जिनसेंग Ginseng in Hindi

जिनसेंग का नाम आजकल काफी सुना जाता है। इसे दुनिया के बहुत से देशों में जैसे कि चीन, कोरिया और जापान में पारंपरिक हर्बल दवा के रूप में हजारों साल से प्रयोग किया जाता रहा है। यह मुख्य रूप से पुरुषों की जोशवर्धक और शक्तिवर्धक हर्ब है। इसके सेवन से पुरुषों में टेस्टोस्टरोन की वृद्धि होती है और यौन प्रदर्शन में सुधार होता है। इसका प्रयोग अकेले ही या अन्य दवाओं के निर्माण में किया जाता है। पूरी दुनिया में यह सबसे अच्छी तरह से जाना जाने वाला और व्यापक रूप से प्रयोग किया जाने वाला हर्बल उत्पाद है। अनुमान के अनुसार लाखों अमेरिकी नियमित इसका सेवन सेहत पर इसके सकारात्मक प्रभाव के कारण करते हैं।

Loading...

ginseng

इस पेज पर जिनसेंग के बारे विस्तृत जानकारी दी गई है। तो आगे पढ़े जिनसेंग के बारे में।

जिन्सेंग क्या है?

जिन्सेंग पेनेक्स ऐरेलिएसिएइ Araliaceae परिवार व Panax प्रजाति के पौधों की जड़ है। दुनिया में पेनेक्स-कुल के बहुत से पौधों की जड़ें जिनसेंग के रूप में इस्तेमाल की जा रही हैं और उनमें से सबसे अधिक पेनेक्स जिन्सेंग Panax जिनसेंग, जो की चीन और कोरिया में मुख्य रूप से मिलता है, को दुनिया में सबसे व्यापक रूप से जिन्सेंग दवा के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। पेनेक्स जिन्सेंग को आज से पांच हज़ार साल पहले से उगाया जा रहा है। पेनेक्स नाम एक रूसी बोटनिस्ट / वनस्पतिशास्त्री, सी। ऐ। मेएर के द्वारा दिया गया है, जिन्होंने ग्रीक भाषा के शब्दों पेन / पैन Pan (मतलब सभी all) और एक्सोस (मतलब ठीक करना cure) को मिलाकर पैनेक्स शब्द का निर्माण किया। ऐसा नाम जिन्सेंग के अनेकों रोगों में किये जाने वाले इस्तेमाल के कारण ही है।

स्पीशीज “जिनसेंग” शब्द चीनी भाषा के शब्द RenSheng से लिया गया है, जिसका शाब्दिक मतलब है, मानव Human, क्योंकि इसकी बाहरी बनावट कुछ-कुछ इंसानी शरीर जैसी दिखती है।

जिन्सेंग की प्रजातियाँ

पेनेक्स जीनस की अन्य प्रजातियाँ जो की जिन्सेंग के रूप में मान्य हैं:

loading...
  1. Panax quinquefolius (दक्षिणी कनाडा और संयुक्त राज्य अमेरिका में उगने वाला)
  2. Panax japonicas (जापान में उगने वाला)
  3. Panax Notoginseng (चीन में होता है)
  4. Panax pseudoginseng (नेपाल और पूर्वी हिमालय में उगाई जाने वाली प्रजाति)
  5. Panax vietnamensis (वियतनामी जिन्सेंग)

जिनसेंग पौधे की जड़ें को दवा की तरह प्रयोग करने के लिए, करीब 3-6 साल पुराने पौधे का चयन किया जाता है। White Ginseng सफ़ेद जिन्सेंग की जड़ों को सुखाया जाता है। Red Ginseng लाल जिन्सेंग की जड़ों को भाप में पकाया जाता है।

सक्रिय घटक

जिनसेंग का सक्रिय घटक जिन्सेनोसाइड्स ginsenosides जिन्हें जिनसेंग सैपोनिन कहा जाता है। जिन्सेंग में तीस से ज्यादा जिन्सेनोसाइड्स पाए जाते हैं।

जिन्सेंग खाने के फायदे Health Benefits of Ginseng

जिनसेंग उत्पादों को आम तौर पर सामान्य टॉनिक के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसका सेवन जीवन शक्ति को बढ़ाता है और शरीर के विभिन्न अंगों के सही से काम करने में सहयोग करता है। यह शरीर की तनाव से लड़ने की क्षमता तथा रोगों के प्रति प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। यह नसों को ताकत देता है और बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करता है। यह दिमाग में खून के दौरे को बढ़ाता है और यह सीखने और याद करने की क्षमता में वृद्धि करता है।

  1. यह तनाव, स्ट्रेस, एंग्जायटी, डिप्रेशन, मानसिक थकावट को दूर करता है।
  2. यह शारीरिक-मानसिक थकान, कमजोरी, यौन कमजोरी को दूर करता है।
  3. यह जीवन शक्ति को बढ़ाता है।
  4. यह हृदय, मस्तिष्क, लीवर, प्रजनन अंगों और शरीर के महत्वपूर्ण अंगों को ताकत देता है।
  5. यह एचडीएल में वृद्धि करता है।
  6. यह कोलेस्ट्रॉल, ट्राइग्लिसराइड्स को करता है कम करता है।
  7. यह बढती उम्र के प्रभाव को कम करता है।
  8. यह खून में बढ़े शर्करा के स्तर को कम करता है।
  9. यह उच्च रक्तचाप को कम करता है और प्लेटलेट के चिपकने को रोकता है।
  10. यह थ्रोम्बिन बनने को रोकता है।
  11. यह इम्युनिटी को बढ़ाता है।
  12. इसका प्रभाव एंटी-कैंसर है और ट्यूमर कोशिकाओं के प्रसार को रोकता है।
  13. यह थकान, बांझपन, लीवर की बीमारी, भूलने की बीमारी, जुकाम, रजोनिवृत्ति और इरेक्टाइल डिसफंक्शन की उत्तम दवाई है।

पुरुषों के लिए यह बहुत लाभकारी है। यह यौन दुर्बलता को दूर कर शरीर में ताकत का संचार करता है। यह नपुंसकता और शीघ्रपतन को दूर करने वाली दवा है। यह शुक्राणुओं की संख्या में सुधार करता है और फर्टिलिटी को बढ़ाता है। जिन्सेंग, रोगों के कारण होने वाली यौन कमजोरी को दूर करता है। यह इन्द्रिय को ताकत देता है और यौन प्रदर्शन को बेहतर करता है। यह इन्द्रिय की शिथिलता, कमजोर इरेक्शन, जल्दी एजाकुलेशन आदि को दूर करता है।

इसके कामोद्दीपक प्रभाव के कारण इसे हजारों साल से प्रयोग किया जा रहा है। यह पुरुषों के यौन स्वास्थ्य को ठीक करता है और प्रजनन अंगों को ताकत देता है। यह सीरम टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ाता है और प्रोलैक्टिन हार्मोन का प्लाज्मा स्तर में लेवेल कम करता है।

सेवन विधि और मात्रा

  1. जिनसेंग की जड़ को चबाया जा सकता है, या एक पाउडर के रूप खाया जा सकता है। 1-2 ग्राम सूखे जिन्सेंग रूट पाउडर को तीन महीने तक, दैनिक लिया जा सकता है।
  2. इसका क्वाथ, या अर्क भी लिया जा सकता है।
  3. काढ़ा बनाने के लिए 3-9 ग्राम जड़ के सूखे पाउडर को करीब 750-1000 ml पानी में 45 मिनट उबाला जाता है। फिर इसे छान कर पिया जाता है।
  4. चाय की तरह बनाने के लिए 1-2 ग्राम जड़ के सूखे पाउडर को करीब 150-250 mL उबलते हुए पानी में 10 मिनट तक रखा जाता है। फिर इसे छान कर पिया जाता है।
  5. जिन्सेंग का एक्सट्रेक्ट Panax ginseng extract 200 मिलीग्राम, 500 मिलीग्राम या 1000 मिलीग्राम की मात्रा में प्रति दिन, दिन में एक बार लिया जा सकता है।

सावधानी

  1. जिन्सेंग को लेना पूरी तरह से सुरक्षित है। इसका कोई भी ज्ञात दुष्प्रभाव नहीं है।
  2. इसका एस्ट्रोजन जैसा प्रभाव होता है।
  3. ज्यादा मात्रा में महिलायों में इसका सेवन वजाईनल ब्लीडिंग, ब्रेस्ट टेंडरनेस, निप्पल का बढ़ा हो जाना का कारण हो सकता है।
  4. सावधानी हेतु गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान इसको नहीं लेने की की सलाह दी गई है क्योंकि इंसानों में इसकी कोई भी नियंत्रित स्टडी नहीं की गई है। इसके अतिरिक्त यह होरमोंस कोप्रभावित करता है।
  5. यह सेक्स होरमोन का स्राव कराता है, इसलिए बच्चों में इसका प्रयोग न करे।
loading...

One thought on “जिनसेंग Ginseng in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*