दिव्य टोटला क्वाथ के फायदे, नुकसान, उपयोग विधि और प्राइस

दिव्य टोटला क्वाथ एक आयुर्वेदिक दवा है जिसमें एकमात्र घटक श्योनाक है। इसे लीवर समेत बहुत से अन्य रोगों में भी प्रयोग किया जा सकता है। इसे टोटला क्वाथ कहते हैं, क्योंकि यह टोटला (सिक्किम में श्योनाक को हो टोटला कहते है) की छाल से बना काढ़ा है।

shyonak tree

Loading...

श्योनाक को सोनापाठा, भल्लूक, भूतवृक्ष और टुण्टुक आदि के नामों से भी जानते है। यह आयुर्वेद में प्रयोग किया जाने वाला बहुत ही महत्वपूर्ण वृक्ष है। यह दशमूल की बृहत्पंचमूल का एक घटक है और आयुर्वेद की वे सभी दवाएं जिनमें दशमूल है, श्योनाक भी उनमें है। दशमूल की ही तरह यह सूजन को दूर करने वाली औषध है।

श्योनाक त्रिदोषशामक, शोथहर, व्रण रोपण, वेदनास्थापन, दीपन, पाचन, कृमिघ्न, ज्वरघ्न, और मूत्रल है।

इस पेज पर जो जानकारी दी गई है उसका उद्देश्य इस दवा के बारे में बताना है। कृपया इसका प्रयोग स्वयं उपचार करने के लिए न करें।

Loading...

Totla kwath is proprietary Ayurvedic medicine from Swami Ramdev’s Patanjali Divya Pharmacy. A decoction prepared from this coarse powder in water is useful in treating liver disorders such as Jaundice, Hepatitis.

Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

  • उपलब्धता: यह ऑनलाइन और दुकानों में उपलब्ध है।
  • दवाई का प्रकार: आयुर्वेदिक
  • मुख्य उपयोग: यकृत रोग
  • मुख्य गुण: सूजन दूर करने का
  • मूल्य MRP: : 100 grams @ INR 20.00

दिव्य टोटला क्वाथ के घटक | Ingredients of Divya Totala Kwath in Hindi

प्रत्येक 5 ग्राम में:

श्योनाक 5 ग्राम

दिव्य टोटला क्वाथ के फायदे | Benefits of Divya Totala Kwath in Hindi

  • यह दीपन है और पाचन को सही करता है।
  • यह ग्राही गुण से पेचिश-दस्त में लाभकारी है।
  • यह कासहर है और कफ को कम करता है।
  • यह वातहर है और वातव्याधि में लाभप्रद है।
  • यह दर्द निवारक है।
  • यह सूजन दूर करता है।
  • यह लीवर / यकृत की रक्षा करने वाली दवाई है।
  • इसके सेवन से पीलिया, हेपेटाइटिस, लीवर की सूजन में लाभ होता है। इसे नियम से खाली पेट दिन में दो बार, सुबह और शाम लेना चाहिए।
  • यह मूत्रल है और बस्ती रोगों में लाभप्रद है।
  • यह पेशाब की रुकावट को दूर करता है।

दिव्य टोटला क्वाथ के चिकित्सीय उपयोग | Uses of Divya Totala Kwath in Hindi

  1. लीवर में सूजन Hepatitis / Liver inflammation
  2. पीलिया, हेपेटाइटिस Jaundice
  3. पित्त की अधिकता Biliousness
  4. कफ Cough
  5. उदर रोग Diseases of abdomen
  6. फ़ूड पोइजनिंग Food poisoning
  7. सूजन Inflammation
  8. भूक की कमी Low appetite
  9. मुंह में छाले Mouth ulcers
  10. आमवात Rheumatism
  11. बस्ती रोग Urinary disorders / basti roga
  12. वातव्याधि Vata vyadhi

दिव्य टोटला काढ़ा की सेवन विधि और मात्रा | Dosage of Divya Totala Kwath in Hindi

  1. टोटला क्वाथ एक पाउडर के रूप में पैकेट में उपलब्ध है।
  2. इस पाउडर से पानी में पका कर काढ़ा बनाया जाता है।
  3. काढ़ा बनाने के लिए 5 ग्राम पाउडर को लेकर 400 ml पानी में उबालें जब तक पानी उड़ कर करीब 100 ml रह जाए।
  4. आप इसे और देर तक भी पका सकते हैं जिससे पानी की मात्रा कम हो जाए और इसे लेना आसान हो जाए।
  5. इसे छान लें।
  6. इसे दिन में दो बार, सुबह नाश्ते से रात को डिनर से दो घंटा पहले लेना चाहिए।

सावधनियाँ/ साइड-इफेक्ट्स/ कब प्रयोग न करें Cautions/Side effects/Contraindications

  1. गर्भावस्था में कोई दवा बिना डॉक्टर की सलाह के न लें।
  2. इसे बच्चों की पहुँच से दूर रखें।
  3. इसे बताई मात्रा से अधिकता में न लें।
  4. निर्धारित मात्रा में लेने से इसका कोई ज्ञात साइड इफ़ेक्ट नहीं है।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.