हर्बोलेक्स कब्ज की दवा Herbolax Detail and Uses in Hindi

जानिये हिंदी में हिमालय हर्बोलेक्स(herbolax) पेट साफ करने की आयुर्वेदिक दवाई है, जो की जड़ी बूटियों से बनी है, कब्ज का कोई रामबाण इलाज नहीं होता है इसे बस मैनेज किया जा सकता है।

हर्बोलैक्स कैप्सूल (Herbolax Capsule), हिमालया ड्रग कंपनी की एक प्रोप्राइटरी दवा हैं जो की कब्ज़ (नए acute या पुरानी chronic) में लाभप्रद हैं। यह दवा हर्बल औषधीय वनस्पतियों का एक संयोजन है जिनमें विरचन laxative के गुण हैं। इस दवा को बताई गई मात्रा में लेने से कोई नुकसान ज्ञात नहीं है। इसे लेने की मात्रा एक से लेकर 3 गोली तक है जो व्यक्ति की कंडीशन पर निर्भर है।

Loading...

इस दवा में कृमिनाशक, विरेचन और पाचन को ठीक करने के गुण हैं। यह दवा आपकी स्थिति में लाभ कर भी सकती है और नहीं भी। यह दवा गर्भावस्था में नहीं ली जानी चाहिए। इस पेज पर जो जानकारी दी गई है उसका उद्देश्य इस दवा के बारे में बताना है। कृपया इसका प्रयोग स्वयं उपचार करने के लिए न करें।

Herbolax Capsule is an herbal laxative from Himalaya. It is useful in constipation. It is combination of Nishoth, Kasni, Kasmard, Kakamachi, Licorice, Dry ginger and Vidang. You may take it in dose of 1-3 tablets after dinner with lukewarm water.

Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

कब्ज की जानकारी

कब्ज को विबंध और कोंसटिपेशन के नाम से जाना जाता है। कब्ज़ होने पर मल बहुत कठोर हो जाता है और कई-कई दिन तक नहीं होता। ऐसे में शौच के समय बहुत जोर लगाना पड़ता है जिससे गुदा छिल जाती है और खून तक बहने लगता है। कब्ज़ के कारण पेट में भारीपन, गैस, दबाव तथा भूख न लगना समेत अनेक समस्याएं हो जाती हैं।

कब्ज़ यदि लम्बे समय तक रहे तो बवासीर, फिस्टुला हो जाते है। भूख नहीं लगती और बहुत गैस बनती है। पाचन की विकृति से व्यक्ति कमजोर हो जाता है।

loading...

इस कंडीशन को भोजन, व्यायाम, पानी के अधिक सेवन और ज़रूरत हो तो दवा के सेवन से दूर किया जा सकता है।

  1. निर्माता: हिमालया
  2. उपलब्धता: यह ऑनलाइन और दुकानों में उपलब्ध है।
  3. दवाई का प्रकार: आयुर्वेदिक दवाई, कैप्सूल और टैबलेट के रूप में उपलब्ध।
  4. मुख्य उपयोग: कब्ज़
  5. मुख्य गुण: विरचन
  6. मूल्य MRP: Himalaya Herbolax 100 tablets @ MRP Rs 100.00

हर्बोलेक्स के घटक Ingredients of Herbolax

प्रत्येक कैप्सूल में

Ext | Extracts:

  1. निशोथ Trivrit Operculina turpethum 70 mg
  2. हरीतकी Haritaki Terminalia Chebula 50 mg
  3. कासनी Kasani Cichorium Intybus 50 mg
  4. कासमर्द Kasmard Cassia Occidentalis 50 mg
  5. मकोई Kakamachi Solanum Nigrum 40 mg
  6. मकोई Liquorice Glycyrrhiza Glabra 40 mg

Pdr | Powders:

  1. सोंठ Shunthi Zingiber officinale 45 mg
  2. विडंग Vaividang Embelia Ribes 10 mg

जाने हर्बोलेक्स दवा में प्रयुक्त जड़ी-बूटियों को

त्रिवृत / निशोथ Operculina Turpethum, भी एक विरेचक / दस्तावर है। यह तासीर में गर्म है और कटु विपाक है। दस्तावर होने के साथ ही है क्फ्हर, ज्वरहर, और भेदनीय अर्थात शरीर में जमे मल और कफ को निकालने वाला है।

वायविडंग Embelia Ribes कृमि रोग, मेदवृद्धि तथा कफ रोगों में विशेष रूप से उपयोगी है। यह अनुलोमन, एंटीबैक्टीरियल, कृमिनाशक, और एंटीबायोटिक है। यह आयुर्वेद में पेट के कीड़ों के लिए प्रयोग की जाने वाली प्रमुख वनस्पति है। यह पेट के सभी रोगों, कब्ज़, अफारा, अपच, पाइल्स आदि में उपयोगी है।

हरीतकी Terminalia chebula आयुर्वेद की रसायन औषधि है। यह पेट रोगों में प्रयोग की जाने वाली सबसे प्रभावी औषध है। इसमें लवण रस, को छोड़ बाकि सभी रस / स्वाद है। यह गुण में लघु, रूक्ष, और स्वभाव से गर्म है। यह एक कटु विपाक औषध है और शरीर के सभी धातुओं पर काम करती  है। यह सूजन को दूर करती  है। यह मूत्रल और दस्तावर है। यह अफारे को दूर करती  है और पेट के कीड़ों को भी नष्ट करती  है।

अदरक का सूखा रूप सोंठ या शुंठी कहलाता है। सोंठ को भोजन में मसले की तरह और दवा, दोनों की ही तरह प्रयोग किया जाता है। सोंठ का प्रयोग आयुर्वेद में प्राचीन समय से पाचन और सांस के रोगों में किया जाता रहा है। इसमें एंटी-एलर्जी, वमनरोधी, सूजन दूर करने के, एंटीऑक्सिडेंट, एन्टीप्लेटलेट, ज्वरनाशक, एंटीसेप्टिक, कासरोधक, हृदय, पाचन, और ब्लड शुगर को कम करने गुण हैं।

हर्बोलेक्स के मुख्य गुणधर्म और उपयोग Qualities and therapeutic uses

  1. विरेचन: द्रव्य जो पक्व अथवा अपक्व मल को पतला बनाकर अधोमार्ग से बाहर निकाल दे।
  2. कफहर: द्रव्य जो कफदोष निवारक हो।
  3. वातहर: द्रव्य जो वातदोष निवारक हो।
  4. अनुलोमन:  द्रव्य जो मल व् दोषों को पाक करके, मल के बंधाव को ढीला कर दोष मल बाहर निकाल दे।
  5. कृमिघ्न: पेट के कीड़ों को नष्ट करना।

हर्बोलेक्स के लाभ / फ़ायदे Benefits of Herbolax

  1. हर्बोलैक्स के प्राकृतिक तत्व मल को नरम करते हैं और आंत्र गतिशीलता को बढ़ाते हैं, जो तीव्र और पुरानी कब्ज प्रभावी रूप से राहत देते हैं।
  2. यह दवा शरीर में द्रव-इलेक्ट्रोलाइटके संतुलन (खनिज और पानी संतुलन) को नहीं बिगाड़ती।
  3. यह दवा हैबिट फोर्मिंग लेक्सेटिव नहीं है।

हर्बोलेक्स के चिकित्सीय उपयोग Uses of Herbolax

  1. नई कब्ज़
  2. पुरानी  कब्ज
  3. पोस्टऑपरेटिव और गैर-फेरबदल की अवधि के दौरान कब्ज
  4. पूर्व-रेडियोग्राफिक आंत्र की तैयारी

सेवन विधि और मात्रा Dosage of Herbolax

  1. 1-3 गोली, दिन में 1 बार, रात को लें।
  2. इसे गर्म पानी के साथ लें।
  3. इसे भोजन करने के बाद में लें।
  4. या डॉक्टर द्वारा निर्देशित रूप में लें।
  5. दवा की सटीक मात्रा बहुत से फैक्टर्स पर निर्भर करती है।

सावधनियाँ/ साइड-इफेक्ट्स/ कब प्रयोग न करें Cautions/Side effects/Contraindications

  1. हर्बोलैक्स को निर्धारित खुराक में लेने से कोई दुष्प्रभाव नहीं है।
  2. दवा की सटीक मात्रा व्यक्ति के पाचन, उम्र, वज़न और स्वास्थ्य को देख कर ही तय की जा सकती है।
  3. दवा के साथ-साथ भोजन और व्यायाम पर भी ध्यान दें।
  4. पानी ज्यादा मात्रा में पियें।
  5. पीने के लिए हल्का गर्म पानी लें।
  6. खाने में सलाद ज़रूर लें।
  7. जंक फ़ूड, केक, बिस्किट, कोल्ड ड्रिंक, मैदे से बने भोज्य पदार्थ न खाएं।
  8. यह दवा बारह साल से छोटे बच्चों को न दें।
  9. गर्भावस्था में इसका प्रयोग न करें।
  10. इस दवा में विरेचक गुण हैं।
  11. अच्छे प्रभाव के लिए दवा के साथ-साथ जीवन शैली में भी परिवर्तन करें।
  12. यह एक दवा है, इससे तुरंत जादुई असर नहीं होगा। दवा के साथ साथ खाने-पीने पर नियंत्रण और व्यायाम आवश्यक है।
  13. कब्ज़ के कारण को जानने का प्रयत्न करें। कई बार शरीर में किसी प्रकार का रोग जैसे की डायबिटीज, के कारण भी कब्ज़ हो जाता है।
loading...

3 thoughts on “हर्बोलेक्स कब्ज की दवा Herbolax Detail and Uses in Hindi

  1. नमस्कार डा0साहब,
    मेरी उम्र 29 साल हैं. फरवरी 2017 में शादी हुई. प्रारंभ में कुछ दिन कंडोम लगाकर सेक्स किया, उसके बाद से लगातार हम बिना कंडोम के सेक्स कर रहे हैं परन्तु अभी तक मेरी पत्नी गर्भवती नहीं हुई. क्या मेरे अंदर कोई शारीरिक दोष हैं? क्या ऐसे में हिमालया कांफिडो का सेवन करना फायदेमंद होगा. जबकि मेरा लिंग वक्र हैं, क्या इसके पीछे यह भी कारण हो सकता हैं? कि मेरी पत्नी गर्भवती नहीं हो रही है?

  2. मुझे काफी समय से मस्से वाले स्थान पर सुजन थी तब दर्द नहीं होता था .पर अब सुजन तो कम हुई है. लेकिन दो दिन से 1-2 बुन्द खुन कि आती है आता है और जलन होती है !तथा पुरे दिन चबके चलते है .व संडास जाने मे काफी दिकत होती है .तो क्या मे “अर्श कल्प ” ले सकता हुं क्या.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*