रिंग कटर (जगसनपाल) Ring Cutter Detail and Uses in Hindi

रिंग कटर जगसनपाल फार्मास्यूटिकल द्वारा निर्मित एक एलोपैथिक दवाई है जो की फंगल इन्फेक्शन, रिंग वर्म जिसे हिंदी में दाद भी कहते हैं,  पर लगाई जाती है।

दाद वैसे तो कोई गंभीर बिमारी नहीं है, लेकिन इसका उपचार करना अत्यंत आवश्यक है जिससे यह शरीर के दूसरे हिस्सों और दूसरे लोगों तक न फैले। दाद होने का मुख्य लक्षण हैं, चमड़ी का लाल-दानेदार हो जाना उस पर खुजली होना और जलन होना। दाद पर खुजला कर अगर शरीर के स्वस्थ्य हिस्से को छू दिया जाए तो यह संक्रमण वहाँ भी फ़ैल जाता है।

फंगल इन्फेक्शन शरीर के उन हिस्सों में ज्यादा होता है जो की गर्म, नम और कपड़ों से रगड़ते रहते हैं, जैसे की अंडरगारमेंट्स के पास। अंडरगारमेंट जो की टाइट होते हैं, वे लगातार चमड़ी से रगड़ते रहते हैं और नमी होने से इस हिस्से में कवक संक्रमण होने का रिस्क बढ़ जाता है। कमर, भीतरी जांघें, या नितंबों के पास होने वाले फंगल इन्फेक्शन को मेडिकली टिनिया क्रूरिस और आम भाषा में जॉक इच कहते हैं।

पैरों की उँगलियों के बीच की त्वचा पर होने वाला कवक संक्रमण एथलीट फुट कहलाता है और इसमें उँगलियों के बीच लाली, सूजन, छिलना, और खुजली हो जाती है।

इस पेज पर जो जानकारी दी गई है उसका उद्देश्य इस दवा के बारे में बताना है. कृपया इसका प्रयोग स्वयं उपचार करने के लिए न करें।

Ring Cutter from Jagsonpal Pharmaceutical is an antifungal topical cream applied to fungal infections, such as Athlete’s foot, Jock itch etc. The main ingredient of this medicine is Salicylic Acid IP 10% w/w.

loading...

Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

  • उपलब्धता: यह ऑनलाइन और दुकानों में उपलब्ध है।
  • दवाई का प्रकार: एलोपैथिक क्रीम, बाह्य प्रयोग के लिए
  • मुख्य उपयोग: फंगल इन्फेक्शन
  • मुख्य गुण: एंटीफंगल

रिंग कटर (जगसनपाल) के घटक Ingredients of Ring Cutter

NEW RINGCUTER (OINTMENT)

It contains:

  1. सेलीसायलिक एसिड Salicylic Acid IP 10% w/w
  2. बेन्जोइक एसिड Benzoic Acid IP 7.4% w/w
  3. ऐरचिस आयल Arachis Oil IP 10% w/w
  4. बी वैक्स White Bees wax IP 0.35% w/w
  5. पैराफिन White soft paraffin base IP q.s. to 100% w/w

रिंग कटर (जगसनपाल) के लाभ/फ़ायदे Benefits of Ring Cutter

  1. यह एंटीफंगल क्रीम है।
  2. इसे बाहरी रूप से लगाने पर फंगस की समस्या दूर होती है।
  3. ज्यादातर लोगों के लिए इसे प्रयोग करना सुरक्षित है।

रिंग कटर (जगसनपाल) के चिकित्सीय उपयोग Uses of Ring Cutter

  1. एथलीट फुट
  2. जॉक इच
  3. कमर, गर्दन, पर दाद
  4. हाथ-पैर पर दाद
  5. अन्य फंगल इन्फेक्शन

रिंग कटर (जगसनपाल) को कैसे लगाएं?

  1. प्रभावित हिस्से को अच्छे से धो कर सुखा लें।
  2. हाथों को धो लें और पर्याप्त मात्रा में क्रीम को लेकर हल्की मालिश करते हुए लगायें।
  3. दिन में २-3 बार लगाएं और ऐसा लगातार एक से दो सप्ताह जारी रखें।
  4. लगाने के बाद, हाथों को साबुन से धो लें।

सावधनियाँ Cautions

  1. इसे बच्चों की पहुँच से दूर रखें।
  2. यह केवल बाहरी रूप से त्वचा पर लगाने के लिए है।
  3. लगाने से पहले और लगाने के बाद हाथों को अच्छे से साफ़ करें।
  4. इसमें अल्कोहल है जो की कुछ लोगों में लोकल स्किन रिएक्शन कर सकता है। इसे लगाने पर स्किन पीलिंग / स्किन का छिलना बढ़ सकता है।
  5. यदि त्वचा कटी है या सूजी है तो इसका प्रयोग न करें।
  6. एक साथ एक जैसी कई क्रीम न लगाएं।

साइड-इफेक्ट्स Side effects

  1. इसको लगाने से त्वचा ड्राई हो सकती है।
  2. इसको लगाने से स्किन पीलिंग हो सकती है।
  3. लम्बे समय बहुत अधिक हिस्से पर प्रयोग करने से कुछ लोगों में सेलसिलिक एसिड की पोइज़िनिंग हो सकती है, जिसके लक्षण हैं, जी मिचलाना, उलटी आना, कान में आवाजें आना आदि।

कब प्रयोग न करें Contraindications

  1. इसे छोटे बच्चों और बारह साल से छोटे बच्चों पर न लगाएं।
  2. इसे गर्भावस्था और दूध पिलाने के दौरान न प्रयोग करें।
  3. जिन्हें सेलसिलिक एसिड या दवा में प्रयुक्त किसी भी घटक से एलर्जी हो वे इसका प्रयोग न करें।
  4. डायबिटीज में इसका प्रयोग करते समय सावधानी रखें।
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*