मधुमेहारी योग के फायदे, नुकसान और प्रयोग

मधुमेहारी योग, श्री बैद्यनाथ आयुर्वेद भवन प्राइवेट लिमिटेड द्वारा तैयार आयुर्वेदिक दवा है जिसका प्रयोग मधुमेह या डायबिटीज diabetes के उपचार में किया जाता है।

मधुमेहारी योग, श्री बैद्यनाथ आयुर्वेद भवन प्राइवेट लिमिटेड द्वारा तैयार आयुर्वेदिक दवा है जिसका प्रयोग मधुमेह या डायबिटीज diabetes के उपचार में किया जाता है। मधुमेहारी योग को त्रिवंग भस्म Trivang Bhasm, गुड़मार की पत्तियों, जामुन गुठली, शिलाजीत, स्वर्ण भस्म से बाना गया है। इसके सेवन से मधुमेह में होने वाली स्वास्थ्य समस्याओं जैसे की बार-बार मूत्र आना, बहुत अधिक प्यास लगना, थकावट आदि में लाभ होता है।

Baidyanath Madhumehari Yog is an Ayurvedic medicine from Baidyanath. Madhumehari Yog is indicated in management of Madhumeha or diabetes. It helps in controlling blood sugar level. Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

Loading...

मधुमेहारी योग के घटक | Ingredients of Madhumehari Yog in Hindi

Each tablet (375 mg): त्रिबंग भस्म 23.077 mg (बंग भस्म, नाग भस्म, यशद भस्म प्रत्येक 7.692 mg), गुड़मार पत्ती, नीम पत्ती, जामुन की गुठली प्रत्येक 69.231 mg, शुद्ध शीलाजीत 138.462 mg, स्वर्ण भस्म; भावना द्रव्य गूलर, गिलोय, विजयसार

मधुमेहारी योग के लाभ | Benefits of Madhumehari Yog in Hindi

यह रक्त में शर्करा के स्तर पर और मधुमेह से संबंधित जटिलताओं को कम करने में मदद करता है।

यह दवा बार-बार मूत्र आना, बहुत अधिक प्यास लगना, कमजोरी, गले में सूखापन, थकावट आदि में लाभ करती है।

मधुमेहारी योग के चिकित्सीय उपयोग | Uses of Madhumehari Yog in Hindi

मधुमेहारी योग, मधुमेह में उपयोगी औषधि है।

सेवन विधि और मात्रा | Dosage of Madhumehari Yog in Hindi

  • 2-3 गोली, दिन में दो बार लें।
  • इसे भोजन करने के बाद लें।
  • या डॉक्टर द्वारा निर्देशित रूप में लें।

इस दवा को ऑनलाइन या आयुर्वेदिक स्टोर से ख़रीदा जा सकता है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.