कच्चे दूध से कैसे पायें निखरी त्वचा

कच्चा दूध का त्वचा पर प्रयोग रंगत को सुधारता है। इसे अकेले ही या अन्य फेस पैक में मिलाकर लगाया जा सकता है। चुटकी भर हल्दी मिलाकर लगाने से त्वचा के लिए और उपयोगी बन जाता है।

कच्चा दूध बिना उबले दूध को कहते हैं। यह त्वचा के लिए बहुत उपयोगी है। उबालने पर दूध में कुछ विटामिन्स नष्ट हो जाते है लेकिन बिना उबले दूध में ये सभी सुरक्षित रहते है। दूध में विटामिन बी, प्रोटीन, मिनरल सभी प्राकृतिक रूप से मौजूद होते हैं। यह त्वचा को भीतर से पोषित करता है। यह हर प्रकार की त्वचा के लिए उपयुक्त है। जहाँ यह ड्राई स्किन को नमी देता है वहीँ तैलीय त्वचा से अतिरिक्त तेल को दूर करता है।

दूध में लैक्टिक एसिड होता है जो रंग को गोरा करता है। दूध का बाहरी प्रयोग त्वचा को साफ़ करता है और ताजगी देता है। नीबू की कुछ बूंदे मिलाकर १५ मिनट तक लगाने से यह टोनर का काम करता है। टोनर या स्किन टोनर उन लोशन को कहते हैं, जिन्हें रूई के फाहे से त्वचा पर लगाने से त्वचा साफ़ होती है और खुले हुए रोम छिद्र सिकुड़ते है। टोनर न केवल त्वचा को नमी देते हिं अपितु एक्स्ट्रा आयल भी हटाते हैं।

Loading...

Raw milk ka skin

दूध का त्वचा पर प्रयोग रंगत को सुधारता है। इसे अकेले ही या अन्य फेस पैक में मिलाकर लगाया जा सकता है। चुटकी भर हल्दी मिलाकर लगाने से त्वचा के लिए और उपयोगी बन जाता है।

कच्चा दूध त्वचा के लिए अच्छा क्यों है?

  • इसमें विटामिन A तथा बायोटिन होता है जो त्वचा के रूखेपपन को दूर करता है।
  • इसमें मौजूद विटामिन B12, त्वचा की असमान रंगत को दूर करने में मदद करता है और दाग-धब्बों को भी हटाता है।
  • इसमें विटामिन D तथा B6 होता है जो नई कोशिकाओं के बनने में सहयोग करता है।
  • दूध में मौजूद प्रोटीन, त्वचा के टिशु का निर्माण में मदद करता है।
  • कैल्शियम होने के कारण यह कोलाजन बनने में मदद करता है।
  • मैग्नीशियम इसे झुर्री दूर करने के गुण देता है।
  • यह त्वचा को मुलायम और लचीला करता है।

यह त्वचा को ज़रूरी नमी, और पोषण देता है जिससे कुछ दिनों के नियमित प्रयोग से ही त्वचा खिल जाती है, काले धब्बे और निशान हट जाते है, फ़ाईन लाइनें हल्की होती हैं और रंग भी गोरा होता है।

Loading...

दूध के बाहरी प्रयोग के लाभ

यह प्राकृतिक स्किन क्लेंजर है। इसके प्रयोग से बड़े-खुले रोम छिद्र, मुहांसे, दाग-धब्बे, फाइन लाइन्स दूर होती हैं।

  • यह त्वचा आवश्यक नमी देता है।
  • यह असमान रंगत को दूर करता है।
  • यह त्वचा को एक्स्फोलिएट करता है जिससे त्वचा नर्म, कोमल लगती है।
  • यह त्वचा की जलन  और सनबर्न को दूर करता है।

Using Raw Milk for Skin in Hindi

ऐसे तो दूध को अकेले ही प्रयोग किया जा सकता है लेकिन कुछ और चीजें मिला देने से इसकी उपयोगिता और बढ़ जाती है।

स्किन क्लेंजर

  • रूई को दूध डुबाकर पूरे चेहरे पर हल्के गोलाई में मालिश करते हुए लगायें। यह रोज़ करें।

त्वचा को कोमल बनाने के लिए

  • त्वचा पर कच्चा दूध लगायें और सूखने पर पानी से धो लें।
  • दूध में थोडा सा नमक मिलाकर लगायें।

रंग साफ़ करने के लिए

  • 2 बादाम दूध में भिगों लें और पीस कर पेस्ट लगा लें और इसे चहरे पर लगायें।
  • चने की दाल को दूध में भिगो कर पीस लें। इसमें थोड़ी सी हल्दी और नींबू का रस मिलाकर चेहरे पर लगायें।

झुर्रियां

सरसों को दूध में भिगोकर पीस कर लगायें।

खुले रोम

कच्चे दूध को चेहरे पर लगायें।

ग्लोइंग स्किन

दूध और नींबू को मिलाकर चेहरे पर लगायें।

त्वचा को रूखापन

2 बादाम, दूध में पीस कर शहद मिला कर चेहरे पर लगायें।

थकी, मुरझाई त्वचा

दूध में हल्दी और चन्दन का चूर्ण मिलकर चेहरे पर लगायें।

क्लीनजिंग मिल्क, सर्दियों में त्वचा की देखभाल

दूध से त्वचा की मालिश करें और कुछ देर में गर्म पानी से धो लें।

जब भी कच्चे दूध को त्वचा पर लगायें तो धोने के लिए केवल पानी का प्रयोग करें। साबुन का प्रयोग तुरंत न करे। साबुन आप कुछ घंटे बाद प्रयोग कर सकते है। जब तक यह चेहरे पर लगा हो तो बात आदि न करें नहीं तो झुर्रियां हो सकती है। अच्छे परिणामों के लिए, दूध को नियमित १-२ बार लगायें। लगाने के बाद तुरंत न धोएं बल्कि सूखने का इंतज़ार करे। रोज़ नियमित लगाने पर ही परिणाम प्राप्त होते है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.