हिमालया हिमप्लेजिया के फायदे, नुकसान, उपयोग विधि

हिमप्लेजिया, हिमालया ड्रग कंपनी द्वारा निर्मित दवाई है। यह आयुर्वेदिक सिद्धांतों पर निर्मित दवा है जिसे गोक्षुर, पूतिकरंज, पुगा, शतावरी, वरुण, और अकीक पिष्टी से बनाया गया है।

हिमप्लेजिया, हिमालया ड्रग कंपनी द्वारा निर्मित दवाई है। यह आयुर्वेदिक सिद्धांतों पर निर्मित दवा है जिसे गोक्षुर, पूतिकरंज, पुगा, शतावरी, वरुण, और अकीक पिष्टी से बनाया गया है। यह दवा पुरुषों में पौरुष ग्रंथि के आयु के साथ बढ़ जाने के उपचार के लिए प्रयोग की जाती है।

Benign Prostatic Hyperplasia, BPH क्या है?

बिनाइन हायपरप्लेजिया ऑफ प्रोस्टेट या बीपीएच, प्रोस्टेट या पौरुष ग्रंथि की आयु के साथ होनेवाली असामान्य वृद्धि को कहते है।

Loading...

प्रोस्टेट ग्रंथि पुरुष प्रजनन प्रणाली हिस्सा है। यह मूत्राशय के नीचे स्थित होती है। मूत्र नलिका इसके बीच से होकर गुजरती है।

प्रोस्टेट ग्रंथि आयु के साथ बढ़ती रहती है। इसके अधिक बढ़ जाने से मूत्र नलिका पर दबाव पड़ता है और वह सिकुड़ जाती है। इस कारण ब्लैडर/मूत्राशय प्रोस्टेट पूरी तरह से खाली नहीं हो पाता और हमेशा उसमें कुछ यूरिन या मूत्र बच जाता है।

  • शरीर में मूत्र इकठ्ठा हो जाता है और मूत्र सम्बन्धी दिक्कतें हो जाती हैं जैसे की
  • बार-बार पेशाब करने की इच्छा होना, ख़ासकर रात में
  • पेशाब का सही से न होना, धार का कमजोर होना, बंद होना फिर होना, बूँद-बूँद मूत्र का जाना
  • पेशाब जाने के बाद भी पेशाब लगना

Himalaya Himplasia, is a proprietary Ayurvedic medicine from Himalaya Drug Company. This medicine is useful in management of Benign Prostatic Hyperplasia, BPH or enlargement of prostrate with age. Use of this medicine inhibits the 5α-reductase enzyme and reduces prostrate weight. It gives relief in symptoms of BPH, urinary tract infections, painful urination, local and internal inflammation etc. The chief ingredient of this medicine is Gokhru. Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

Loading...

हिमप्लेजिया के घटक | Ingredients of Himalaya Himplasia in Hindi

प्रत्येक टेबलेट में,

  • गोक्षुर (Tribulus terrestris) 140mg
  • पूतिकरंज (Caesalpinia bonducella) 120mg
  • पूगा (Areca catechu) 100mg
  • शतावरी (Asparagus racemosus) 80mg
  • वरुणा (Crataeva nurvala) 80mg
  • अकीक पिष्टी 80mg

हिमप्लेजिया के लाभ / फायदे | Benefits of Himalaya Himplasia in Hindi

यह गोखरू, पुतिकरंज, पूगा, शतावर, वरुण, अकीक पिष्टी युक्त हर्बल दवा है।

यह दवा 5-अल्फा रिडक्टेस एंजाइम का अवरोध करने वाली है। 5-अल्फा रिडक्टेस इनहिबीटर को prostatic hyperplasia (बीपीएच) और एंड्रोजेनिक एलोपेसिया के उपचार में प्रयोग किया जाता है।

  • यह प्रोस्टेट के वजन को कम कर देती है।
  • इसमें रोगाणुरोधी, सूजन कम करने के गुण है।
  • यह शरीर में मूत्र के ठहराव के कारण होने वाले मूत्र संक्रमण से बचाती है।

हिमप्लेजिया के चिकित्सीय उपयोग | Uses of Himalaya Himplasia in Hindi

बिनाइन हायपरप्लेजिया ऑफ प्रोस्टेट या बीपीएच

Benign Prostatic Hyperplasia, BPH or enlargement of prostrate with age

सेवन विधि और मात्रा | Dosage of Himalaya Himplasia in Hindi

  • 1-2 गोली, दिन में दो बार, सुबह और शाम लें।
  • या डॉक्टर द्वारा निर्देशित रूप में लें।

इस दवा को ऑनलाइन या आयुर्वेदिक स्टोर से ख़रीदा जा सकता है।

Loading...

5 thoughts on “हिमालया हिमप्लेजिया के फायदे, नुकसान, उपयोग विधि

  1. Till how much time Himplasia should be taken as the prostate swelling is detected from 22 cc to 33 cc in 4 years time ? Is this a lifetime medicine or is there any ayurvedic drug by Himalaya, to act like alpha blockers ? Please help. I am 67 years old and has had cystoscopy procedure 3 times from 2009 to 20012.

  2. Hi sir me 19sal ka hu sir me jab bhi sex Karne jata Hu mera gir jata Hai sir me key Karu plz batay aor himalaya confido le sakat

    • haan aap ye dawa le sakate hain, suru suru men over excitement ki wajah se sabake saath hota hai, regular karate rahi dhire dhire theek ho jaayega. Agar kabhi kabhar karate hain to jaldi ho jana natural hai.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.