आईएमई 9 के फायदे, नुकसान, उपयोग विधि और प्राइस

IME-9 is an herbal Ayurvedic medicine marketed by Kudos Laboratories India, GMP and ISO 9001:2008 Company, Shimla and researched by Central Council for Research in Ayurvedic Sciences (C.C.R.A.S.).b It is approved by AYUSH.

आईएमई 9, एक आयुर्वेदिक दवा है जो की सेंट्रल कौंसिल फॉर रिसर्च इन आयुर्वेदिक साइंसेज (CCRAS) द्वारा बनाई गयी है। यह डिपार्टमेंट ऑफ़ आयुर्वेद, योग और नेचुरोपैथी, यूनानी, सिद्ध और होमियोपैथी यानिकी आयुष द्वरा एप्रूव्ड है।

यह दवा डायबिटीज में शुगर लेवल को कण्ट्रोल करती है। यह बहुत अधिक प्यास लगना, भूख लगना, अधिक पेशाब आना आदि लक्षणों में लाभ करती है। यह एंटीऑक्सीडेंट है और सेल्स को फ्री सेल डैमेज से बचाती है। इस औषध के सभी घटक हर्बल होने से यह लम्बे समय तक लेने के लिए सुरक्षित है।

Loading...

इस पेज पर जो जानकारी दी गई है उसका उद्देश्य इस दवा के बारे में बताना है। कृपया इसका प्रयोग स्वयं उपचार करने के लिए न करें।

IME-9 is an herbal Ayurvedic medicine marketed by Kudos Laboratories India, GMP and ISO 9001:2008 Company, Shimla and researched by Central Council for Research in Ayurvedic Sciences (C.C.R.A.S.).b It is approved by AYUSH.

Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

Loading...
  • रिसर्च: Central Council for Research in Ayurvedic Sciences (C.C.R.A.S.)
  • निर्माता / मार्केटिंग: Kudos Laboratories India, GMP and ISO 9001:2008 Company, शिमला
  • उपलब्धता: यह ऑनलाइन और दुकानों में उपलब्ध है।
  • दवाई का प्रकार: आयुर्वेदिक
  • मुख्य उपयोग: डायबिटीज
  • मुख्य गुण: ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करना
  • दवा का अनुपान: गुनगुना जल
  • दवा को लेने का उचित समय: सुबह खाली पेट और शाम को भोजन से आधा – एक घंटे पहले

IME-9 के घटक | Ingredients of Kudos Ayurveda IME-9 in Hindi

  • करेला Karela (Momordica charantia Linn) 625mg
  • गुडमार Gudmar (Gymnema sylvestre) 625mg
  • जामुन Jamun (Syzygium cumini (Linn.) Skeels) 625mg
  • आम की गुठली Amra (Mangifera indica Linn) 625mg
  • शुद्ध शिलाजीत Shuddha Shilajit (Asphaltum) 0.1665g
  • सोडियम मिथाइल पेराबेन Sodium methyl paraben
  • सोडियम प्रोपाइल पेराबेन Sodium propyl paraben
  • Excipients Q.S.

जानिए घटक द्रव्यों को

1- Karela Momordica charantia

करेला बहुत ही जाना माना मधुमेह नाशक है। करेले के पौधे का फल है जिसे हम सब्जी की तरह खाते हैं और पत्ते सभी औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं। यह स्वाद में अत्यंत कड़वा लेकिन गुणों में अत्यंत हितकारी है। करेले में पाए जाने वाले पदार्थ हाइपोग्लाईसिमिक और रक्त में शुगर लेवल को कम करने वाले होते हैं।

करेला आसानी से पचने वाला और रूक्ष है।

करेला रस में कटु, तिक्त है। गुण में लघु और रूक्ष है। तासीर में यह गर्म और कटु विपाक है। कर्म में यह भेदी, दीपन, हृदय, कफाहर, वातदोषहर और रक्तदोषहर है।

करेले को ज्यादा मात्रा में खाने से कई नुकसान भी हैं। जैसे की यह पेट में दर्द Enteralgia और लूज़ मोशन कर सकता है। यह हाइपोग्लाईसिमिक दवाओं के असर को और बढ़ा देता है।

2- गुड़मार को मधुनाशनी के नाम से जाना जाता है गुड़मार का शाब्दिक अर्थ है वह जो चीनी को नष्ट करे। गुड़मार के पत्ते मुख्य रूप से औषधीय प्रयोजन के लिए उपयोग किये जाते है।

3- जामुन गुठली, मधुमेह में अत्यंत प्रभावशाली है। यह सूजन दूर करने वाली और हाइपोग्लाईसिमिक दवा है। इसमें टैनिन होने से यह संकोचक है। यह मूत्रल है और मूत्र के स्राव को बढ़ाता है।

जामुन वातल, पित्तहर, कफहर, विषतम्भी और ग्राही है।

4- शिलाजीत

शिलाजीत, हिमालय की चट्टानों से निकलने वाला पदार्थ है। आयुर्वेद में औषधीय प्रयोजन के लिए शिलाजीत को शुद्ध करके प्रयोग किया जाता है। यह एक adaptogen है और एक प्रमुख आयुर्वेदिक कायाकल्प टॉनिक है। यह पाचन और आत्मसात में सुधार करता है। आयुर्वेद में, इसे हर रोग के इलाज में सक्षम माना जाता है। इसमें अत्यधिक सघन खनिज और अमीनो एसिड है।

शिलाजीत प्रजनन अंगों पर काम करता है। यह रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करता है और प्रतिरक्षा में सुधार करता है। यह पुरानी बीमारियों, शरीर में दर्द और मधुमेह में राहत देता है। इसके सेवन शारीरिक, मानसिक और यौन शक्ति देता है। शिलाजीत को हजारों साल से लगभग हर बीमारी के उपचार में प्रयोग किया जाता रहा है। आयुर्वेद में यह कहा गया है की कोई भी ऐसा साध्य रोग नहीं है जो की शिलाजतु के प्रयोग से नियंत्रित या ठीक नहीं किया जा सकता। शिलाजीत प्रमेह रोगों की उत्तम दवा है।

IME-9 के फायदे | Benefits of Kudos Ayurveda IME-9 in Hindi

  1. यह हर्बल आयुर्वेदिक दवाई है।
  2. यह एंटीऑक्सीडेंट है।
  3. यह ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करती है।
  4. यह इन्सुलिन के प्रति रेसिस्टेंट को कम करती है।
  5. यह इन्सुलिन के स्राव को बढ़ाती है।
  6. यह आँतों से ग्लूकोस के अवशोषण को देर से होने देती है।

IME-9 के चिकित्सीय उपयोग | Uses of Kudos Ayurveda IME-9 in Hindi

यह दवा मधुमेह या डायबिटीज में शर्करा के बढ़े हुए स्तर को कम करने और डायबिटीज सम्बंधित जटिलताओं को कम करने में सहायक है।

IME-9 की सेवन विधि और मात्रा | Dosage of Kudos Ayurveda IME-9 in Hindi

  1. इस दवा की २ गोली, दिन में तीन बार लिया जाना चाहिए।
  2. इसे भोजन के आधा घंटे पहले लेना चाहिए।
  3. इसे पानी के साथ लें।

सावधनियाँ/ साइड-इफेक्ट्स/ कब प्रयोग न करें Cautions/Side effects/Contraindications इन हिंदी

  1. इस दवा के सेवन के दौरान ब्लड शुगर लेवल की बराबर जांच करते रहें।
  2. इसे आप एलोपैथी की दवा के सेवन के दौरान भी ले सकते हैं।
  3. जब शर्करा स्तर नियंत्रित हो जाए अलोपथिक दवा की मात्रा कम कर दें। दवा का काम ब्लड शुगर को कम करना है, इसलिए इसका सेवन केवल निर्धारित मात्रा में ही करें।
  4. गर्भावस्था में किसी भी दवा का सेवन बिना डॉक्टर की सलाह के न करें।
  5. इसे बच्चों की पहुँच से दूर रखें।
  6. इसे ज्यादा मात्रा में न लें।
  7. निर्धारित मात्रा में लेने से इसका कोई साइड-इफेक्ट नहीं है।

इस दवा के मिक्स्ड रिव्यु हैं। कुछ लोगों में लाभप्रद है और कुछ में नहीं। इसलिए दवा के सेवन के दौरान कृपया नियमित ब्लड शुगर की जांच करें। यदि यह आपको सूट करे तो निश्चित ही इसे लें। लेकिन यदि इसके सेवन से आपको किसी भी प्रकार की दिक्कत हो, ब्लड शुगर घटने के बजाये बढ़ जाए तो इसे न लें।

  1. डायबिटीज में दवा के सेवन के साथ जीवनशैली / लाइफस्टाइल में ज़रूरी परिवर्तन लायें।
  2. ताज़े फल खाएं, नॉन-स्टार्ची भोजन करें। भोजन बहुत ज्यादा न करें।
  3. रोजाना सैर पर जाएँ। व्यायाम करें। खुश रहें।
Loading...

12 thoughts on “आईएमई 9 के फायदे, नुकसान, उपयोग विधि और प्राइस

  1. मेरी मम्मी 70 साल की है उन्हें शुगर कंट्रोल में है और वह रोज शुगर की दवाइयां ले रही है परंतु अब उनकी टांगों में बहुत दर्द होता है तो क्या उन्हें यह गोली लेनी चाहिए

  2. Hi am RAJ
    My father is a dIebete pecent last 12 yr and my father age on 52yrs old but problem is a my father fasting diabetes Result 250+ and up and down
    My father both leg are not working and one side eye not see clearly beacuse sugar level plus to plus and leg not working and most important information mam yours my father insulin injection fasting 24 night 36 and tablet trajenta one time early morning but not control sugar level plz good solution of my father sugar level down treatment….

    • ji apane father ki elopathic dawa aur insuline hi doctor ke prescription ke anusaar chalaiye. Koi bhi ayurvedic dawa unaki condition ko theek nahin kar paayegi.

  3. मुझे 17 सालसे डायबिटीज है और शुगर लेवल 130-240तक रहती हैं मै आएमई 9 टैबलेट ले सकता हूं क्या? कैसे लेना चाहिए डाेस बताये.

  4. Mere pati 1 year diabetes hua hai unka sugar level 100 se 120 ke under reheta tha now 2 months se 200 fasting reheta hai ime 9 kaise use karo please give me advice

    • इस दवा के बारे में विस्तार से पोस्ट में बताया गया है. कृपया इसे ध्यान से पढ़ लें. यह दवा आप लेकर देख सकते हैं. यहाँ पर यह जानना ज़रूरी है की सभी दवाएं सभी को सूट नहीं करती. कुछ लोगों का कहना है, हर्बल दवा लेने के बाद उनका शुगर लेवल कुछ बढ़ गया. इसलिए लेकर देखें यदि लाभ हो तो इसे लेना जारी रखें. इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं होगा.
      जानने की कोशिश करें, शुगर कण्ट्रोल बढ़ क्यों गई. क्या कोई नै दवा लेनी शिउरू की है, खाने-पीने में परिवर्तन किया है, या कोई अन्य कारण है.
      होम रेमेडी की तरह रात में २ चम्मच एप्पल सीडर विनेगर को पानी में मिलाकर पियें.

  5. Agar kisi ko diabetes level 254. Ke something h or usko ankho s dhundla dikhne lage to kon s daba use kare jisse dikhai v dene lage or daibetes v control m rahe kiya Ime 9 se rogi thik ho jata h ya fr koi herbal ilaaz achha rahega

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.