine used for treatment of sexual weakness and infertility in men. It is a tonic and boosts fertility in both male and female on oral intake.

loading...

Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

  • उपलब्धता: यह ऑनलाइन और दुकानों में उपलब्ध है।
  • दवाई का प्रकार: हर्बल आयुर्वेदिक
  • मुख्य उपयोग: यौन दुर्बलता, फर्टिलिटी को बढ़ाना
  • मुख्य गुण: टॉनिक, शक्ति और ओजवर्धक
  • कौंच पाक के घटक Ingredients of Kaunch Pak

केवांच, गो दुग्ध , गो घृत , वंशलोचन, सफ़ेद मूसली , सफ़ेद जीरा , लवंग , जीवन्ति , जतिफल , करंज गिरी , प्रियंगु , गजपिप्पली , बिल्व , अजोवन , अकरकरा , समुद्र शोष and त्रिकटु (पिप्पली , काली मिर्च , शुंठी) and चतुर्जात (तेजपत्र , दालचीनी , इलाइची , नागकेसर)

कौंच पाक के लाभ/फ़ायदे Benefits of Kaunch Pak

  1. यह कामोद्दीपक है।
  2. यह बल और ताकत को बढ़ाता है
  3. यह शीघ्रपतन, स्वप्नदोष, धातु-विकार आदि में लाभप्रद है।
  4. इसके सेवन से धातु (शुक्र) का पतलापन दूर होता है तथा वीर्य गाढ़ा होता है।
  5. यह शरीर को बलिष्ठ करता है।

कौंच पाक के चिकित्सीय उपयोग Uses of Kaunch Pak

  1. शुक्र को गाढ़ा करने के लिए watery semen
  2. शुक्र कीटों की संख्या और गुणवत्ता के सुधार के लिए
  3. शीघ्रपतन premature ejaculation
  4. स्वपन दोष nocturnal emission / nightfall
  5. धात गिरना spermatorrhoea
  6. नसों की दुर्बलता weakness of nerves
  7. सेक्स करने की क्षमता में कमी, मेल सेक्सुअल वीकनेस
  8. स्तम्भन दोष / इरेक्टाइल डिसफंक्शन ED
  9. शरीर में बल, ओज की कमी low energy level

सेवन विधि और मात्रा Dosage of Kaunch Pak

  • 1-2 टीस्पून, दिन में दो बार, सुबह और शाम लें।
  • इसे दूध के साथ लें।
  • इसे भोजन करने के बाद लें।
  • या डॉक्टर द्वारा निर्देशित रूप में लें।
  • इसके सेवन के समय दूध, घी, मक्खन, केला, खजूर आदि वीर्यवर्धक आहारों का सेवन अवश्य करें।
  • जंक फ़ूड न खाएं।
  • तले, भुने, खट्टे, मसालेदार भोजन न खाएं।
  • खूब पानी पियें।
  • एक्सरसाइज करें।

उपलब्धता

इस दवा को ऑनलाइन या आयुर्वेदिक स्टोर से ख़रीदा जा सकता है।

  1. व्यास कौंच पाक
  2. साधना कौंच पाक
  3. ररसाश्रम कौंचापाक
  4. दीनदयाल कौंच पाक
  5. कामधेनु कौंच पाक
  6. लायन ब्रांड कौंचापाक
loading...

19 thoughts on “कौंच पाक Kaunch Pak Detail and Uses in Hindi

  1. Mam Sugar Problem koe Bilkul Khatam kernel key Liye Kon si Aurvedic Medicine Best Hai without Any side effects.
    Awaiting your reply

  2. इसका सेवन कब तक करते है और इसके कोई विपरीत असर तो नही होता

  3. erectile dysfunction k liye b acha h kya….?
    or hard erection or premature ejuculation liye b kaisa h ?
    plese sortout my problem…….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*