महर्षि एनरजौल एम ए Maharishi Ayurveda Energol-MA Tablets Detail and Uses in Hindi

Loading...

एनरजौल एम ए, महर्षि आयुर्वेद द्वारा निर्मित एक प्रोप्राइटरी दवाई है। यह दवा पुरुषों के लिए है तथा यौन दुर्बलता, सेक्सुअल डिसऑर्डर जैसे की शीघ्रपतन, शिश्न में कड़ापन नहीं आना, इरेक्शन की समस्या, सेक्स करने की कम इच्छा, सेक्स कमजोरी, मर्दाना कमजोरी आदि में प्रयोग की जा सकती है।

क्योंकि इस दवा में स्वर्ण मकरध्वज, लोह-वंग-अभ्रक भस्में है, इसलिए इसे डॉक्टर की देखरेख में ही लेना उचित है। दवा की सटीक मात्रा भी डॉक्टर के द्वारा ही बताई जा सकती है क्योंकि यह व्यक्ति के स्वास्थ्य, पाचन, प्रकृति और रोग की स्थिति पर निर्भर है। दवा के पैक पर भी इसे डॉक्टर के निर्देशानुसार लेने को कहा गया है।

एनरजौल एम ए, में एंटीएजिंग, एंटीऑक्सीडेंट और एंटी स्ट्रेस गुण है। इसके सेवन से तनाव और शारीरिक कमजोरी कम होती है। तनाव और दुर्बलता व्यक्ति को विवाहित जीवन आनंद नहीं लेने देते। एनर्जोल शरीर में मनोवैज्ञानिक और कार्यात्मक होमियोस्टेसिस को बहाल करने में मदद करता हैं जिससे शरीर और दिमाग में जोश और ताकत आती है। यह व्यक्ति को जीवन की वास्तविकताओं का सामना करने के लिए तैयार करता है।

एनरगोल टेबलेट्स में 31 जड़ी-बूटियाँ और भस्में हैं। यह एक गैर-हार्मोनल टॉनिक है।

दवा के बारे में इस पेज पर जो जानकारी दी गई है वह इसमें प्रयुक्त जड़ी-बूटियों के आधार पर है। हम इस प्रोडक्ट को एंडोर्स नहीं कर रहे। यह दवा का प्रचार नहीं है। हमारा यह भी दावा नहीं है कि यह आपके रोग को एकदम ठीक कर देगी। यह आपके लिए फायदेमंद हो भी सकती हैं और नहीं भी। दवा के फोर्मुलेशन के आधार और यह मानते हुए की इसमें यह सभी द्रव्य उत्तम क्वालिटी के हैं, इसके लाभ बताये गए हैं। मार्किट में इसी तरह के फोर्मुले की अन्य फार्मसियों द्वारा निर्मित दवाएं उपलब्ध हैं। इस पेज पर जो जानकारी दी गई है उसका उद्देश्य इस दवा के बारे में बताना है। कृपया इसका प्रयोग स्वयं उपचार करने के लिए न करें। हमारा उद्देश्य दवा के लेबल के अनुसार आपको जानकारी देना है।

Energol MA is manufactured by Maharishi Ayurveda. This medicine is for males only and helps to improve sexual functions, testicular functions, quality of the sperms, erection, sexual desire and sexual satisfaction.It helps to increase the sexual power.It is combination of non-hormonal, aphrodisiac, anxiolytic and rejuvenating drugs.

loading...

Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

  • दवा का नाम: एनरजौल एम ए
  • निर्माता: महर्षि आयुर्वेद
  • उपलब्धता: यह ऑनलाइन और दुकानों में उपलब्ध है।
  • दवाई का प्रकार: भस्म जड़ी-बूटी युक्त आयुर्वेदिक दवाई
  • मुख्य उपयोग: पुरुषों में दुर्बलता
  • मुख्य गुण: वृष्य, वाजिकारक, बलवर्धक, रसायन, शुक्रवर्धक, वीर्यवर्धक
  • मूल्य MRP: Maharishi Ayurveda Energol-MA Tablets (20 Tablets) @ INR 400.

एनरजौल- एम ए के घटक Ingredients of Energol – MA

Each 500 mg Pearl Contains

  • स्वर्ण सिद्ध मकरध्वज Swaran Sidha Makardhwaj  2.4 mg
  • लौह भस्म Lauh Bhasm  2.4 mg
  • अभ्रक भस्म Abhrak Bhasm  2.4 mg
  • वंग भस्म Vang Bhasm  2.4 mg
  • चोपचीनी Smilax China  2.4 mg
  • सेमल कन्द Salmali mala-baricum  2.4 mg
  • लवंग Syzgium aromaticum  2.4 mg
  • सफ़ेद जीरा Cuminum cyminum 2.4 mg
  • जातिफल Myristica fragrans  2.4 mg
  • विधारा Argyreia speciosa  2.4 mg
  • सोंठ Zingiber officinale  2.4 mg
  • काली मिर्च Piper nigrum  2.4 mg
  • पिप्पली Piper longum  2.4 mg
  • वंशलोचन Bambusa arundinacea  3.6 mg
  • जावित्री Myristica fragrans(Javitri)  9.6 mg
  • शतावर Asparagus racemosus  9.6 mg
  • द्राक्षा Vitis vinifera  9.6 mg
  • बला Sida cordifolia  9.6 mg
  • कर्कटा श्रृंगी Pistacia Intergerrima  9.6 mg
  • छोटी इला Elettaria cardamomum  9.6 mg
  • केवांच Mucuna prurita  9.6 mg
  • कूठ Saussurea Lappa  9.6 mg
  • नागरमोथा Cyperus scariosus  9.6 mg
  • विदारीकन्द Pueraria tuberose  9.6 mg
  • कुष्मांड Benincasa hispida  9.6 mg
  • नागकेशर Mesua ferrea  9.6 mg
  • जटामांसी Nardostachyas jatamansi  9.6 mg
  • कपूर Cinnamomum camphora  9.6 mg
  • कंकोल Piper Cubeba  9.6 mg
  • गोखरू Tribulus terrestris  9.6 mg
  • मिश्री Cyrstal Sugar  Q.S

एनरजौल- एम ए के लाभ/फ़ायदे Benefits of Energol – MA

  • यह एक टॉनिक, उत्तेजक और कमजोरी दूर करने में सहायक हो सकती है।
  • यह शुक्राणुजनन में मदद कर सकती है और एक कामोत्तेजक है।
  • यह पुरुषों के लिए वाज़िकारक और शक्तिवर्धक दवाई है।
  • यह पुरुषों की यौन शक्ति को बढ़ाती है और बहुत से यौन रोगों में उपयोगी है। यह गैर हार्मोनल, कामोत्तेजक, वाजीकारक और कायाकल्प दवाओं का एक उत्कृष्ट संयोजन है।
  • यह पाचन और आत्मसात में सुधार करती है।
  • यह शक्तिवर्धक, जोशवर्धक, वाजीकारक रसायन है।

आयुर्वेदिक गुण

  • बाजीकरण: द्रव्य जो रति शक्ति में वृद्धि करे।
  • रसायन: द्रव्य जो शरीर की बीमारियों से रक्षा करे और वृद्धवस्था को दूर रखे।
  • शुक्रल: द्रव्य जो शुक्र की वृद्धि करे।

एनरजौल- एम ए के चिकित्सीय उपयोग Uses of Energol – MA

आयुर्वेद की मुख्य 8 शाखाएं हैं, इनमें से वाज़ीकरण यौन-क्रियायों की विद्या तथा प्रजनन Sexology and reproductive medicine चिकित्सा से सम्बंधित है। वाज़ीकरण के लिए उत्तम वाजीकारक वनस्पतियाँ और खनिजों का प्रयोग किया जाता है जो की सम्पूर्ण स्वास्थ्य को सही करती हैं और जननांगों पर विशेष प्रभाव डालती है। आयुर्वेद में प्रयोग किये जाने वाले उत्तम वाजीकरण द्रव्यों में शामिल है, मूसली, अश्वगंधा, शतावरी, गोखरू, केवांच, शिलाजीत, विदारीकन्द आदि। यह द्रव्य कामोत्तेजक है, स्नायु, मांसपेशियों की दुर्बलता, को दूर करने वाले है तथा धातु वर्धक, वीर्यवर्धक, शक्तिवर्धक तथा बलवर्धक हैं।

  • यौन कमजोरी के लिए sexual disorders of male
  • स्वप्नदोष Nocturnal Emission (Night Fall)
  • शीघ्रपतन Premature Ejaculation
  • स्तम्भन दोष Erectile Dysfunction
  • पुरुषों में यौन स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए
  • शारीरिक कमजोरी, स्ट्रेस
  • वाजीकरण improving Sexual Desire
  • लिबिडो कम होना Low Libido

सेवन विधि और मात्रा Dosage of Energol – MA

  • 1 गोली, दिन में दो बार, सुबह और शाम लें।
  • इसे दूध के साथ लें।
  • इसे भोजन करने के बाद लें।
  • या डॉक्टर द्वारा निर्देशित रूप में लें।

सुझाव

  • यह दावे के साथ नहीं कहा जा सकता की यह दवा आपकी समस्या दूर करेगी की नहीं। इस दवा के मिक्स्ड रिव्यु हैं। कुछ लोगों कहते हैं इसके सेवन से उन्हें बहुत लाभ हुआ। लेकिन कुछ के अनुसार इससे जैसा वो चाहते थे, लाभ नहीं हुआ।
  • loading...
  • इसे लम्बे समय तक न लें।
  • दवा के साथ-साथ भोजन और व्यायाम पर भी ध्यान दें।
  • संतुलित और पौष्टिक आहार का सेवन करें।
  • खाने में दूध, फलों और सब्जियां को शामिल करें।
  • जंक फ़ूड न खाएं।
  • तले, भुने, खट्टे, मसालेदार भोजन न खाएं।
  • मादक पदार्थों, शराब, चाय और कॉफी का सेवन नहीं करें।
  • पानी पर्याप्त मात्रा में पियें।
  • प्राणायाम और व्यायाम करें।
  • खूब पानी पियें।
  • एक्सरसाइज करें।
  • तनाव कम करें।
  • कब्ज़ न रहने दें।
  • कब्ज़ में त्रिफला, इसबगोल आदि का सेवन कर सकते हैं। मुनक्का और किशमिश का सेवन भी कब्ज़ में लाभप्रद है।

सावधनियाँ Cautions

  • इस दवा को डॉक्टर की देख-रेख में ही लें।
  • इसे बच्चों की पहुँच से दूर रखें।
  • इसे ज्यादा मात्रा में न लें।

साइड-इफेक्ट्स Side effects

  • अगर आप को कोई अन्य स्वास्थ्य समस्या है तो दवा में प्रयुक्त जड़ी-बूटियाँ का उस रोग और उसकी दवाओं पर असर ज़रूर चेक करें।
  • इसके सेवन से पित्त बढ़ सकता है। इसलिए पित्त प्रकृति के लोग इसका सेवन सावधानी से करें।
  • अधिक मात्रा में सेवन पेट में जलन, एसिडिटी, आदि समस्या कर सकता है।
  • जिन्हें पेट में सूजन हो gastritis, वे इसका सेवन सावधानी से करें।

कब प्रयोग न करें Contraindications

  • यह हमेशा ध्यान रखें की जिन दवाओं में पारद, गंधक, खनिज आदि होते हैं, उन दवाओं का सेवन लम्बे समय तक नहीं किया जाता। इसके अतिरिक्त इन्हें डॉक्टर के देख-रेख में बताई गई मात्रा और उपचार की अवधि तक ही लेना चाहिए।
  • इसे बताई मात्रा से अधिकता में न लें।
Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*