Kumari Asava No 1 (Kumaryasava) कुमार्यासव in Hindi

Kumariasav No 1 or Kumaryasava is a polyherbal Ayurvedic medicine containing Ghrita Kumari/Aloe vera, Purana Gud, choti ilachi, cinnamon, Tejpatra, Nagakesar, Haridra, Dharu Haridra, pippali, Marich, Dhataki pushpa, Akarkara, Bacha, Vidang, Javitri etc. This medicine is stimulant, laxative, alterative, tonic, deepen and pachan. It is useful in piles, agnimandya /loss of appetite, udar rog/diseases of stomach, abdominal complaints, Asthma, cough, consumption, enlargement of liver and spleen, swelling of the body, flatulence, dyspepsia, colic pain, liver and spleen disorders, and diseases of women.

Loading...

Here information is given about complete list of ingredients, properties, uses and dosage of this medicine in Hindi language.

कुमार्यासव नं 1 या कुमारी आसव नंबर 1 एक आयुर्वेदिक हर्बल दवा है। इसे शारंगधर संहिता से लिया गया है और इसे उदर रोगों diseases of abdomen के उपचार में प्रयोग किया जाता है। कुमारी आसव/कुमार्यासव के चार प्रकार हैं: नं 1, नं 2, नं 3 और नं 4। प्रत्येक में अलग-अलग सामग्री है। लेकिन सभी प्रकार में मुख्य संघटक कुमारी स्वरस Aloe vera या एलो/मुसब्बर वेरा का रस है। एलो वेरा ही कुमारी के रूप में जाना जाता है। मुसब्बर/ग्वारपाठा/घीकुमारी कड़वा, कसैला, और मीठा होता है। यह शरीर के सभी ऊतकों पर काम करता है और शक्ति को बढाता है। यह महिला प्रजनन, पाचन, नर्वस और कब्ज़ पर लाभकारी प्रभाव डालता है। कुमार्यासव नं 1, जिगर और तिल्ली के रोगों में उपयोगी है। इस दवा में त्रिफला, त्रिकटु, चातुर्जात, लोहा, होते हैं इसलिए इसके उपयोग से हीमोग्लोबिन स्तर, भूख, आत्मसात और कब्ज में सुधार होता है। यह पोषकऔर टॉनिक है।

कुमार्यासव नं 1, बहुत कम खुराक में बच्चों को भी दी जाती है। इसके प्रयोग से कमजोर पाचन, जिगर और तिल्ली के रोग, बिगड़ा हुआ पाचन आदि के लाभकारी असर दिखाता है।

नीचे इस दवा के घटक, गुण, सेवनविधि, और मात्रा के बारे में जानकारी दी गयी है।

कुमारी आसव नंबर 1 के घटक Ingredients of Kumari Asava

Formulation composition:

loading...

Kumari Rasa (Kumari) कुमारी रस Aloe barbadensis Lf. 12.288 liter
Guda गुड Jaggery 4.8 kg

Lauha churna लौह चूर्ण 2.4 kg
Madhu शहद Honey 2.4 kg
Shunti सोंठ Zingiber officinale 24 g
Maricha काली मिर्च Peeper nigrum fruit 24 g
Lavanga लौंग Syzygium aromaticum 24 g
Twak दालचीनी Cinnamon 24 g
Ela छोटी इलाइची cardamom 24 g
Patra तेजपत्र Cinnamomum tamala – leaf – 24 g
Nagakeshara नागकेशर Mesua ferrea stamen 24 g
Chitraka चित्रक Plumbago zeylanica root 24 g
Pippali moola पिप्प्लामूल long pepper root 24 g
Vidanga विडंग False black pepper fruit 24 g
Gajapippali गजपिप्पली Piper chaba Fruit 24 g
Chavya चव्य Piper chaba Fruit  24 g
Hauver हाउवेर Juniperus communis Fruit 24 g
Dhanyaka धनिया Coriander seed   24 g
Supari सुपारी Betel nut 24 g
kutki कुटकी Picrorhiza kurroa 24 g
Motha मोथा Cyperus rotundus root 24 g
Haritaki हरीतकी Terminalia chebula fruit rind 24 g
Vibhitaki विभिताकी Terminalia bellirica fruit rind 24 g
Amalaki आमलकी Emblica officinalis Fruit 24 g
Rasna रसना Pluchea lanceolata Root / leaf 24 g
Devadaru देवदारु Cedrus deodara Heart wood 24 g
Haridra हल्दी Turmeric rhizome 24 g
Daruhaldi दारुहल्दी Berberis aristata Stem 24 g
Murvamula मूर्वामूल  Marsdenia tenacissima Root 24 g
Yashtimadhu मुलेठी Licorice root 24 g
Danti दंती Baliospermum montanum root 24 g
Pushkaramoola पुष्करमूल Inula racemosa root 24 g
Bala बला Sida cordifolia Root 24 g
Atibala अतिबला Abutilon indicum root 24 g
Kaunch कौंच Mucuna pruriens seed 24 g
Gokhru गोक्षुरु Tribulus terrestris whole plant 24 g
Shatapushpa शतपुष्प Anethum sowa Fruit 24 g
Hingpatri हिन्ग पत्री Leaf 24 g
Akarkara अकरकरा Anacyclus pyrethrum Root 24 g
Utinggana उंटगन बीज  Blepharis edulis seed 24 g
Shweta Punarnava सफ़ेद पुनर्नवा Boerhavia diffusa root 24 g

Rakta Punarnava लाल पुनर्नवा Boerhavia diffusa root 24 g
Lodhra लोध्र Symplocos racemosa stem bark 24 g
Svarn Makshika Bhasma माक्षिक भस्म Bhasma of copper pyrites 24 g
Dhataki धातकी Woodfordia fruticosa 384 g

मुख्य गुणधर्म और उपयोग Qualities and therapeutic uses

फायदे Benefits of Kumari asav

  • जिगर और तिल्ली के लिए अच्छा Good for liver and spleen
  • भूख बढ़ाता है improves appetite
  • टॉनिक, पौष्टिक Tonic, nutritious
  • हीमोग्लोबिन बढ़ाता है improves hemoglobin
  • कामोद्दीपक aphrodisiac

कुमारी आसव नंबर 1 के चिकित्सीय उपयोग Uses of Kumari Asava No. 1

कुमारी आसव नंबर 1, जिगर और तिल्ली, खाँसी cough, श्वसन रोगों respiratory ailments, hyperacidity, महिला बांझपन infertility, रक्ताल्पता, पीलिया jaundice और बिगड़ा हुआ पाचन आदि रोगों के उपचार में उपयोगी है। इस दवा का प्रयोग पित्त का समुचित स्राव में मदद करता है। यह जिगर को ताकत देता है। यह डिम्बग्रंथि रोग के कारण महिलाओं में अनार्तव absence of periods में भी दिया जाता है।

शुरू में, यह दवा कम खुराक में ली जानी चाहिए। खुराक धीरे-धीरे बढ़ाया जा सकता है। परिणाम 1-2 हफ्तों के इस्तेमाल के बाद दिखाई देते हैं।

  • जिगर और तिल्ली की वृद्धि enlargement of liver and spleen
  • एनीमिया, महिला बांझपन anemia, female infertility
  • दिल के रोग diseases of heart
  • मूत्र रोग के सभी प्रकार, मूत्रकृच्छ urinary diseases
  • गुल्म, परिणामशूल
  • जुखाम, श्वास, कास, खांसी
  • ख़राब पाचन, मंद ज्वर
  • सूजन, कब्ज inflammation, constipation
  • बवासीर piles ,
  • पथरी, कृमी रोग
  • गर्भाशय के दोष, अपस्मार, बवासीर

सेवनविधि और मात्रा How to take and dosage

  • इस दवा को 12-24 ml की मात्रा में लिया जाना चाहिये।
  • इसे दिन में दो बार, सुबह और शाम पानी की बराबर मात्रा मिला कर लेना है।
  • इसे भोजन करने के बाद लिया जाना चाहिये।

Where to buy

आप इस दवा को सभी फार्मेसी दुकानों पर या ऑनलाइन खरीद सकते हैं।

कुमारी आसव नंबर 1 को बहुत सी आयुर्वेदिक फार्मास्यूटिकल कंपनियां बनाती है जैसे की बैद्यनाथ Baidyanath, डाबर Dabur, पतंजलि Patanjali आदि।

loading...

27 thoughts on “Kumari Asava No 1 (Kumaryasava) कुमार्यासव in Hindi

  1. can we give kumari asava syrup to my 10 year child
    because he has stomach pain every time.
    Please advise me.

  2. Pehele drink karata tha toh bhookh nahi lagti thi ab 3 month se drink band kiya toh khoob bhookh lagti hai lekin khana pachta nahi shayad kyu ki toilet saaf nahi hota
    din me 3-3 baar jaata hoo lekin sirf gas
    dinbhar gas aur pet bhi bada ho gaya hai koi upay batana plz

    • इस दवा में कुमारी का अर्थ, घृतकुमारी है, जिसे हम सभी एलोवेरा के नाम से सामान्यतः जानते हैं. यह मुख्य रूप से पाचन सम्बन्धी, कब्ज़, बवासीर, लीवर-तिल्ली की वृद्धि में प्रयोग की जाती है. इसे स्त्री बाँझपन में भी देते है. लेकिन यह दवा केवल लड़कियों-स्त्रियों की नहीं है.

    • कुमार्यासव को कब्ज़, पाइल्स में लेने से स्टूल ढीला होता है और कब्ज़ से आराम मिलता है. यह मुख्य रूप से पाचन सम्बन्धी रोगों की दवाई है. यह रक्त के लिए भी टॉनिक है और लीवर के बढ़ जाने, पीलिया तथा अन्य यकृत विकारों में भी दी जाती है.

  3. Mujhe kayi dino se Bhookh nahi lagti hai, kisi v parkar ka Bhojan khane ko v mann nahi kar raha aur Mere Livor me v sojh aur infection hai. Kya कुमार्यासव Syrp meri kuch help kar sakti. Please Reply..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*