लोहासव Lohasava Details and Uses in Hindi

लोहासव को शुद्ध लोहा, त्रिकटू, त्रिफला, अजवाइन, वायविडंग, चित्रक मूल, और मोथा से तैयार किया जाता है। इसमें लोहा होता है और इसे शरीर में आयरन की कमी को सही करने के लिए दिया जाता है । यह एक आयुर्वेदिक आयरन टॉनिक है। लोहे की कमी से शरीर में पानी की अधिकता और प्लीहा के रोगों में यह एक लाभकारी औषधि है।

Loading...

Read In English: Lohasava Syrup for Iron Deficiency

Lohasava/ Lohasavam is anAyurvedic formulation containing purified iron. This medicine is useful in treatment of iron deficiency, diseases of spleen, skin diseases, fluid accumulation and cough.

Here information is given about complete list of ingredients, properties, uses and dosage of this medicine in Hindi language.

आसव वे तरल आयुर्वेदिक दवा जिन्हें औषधीय जड़ी बूटियों, गुड़, चीनी, मधु, आदि मीठे पदार्थों, धाय फूल, महुआ फूल, आदि डालकर बिना गर्मी का उपयोग कर के बनाया जाता है। किण्वन fermentation करने के लिए एक महीने की अवधि के लिए, फोर्मुले के अनुसार पदार्थों को एक सील बंद बर्तन में कर जमीन या भूसी में दबा दिया जाता है। सभी आसव पाचन शक्ति बढ़ने वाले, पेट की हवा को नीचे ले जाने वाले, दस्त साफ़ करने वाले, शरीर को ताकत देने वाले, पेशाब की दिक्कतों को दूर करने वाले होते हैं।

घटक Ingredients of Lohasava

  • Loha Churna शोधित लोहे का बुरादा shodhita (Lauha) Iron dust 192 g
  • Shunthi सोंठ Zingiber officinale Rz. 192 g
  • Marica काली मिर्च Piper nigrum Fr. 192 g
  • Pippali पिप्पली Piper longum Fr. 192 g
  • Haritaki हरीतकी Terminalia chebula P. 192 g
  • Bibhitaka विभितकी Terminalia bellierica P. 192 g
  • Amalaki आवंला Emblica officinalis P. 192 g
  • Yavanika (Yavani) यवनी/अजवाइन Trachyspermum ammi Fr. 192 g
  • Vidanga विडंग Embelia ribes Fr. 192 g
  • Mustaka (Musta) मोथा Cyperus rotundus Rz. 192 g
  • Citra (Eranda) अरंडी Ricinus communis Rt. 192 g
  • Dhataki धातकी Woodfordia fruticosa Fl. 960 g
  • Madhu शहद Honey 3.072 kg
  • Guda गुड Jaggery 4.80 kg
  • Jala पानी Water 24.576 liter

Lf. =Leaf; P. =Pericarp; Rt. =Root; Fr. =Fruit; Rz. =Rhizome; St. =Stem; Fl. Bd. =Flower Bud.

loading...

मुख्य गुणधर्म और उपयोग Qualities and therapeutic uses

लोहासव के लाभ Benefits of Lohasav

  • पाचन में सुधार
  • रक्ताल्पता /एनीमिया का उपचार
  • यह आयरन टॉनिक है पर कब्ज़ नहीं करता
  • जिगर और तिल्ली संबंधी विकार के लिए अच्छा है
  • मधुमेह में कारगर, त्वचा रोगों, दमा, खांसी आदि में भी प्रभावकारी

चिकित्सीय उपयोग Therapeutic Uses of Lohasav

  • कमजोर पाचन (weak digestion), अरुचि (tastelessness), अग्निमांद्य (digestive impairment)
  • ग्रहणी (malabsorption syndrome)
  • गुल्म (abdominal lump)
  • अर्श (piles), भगंदर (fistula-in-ano)
  • पांडु (anemia)
  • प्लीहा (splenic disease)
  • शोफ (oedema)
  • दिल के रोग Hridroga
  • त्वचा के रोग (disease of skin)
  • खांसी (cough), अस्थमा (asthma)
  • जीर्ण ज्वर Chronic fever, मलेरिया बुखार Malarial fever, विषम ज्वर Visham jwar
  • शरीर के अंदर तरल का संचय Accumulation of fluid inside body

सेवनविधि और मात्रा How to take and dosage

  • इस दवा को 12-24 ml की मात्रा में लिया जाना चाहिये।
  • इसे दिन में दो बार, सुबह और शाम पानी की बराबर मात्रा मिला कर लेना है।
  • इसे भोजन करने के बाद लिया जाना चाहिये।

Where to buy

You can buy this medicine online or from medical stores.

This medicine is manufactured by Dabur, Shree Baidyanath Ayurved Bhawan, Patanjali Divya Pharmacy Divya Lohasava, Sandu Vaidyaratnam Oushadhasala Lohasavam, Kottakkal Lohasavam, Arya Vaidya Sala, Kerala Ayurveda Lohasavam and some other pharmacies.

loading...

One thought on “लोहासव Lohasava Details and Uses in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*