पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल के फायदे, नुकसान, उपयोग विधि और प्राइस

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल का सेवन कैसे करे, Patanjali shilajit benefits hindi me, पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल साइड इफेक्ट्स patanjali shilajit capsule side effect, patanjali shilajit dosage, पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल price।

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल (दिव्य शिलाजीत कैप्सूल), एक आयुर्वेदिक कैप्सूल है जिसमें शुद्ध शिलाजीत का एक्सट्रेक्ट और आमलकी रसायन है। दोनों ही द्रव्य रसायन tonic है तथा कई विकारों के उपचार और रोकथाम में लाभप्रद है।

शिलाजीत, हिमालय की चट्टानों से निकलने वाला पदार्थ है। आयुर्वेद में औषधीय प्रयोजन के लिए शिलाजीत को शुद्ध करके प्रयोग किया जाता है। यह एक adaptogen है और एक प्रमुख आयुर्वेदिक कायाकल्प टॉनिक है। यह पाचन और आत्मसात में सुधार करता है। आयुर्वेद में, इसे हर रोग के इलाज में सक्षम माना जाता है। इसमें अत्यधिक सघन खनिज और अमीनो एसिड है।

शिलाजीत प्रजनन अंगों पर काम करता है। यह रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करता है और प्रतिरक्षा में सुधार करता है। यह पुरानी बीमारियों, शरीर में दर्द और मधुमेह में राहत देता है। इसके सेवन शारीरिक, मानसिक और यौन शक्ति देता है। शिलाजीत को हजारों साल से लगभग हर बीमारी के उपचार में प्रयोग किया जाता रहा है। आयुर्वेद में यह कहा गया है की कोई भी ऐसा साध्य रोग नहीं है जो की शिलाजतु के प्रयोग से नियंत्रित या ठीक नहीं किया जा सकता। शिलाजीत प्रमेह रोगों की उत्तम दवा है।

रसायन गुणों के कारण शिलाजीत कैप्सूल शरीर के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को सही करने वाली  दवा है। इसके सेवन से प्रतिरक्षा प्रणाली पर उत्तेजक प्रभाव पड़ता है, रोगों से बचाव होता है व शरीर के अंगों के सही काम करने में सहयोग होता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट, एंटीएजिंग, एंटीडायबिटिक, प्रमेहनाशक, वाजीकारक, एंटीअल्सर, जोशवर्धक, बलवर्धक गुणों के साथ ही अन्य बहुत से गुण हैं।

शिलाजीत कैप्सूल पुरुषों के लिए विशेष लाभप्रद है क्योंकि इसके सेवन से शरीर में टेस्टोस्टेरोन का लेवल बढ़ता है।

Loading...

टेस्टोस्टेरोन पुरुषों के वृषण और एड्रेनल ग्लैंड से स्रावित होने वाला एंड्रोजन समूह का एक स्टीरॉएड हार्मोन है। यह प्रमुख पुरुष हॉर्मोन है जो की एनाबोलिक स्टीरॉएड है। टेस्टोस्टेरॉन पुरुषों में उनके प्रजनन अंगों के सही से काम करने और पुरुष लक्षणों जैसे की मूंछ-दाढ़ी, आवाज़ का भारीपन, ताकत आदि के लिए जिम्मेदार है। यह पुरुष के शरीर में बालों का डिस्ट्रीब्यूशन, बोन मॉस, मसल्स मास, फैट का डिस्ट्रीब्यूशन, आवाज़, समेत सेक्स ड्राइव, और स्पर्म के बनने का भी कारण है।

यदि टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम हो जाता है तो यौन प्रदर्शन पर सीधे असर पड़ता है, जैसे की इंद्री में शिथिलता, कामेच्छा की कमी, चिडचिडापन, सेक्स में अरुचि, नपुंसकता, प्रजनन क्षमता की कमी आदि।

Loading...

क्योंकि शिलाजीत कैप्सूल का सेवन टेस्टोस्टेरोन को बढ़ाता है और इसलिए यह यौन प्रदर्शन को सुधारने में भी लाभप्रद है।

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल को दिन में दो बार, एक कैप्सूल या दो कैप्सूल की मात्रा में लिया जाता है। इसे दूध के साथ निगल कर लेते हैं। बताई गई डोज़ से ज्यादा मात्रा में इसे नहीं लेना चाहिए क्योंकि तब यह नुकसानदायक हो सकता है। एक शोध में देखा गया की शिलाजीत का कम मात्रा में सेवन करने से हृदय के कार्य = पर कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ा लेकिन ज्यादा मात्रा में सेवन ने हृदय की गति / धड़कन को बढ़ा दिया। इसके अतिरिक्त शिलाजीत में मिनरल्स काफी मात्रा में पाए जाते हैं। इसलिए इसे बताई मात्रा से ज्यादा में न लें।

इस पेज पर जो जानकारी दी गई है उसका उद्देश्य इस दवा के बारे में बताना है। कृपया इसका प्रयोग स्वयं उपचार करने के लिए न करें।

Patanjali Shilajit Capsule or Divya Shilajit Capsule is manufactured by Patanjali Pharmacy. Shilajit Capsules from Patanjali is the combination of Shilajit 390 mg with Amalki Rasayan. This medicine can be used as health tonic to improve overall health. It is especially beneficial for males for promoting better sexual health. Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

  • निर्माता: पतंजलि दिव्य फार्मेसी
  • उपलब्धता: यह ऑनलाइन और दुकानों में उपलब्ध है।
  • दवाई का प्रकार: जड़ी-बूटी खनिज युक्त आयुर्वेदिक दवा
  • मुख्य उपयोग: पुरुषों के लिए टॉनिक
  • मुख्य गुण: एंटीऑक्सीडेंट, रसायन, टॉनिक
  • दवा का अनुपान: दूध
  • दवा को लेने की अवधि: कुछ महीने
  • मूल्य: Patanjali Shilajit Capsule 20 Capsules @ Rs. 85

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल के घटक | Ingredients of Patanjali Shilajit Capsule in Hindi

  1. शुद्ध शीलजीत का सूखा एक्सट्रेक्ट 390 मिलीग्राम
  2. आमलकी रसायन 50 मिलीग्राम

शिलाजीत क्या है?

शिलाजीत पहाड़ों से प्राप्त, सफेद-भूरा मोटा, चिपचिपा राल जैसा पदार्थ है (संस्कृत शिलाजतु) जिसमे सूजन कम करने, दर्द दूर करने, अवसाद दूर करने, टॉनिक के, और एंटी-ऐजिंग गुण होते हैं। इसमें कम से कम 85 खनिजों पाए जाते है।

 शिलाजीत कहाँ मिलता है?

भारत में यह गंगोत्री के आस-पास शिलाओं से टपकता है। यह नेपाल में भी मिलता है। यह अल्ताई, हिमालय, और मध्य एशिया के काकेशस पहाड़ों से प्राप्त किया जाता है।

शिलाजीत के लाभ क्या हैं?

शिलाजीत एक टॉनिक है जो पुरुषों में यौन विकारों के उपचार के लिए इस्तेमाल किया जाता है। शिलाजीत रस में अम्लीय और कसैला, कटु विपाक और समशीतोष्ण (न अधिक गर्म न अधिक ठंडा) है। ऐसा माना जाता है, संसार में रस-धातु विकृति से उत्पन्न होने वाला कोई भी रोग इसके सेवन से दूर हो जाता है। शिलाजीत शरीर को निरोगी और मज़बूत करता है।

  1. शिलाजीत पुरुषों के प्रमेह की अत्यंत उत्तम दवा है।
  2. शिलाजीत वाजीकारक है और इसके सेवन से शरीर में बल-ताकत की वृद्धि होती है।
  3. शिलाजीत पुराने रोगों, मेदवृद्धि, प्रमेह, मधुमेह, गठिया, कमर दर्द, कम्पवात, जोड़ो का दर्द, सूजन, सर्दी, खांसी, धातु रोग, रोगप्रतिरोधक क्षमता की कमी आदि सभी में लाभप्रद है।
  4. शिलाजीत शरीर में ताकत को बढाता है तथा थकान और कमजोरी को दूर करता है।
  5. शिलाजीत यौन शक्ति की कमी को दूर करता है।
  6. शिलाजीत भूख को बढाता है।
  7. शिलाजीत पुरुषों में नपुंसकता, शीघ्रपतन premature ejaculation, कम शुक्राणु low sperm count, स्तंभन erectile dysfunction में उपयोगी है।
  8. यह शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने में मदद करता है।
  9. शिलाजीत के सेवन के दौरान, आहार में दूध की प्रधानता रहनी चाहिए।

आमलकी रसायन क्या है?

आमलकी रसायन, आंवला चूर्ण की आंवला रस में कई बार घुटाई करके बनाई गई दवा है। यह एक उत्तम टॉनिक, कामोत्तेजक, इम्युनिटी बूस्टर और एंटीऑक्सिडेंट है।

अमलकी रसायन के सेवन से मस्तिष्क, आंख, हृदय, यकृत, त्वचा और बालों सभी के सही से काम करने में मदद होती है। एंटीऑक्सिडेंट और विटामिन सी होने से यह उम्र बढ़ने के लक्षणों को कम करता है। इसके सेवन से सिरदर्द, धुंधला दिखाई देना,आँखों में जलन, आंखों की थकान, चक्कर आना, दोहरी दृष्टि आदि लक्षण कम होते हैं।

Loading...

यह एंटासिड भी है तथा पेप्टिक अल्सर, पित्त की अधिकता, आँतों में सूजन आदि में लाभप्रद है। आमलकी रसायन के नियमित सेवन से रोगनिरोधक क्षमता बढ़ती है, शरीर में रक्त की वृद्धि होती है, बालों-त्वचा का स्वास्थ्य सही होता है, तथा मस्तिष्क सही से काम करता है। पूरे स्वास्थ्य में सुधार होने से प्रजनन अंगों को भो बल मिलता है तथा यौन प्रदर्शन में सुधार होता है।

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल के फायदे | Benefits of Patanjali Shilajit Capsule in Hindi

  1. यह एक टॉनिक औषधि है और कमजोरी को दूर करती है।
  2. यह दवाई वृषण testes को सही काम करने में सहयोगी है और शुक्राणुजनन को उत्तेजित करती है।
  3. इसके सेवन से शुक्राणुओं की गुणवत्ता में सुधार होता है।
  4. यह वाजीकारक है।
  5. यह शक्तिवर्धक, जोशवर्धक, वाजीकारक रसायन है।

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल के चिकित्सीय उपयोग | Uses of Patanjali Shilajit Capsule in Hindi

  1. ऑलिगॉस्पर्मिया Oligospermia
  2. शुक्राणु असामान्यताएं Sperms abnormalities
  3. शीघ्रपतन, समयपूर्व स्खलन Premature ejaculation
  4. नपुंसकता Impotency
  5. सामान्य दुर्बलता General debility
  6. यौन दुर्बलता
  7. यौन विकार
  8. कामेच्छा की कमी
  9. जोश – शक्ति की कमी
  10. ब्रोंकाइटिस
  11. शारीरिक या मानसिक कमजोरी
  12. ऑस्टियोपोरोसिस
  13. पेप्टिक अल्सर
  14. मोटापा
  15. यक्ष्मा टी बी
  16. शारीरिक व मानसिक थकान

पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल की सेवन विधि और मात्रा | Dosage of Patanjali Shilajit Capsule in Hindi

  • 1-2 कैप्सूल दिन में दो बार, सुबह और शाम लें।
  • इसे दूध के साथ लें।
  • या डॉक्टर द्वारा निर्देशित रूप में लें।

सावधनियाँ/ साइड-इफेक्ट्स/ कब प्रयोग न करें Cautions/Side effects/Contraindications in Hindi

शिलाजीत के सेवन के समय विदाही (जलन करने वाले भोजन) और भारी भोजन नहीं करना चाहिए।

कुल्थी का सेवन भी नहीं करना चाहिए। आयुर्वेद के कुछ व्याख्याकार ने तो यहाँ तक कहा है जो लोग शिलाजीत का सेवन कर रहे हो उन्हें एक वर्ष तक कुलथी का सेवन नहीं करना चाहिए।

  1. शिलाजीत उन लोगों को नहीं लेना चाहिए जिनका यूरिक एसिड बढ़ा हुआ है। जिनमें यूरिक एसिड की पथरी हो, गठिया हो उन्हें भी इसका प्रयोग नहीं करना चाहिए।
  2. शिलाजीत को अधिक पित्त में भी इसका सेवन सावधानी से किया जाना चाहिए।
  3. संतुलित और पौष्टिक आहार का सेवन करें।
  4. खाने में दूध, फलों और सब्जियां को शामिल करें।
  5. मादक पदार्थों, शराब, चाय और कॉफी का सेवन नहीं करें।
  6. पानी पर्याप्त मात्रा में पियें।
  7. प्राणायाम और व्यायाम करें।
  8. गर्भवती महिलाओं में इस दवा का अध्ययन नहीं किया गया है। इसमें छेदन, मेदोहर, गुण हैं। इसलिए, गर्भवती महिलाओं को इस दवा का उपयोग न करने की सलाह दी जाती है।
  9. इस दवा के सेवन के दौरान ब्लड शुगर लेवल की बराबर जांच करते रहें।
  10. उच्च रक्तचाप में इसे कम मात्रा में लिया जाना चाहिए।
  11. इसे आप एलोपैथी की दवा के सेवन के दौरान भी ले सकते हैं।
  12. इसे बच्चों की पहुँच से दूर रखें।
  13. इसे ज्यादा मात्रा में न लें।
  14. निर्धारित मात्रा में लेने से इसका कोई साइड-इफेक्ट नहीं है।
  15. अच्छे परिणाम के लिए दवा को तीन महीने तक प्रयोग करें।
Loading...

9 thoughts on “पतंजलि शिलाजीत कैप्सूल के फायदे, नुकसान, उपयोग विधि और प्राइस

  1. शिलाजीत कैप्सूल को पानी के साथ लिया जा सकता है

  2. मेरे को अपना hight बढाना है ।
    मैं 20 साल का हुन और मेरा कद 5,1इंच है ।क्या करूँ
    की मेरा hight बढ़ जाये

  3. Milk ke sath le sakte h kya? aur ese kinte month tak lena padega aur kitni capsule din me leni padegi.
    Aur continue kar sakte h kya

  4. Patanjali Silajit tablet sex karne ke kitne hours pahle lena chyahiye,
    our sex karneke liye mera ling uttejit nahi hota hai , agar mai tablet leta hu to rojana lena hoga ya jab muse sex karna hai use kuch time pahle le lu to uska asar hoga kya,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.