पतंजलि बादाम रोगन Divya Badam Rogan (Almond Oil) Uses, Benefits, Dosage in Hindi

बादाम रोगन Badam Rogan (Almond Oil) in Hindi, आलमंड आयल, स्वीट अल्मोन्ड तेल, बादाम के तेल को कहते हैं। बादाम तेल को मीठे बादामों से कोल्ड प्रेस करके निकाला जाता है। यह सुनहरे पीले रंग का होता है और इसकी गंध बादामों की तरह की होती है। इसमें असंतृप्त फैटी एसिड की उच्च मात्रा होती है जो कुल वसा का 93% है।

बादाम का तेल अपने कई स्वास्थ्य लाभों के लिए चिकित्सीय रूप में उपयोग किया जाता है। इसमें स्नेहन, सूजन दूर करने के, प्रतिरक्षा-बूस्टिंग और एंटी-हेपेटोटोक्सिसिटी प्रभाव सहित कई गुण होते हैं। इसके आंतरिक सेवन से दिमाग और आंतो की ड्राईनेस दूर होती है। इसे कुछ मात्रा में पीने से इरीटेबल बोवेल सिंड्रोम के लक्षण कम होते हैं। इसका सेवन करने से शरीर में अचछा कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है, उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (एचडीएल) का स्तर बढ़ाता है, जबकि कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (एलडीएल) कम हो जाते हैं।

बादाम रोगन क्या होता है?

बादाम रोगन को स्वीट अल्मोन्ड (Prunus Amygdalus Dulcis) के कर्नल से प्राप्त किया जाता है। बादाम रोगन में फैटी एसिड, लिनोलिक एसिड का 30% तक होता है। उच्च लिनोलिक एसिड ट्रांस-एपिडर्मल वॉटर लॉस को कम करने में योगदान देता है, जिसके परिणामस्वरूप नमी प्रतिधारण बेहतर होता है जिससे जो त्वचा कोमल होती है।

loading...
  • इसे ड्राई स्किन की स्थिति जैसे सोरायसिस और एक्जिमा के इलाज के लिए प्रयोग किया जाता है। इसका उपयोग त्वचा की रंगत और टोन में सुधार लाता है।
  • बादाम तेल में फोलिक एसिड, अल्फा टोकोफेरोल और जिंक पाए जाते हैं जो त्वचा विकारों के उपचार के लिए उपयोगी हैं । यह सदियों से प्रयोग किया जा रहा है।
  • इसे आंतरिक और बाह्य दोनों ही तरीकों से इस्तेमाल किया जाता है।
  • इसे लगाने से मांसपेशियाँ रिलैक्स होती हैं। कॉस्मेटिक रूप से इसमें चमड़ी की सफाई और मॉइस्चराइज़र करने के गुण होते हैं।

यह पेज बादाम रोगन के बारे में हिंदी में जानकारी देता है जैसे कि दवा का कम्पोज़िशन, उपयोग, लाभ/बेनेफिट्स/फायदे, कीमत, खुराक/ डोज/लेने का तरीका, दुष्प्रभाव/नुकसान/खतरे/साइड इफेक्ट्स/ और अन्य महत्वपूर्ण ज़रूरी जानकारी।

  • बादाम रोगन में मौजूद सामग्री क्या हैं?
  • बादाम रोगन के उपयोग upyog क्या हैं?
  • बादाम रोगन के फायदे faide क्या हैं?
  • बादाम रोगन के दुष्प्रभाव या नुकसान nuksan क्या हैं?
  • बादाम रोगन को कब नहीं लेते हैं?
  • बादाम रोगन के संभावित दवा interatcion क्या हैं?
  • बादाम रोगन से जुड़ी चेतावनियां और सुझाव क्या हैं?

Badam Rogan (Almond Oil) is Herbal medicine obtained from the cold pressed Almond kernals. It is edible and used both internally and externally. It is indicated in treatment of dry skin, chapped lips, blemishes, under eye dark circle, constipation, migraine etc. Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

  • दवा का नाम: बादाम रोगन Badam Rogan, Almond Oil, Roghan Badam Shirin, Badam Oil, Sweet Almond Oil
  • निर्माता: पतंजलि
  • उपलब्धता: यह ऑनलाइन और दुकानों में उपलब्ध है।
  • दवाई का प्रकार: हर्बल
  • सक्रिय घटक: ओलेइक एसिड (ओमेगा 9), लिनोलिक एसिड (ओमेगा 6, एलए)
  • मुख्य उपयोग: बाह्य और आंतरिक उपयोग
  • मुख्य गुण: स्नेहन

बादाम रोगन में उपस्थित फैटी एसिड का प्रतिशत

Loading...
  • ओलेइक एसिड 62 – 86%
  • लिनोलिक एसिड 20 – 30%
  • पाल्मेटिक एसिड 4-9%
  • स्टियरिक एसिड मैक्स 3%

बादाम रोगन के घटक Ingredients of Badam Rogan (Almond Oil)

बादाम का तेल

बादाम रोगन के लाभ/फ़ायदे Benefits of Badam Rogan (Almond Oil)

त्वचा के लिए फायदेमंद

  • बादाम तेल विटामिन ई का एक समृद्ध स्रोत है और त्वचा देखभाल उत्पादों के लिए उत्कृष्ट है।
  • बादाम रोगन को त्वचा पर लगाने से त्वचा मॉइस्चराइज़ होती है। इसमें मोनो और पॉलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड, खनिजों की में उच्च मात्रा है। साथ ही इसमें ग्लाइकोसाइड्स भी पाए जाते हैं।
  • यह कोशिकाओं के लिए ग्लिसरॉलव फैटी एसिड उपलब्ध कराता है जो सेल्स के सामान्य रूप से कार्य करने के लिए आवश्यक हैं।
  • बादाम रोगन में विटामिन ए, बी 1, बी 2, बी 6, विटामिन ई और डी भी होते हैं। इन विटामिन की मौजूदगी इसे एंटीऑक्सीडेंट गुण देती है।
  • एंटीऑक्सीडेंट होने से बादाम रोगन, मुक्त कणों को बेअसर करके महत्वपूर्ण सेल संरचनाओं की रक्षा करता है।

यदि आप एक चम्मच बादाम रोगन पीते हैं तो आपको करीब 2 मिलीग्राम विटामिन ई मिलती है। विटामिन ई वसा घुलनशील एंटीऑक्सीडेंट है, जिसे केवल खाद्य पूरक के रूप में ही प्राप्त किया जा सकता है। विटामिन ई झुर्रियों, न्यूरोलॉजिकल बीमारियों जैसे अल्जाइमर रोग और मधुमेह जैसी आंखों के विकार आदि के खिलाफ सुरक्षा देता है। विटामिन ई के सेवन से शरीर में फ्री रेडिकल के कारण होने वाली कोशिकाओं की क्षति से रक्षा करने में मदद मिलती है। विटामिन ई का टॉपिकल एप्लीकेशन त्वचा के पोषण और बालों के विकास में उपयोगी है।

त्वचा पर विटामिन ई लगाने से बहुत से त्वचा लाभ होते हैं । सोरायसिस, एरिथेमा, आदि विटामिन ई के प्रभाव से कम कहोते हैं। विटामिन ई , घावों के निशान और त्वचा पर खिंचाव के निशान को हल्का करता है।

एलर्जी और जलन की समस्या होने पर यह बहुत उपयोगी होता है, यह स्ट्रेच मार्क्स रोकता है और निप्पल की दरारों को ठीक करता है।

यदि चेहरे पर दाग धब्बे हो, झुर्रियां हो रही हो, ड्राई स्किन है तो इसका रेगुलर प्रयोग करके देखें। जिन लोगों का फेस ऑयली है उन्हें इसके इस्तेमाल में सावधानी रखनी चाहिए नहीं तो अकने ब्रेकआउट हो सकता है।

लिप्स का रखे ख्याल

बादाम के तेल से होंठों की मालिश करने से ब्लडका सर्कुलेशन ठीक से होता है और फटे होटों में आराम मिलता है। इसे आप रोजाना अपने लिप्स पर लगा सकते हैं। इसे लगाने से कोई भी नुकसाननहीं है अपितु यह होठों से पेट में जाता है तोभी बहुत लाभ होता है।

आँखों के नीचे काले घेरे में उपयोगी

  • यह आँखों के नीचे के काले घेरे को भी कम करता है।
  • इसे लगाने से त्वचा नरम, और रिलैक्स होती है।
  • सोने से पहले आँखों के नीचे बादाम के तेल से हलकी मालिश करनी चाहिए। ऐसा रोज करने से काले घेरे कम होते हैं।

बालों के लिए लाभकारी

  • इसे लगाने से क्षतिग्रस्त, शुष्क और संवेदनशील बालों में फायदा होता है।
  • बालों का झड़ना रुकता है और जड़ें मज़बूत होती हैं।
  • इससे स्कैल्प की मालिश करने से बालों का ड्राईनेस और रूसी की समस्या दूर होती है।

स्वास्थ्य के लिए उपयोगी

  • बादाम रोगन में एंटी-तनाव], एंटी-ऑक्सीडें], इम्यूनोस्टिमुलेंट],लिपिड कम करने के, और रेचक गुण होते हैं।
  • बादाम मस्तिष्क की शक्ति को संरक्षित करने, मांसपेशियों को मजबूत करने में बेहद फायदेमंद है।
  • इसके सेवन से तांबा, लौह और विटामिन मिलता है।
  • इसे सोने से पहले दूध में मिलाकर लेने से पेट ठीक से साफ़ होता है और आंतरिक रूक्षता दूर होती है।

माइग्रेन में लाभप्रद

  • माइग्रेन जिसे आधा शीशी, आधे सिर का दर्द भी कहते हैं, के शुरू होने की संभावना में इसका नस्य लेने से लाभ होता है।
  • इसकी कुछ बूँदें नाक में डाल कर कुछ देर लेते रहने से आराम मिलता है।
  • अगर माइग्रेन होता हो, तो इसका नस्य लेकर अँधेरे कमरे में लेट जाएँ।

बच्चों के लिए फायदेमंद

  • बादाम रोगन को आप बच्चों की मालिश में इस्तेमाल कर सकते हैं। आप इसे दूध में मिलाकर भी बच्चों को दे सकते हैं।
  • इससे उन्हें बादाम खाने जैसे लाभ मिलते हैं।
  • यह बच्चों में कब्ज़ की समस्या को दूर करता है और दूध की पौष्टिकता भी बढ़ाता है।
  • बादाम रोगन बच्चों के मस्तिष्क, स्किन, आँतों और पूरे स्वास्थ्य के लिए उत्तम है।

बादाम रोगन के चिकित्सीय उपयोग Uses of Badam Rogan (Almond Oil)

बादाम रोगन के अनेकों स्वास्थ्य लाभ है। जो लाभ बादामों को खाने से मिलते हैं वही बादाम के तेल को पीने से भी मिलते हैं। आप इसे त्वचा पर बाहरी रूप से लगा भी सकते हैं। इसे बालों में लगा सकते हैं और बच्चों की मालिश भी कर सकते हैं।

  • आंखों के नीचे काले घेरे Under eye dark circle
  • ऑयब्रो के लिए eyebrows
  • कब्ज Constipation
  • केश तेल Hair oil
  • चमकदार, स्वस्थ त्वचा Radiant, healthy skin
  • चेहरे के लिएFor face
  • तनाव Stress
  • तेज स्मृति Sharper memory
  • थकान Tiredness
  • दमकती त्वचा Glowing skin
  • प्रतिरक्षा में सुधार Improving immunity
  • फटी एड़ी Cracked heels
  • फटे हुए होठ Chapped lips
  • बाल झड़ना Hair fall
  • मजबूत हड्डियों  Stronger bones
  • मस्तिष्क और नसों को मजबूत करना Strengthening brain and nerves
  • मस्तिष्क कार्यों में सुधार Improving brain functions
  • माइग्रेन Migraine
  • मालिश के लिए  For massaging
  • रूखी त्वचा Dry skin
  • रूखे सूखे बाल Dull dry hair
  • रूसी Dandruff
  • शरीर की शक्ति में सुधार Improving body strength
  • स्वस्थ बाल Healthy hair

बादाम रोग़न कैसे इस्तेमाल करते हैं How to Use Badam Rogan (Almond Oil)

  • बादाम रोगन को वस्यक एक चम्मच की मात्रा में ले सकते हैं। इसे आप ऐसे ही या दूध में डाल कर पी सकते हैं। कब्ज़ रहती हो तो इसे सोने से पहले दूध में मिलाकर लेना चाहिए।
  • यह तेल स्वस्थ वसा में समृद्ध है और इसमें प्रोटीन, खनिज और विटामिन की अच्छी मात्रा होती है। इसके पौष्टिक गुणों के अलावा,इसमें औषधीय गुण भी होते हैं।
  • loading...
  • बच्चों को बड़ों को दी जाने वाली मात्रा की आधी मात्रा दे सकते हैं।
  • नाक और कान में ज़रूरत होने पर 2-3 बूँद ड्रॉपर की सहायता से डाल सकते हैं।

त्वचा के लिए

इसे लगाने के लिए बादाम तेल की कुछ बूंदे लें और सर्कुलर मोशन में त्वचा की मालिश करें। ऐसा कम से कम दिन में एक बार करें।

फटे लिप्स के लिए

कुछ बूंदे लेकर, हल्की मालिश करते हुए होठों पर लगा लें।

बालों के लिए

रात में सोने से पहले बादाम रोगन से बालों की जड़ों की सर्कुलर मोशन में मालिश करें। रात भर तेल को बालों में लगा रहने दें और अगले दिन धो दें। ऐसा हर बार बाल धोने से पहले करें जब तक बालों में इम्प्रोवमेंट नहीं हो जाए।

बादाम रोगन के साइड-इफेक्ट्स Side effects/ Contraindications

  • यह बहुत ही सेफ तेल है जिसे सदियों से इस्तेमाल किया जा रहा है।
  • इसके सेवन में किसी विशेष सावधानी की ज़रूरत नहीं है। आप इसे कम मात्रा में शिशु को भी दे सकते हैं।

भंडारण निर्देश

  • सूखी जगह में स्टोर करें।
  • इसे बच्चों की पहुँच से दूर रखें।

दवा के बारे में पूछे जाने वाले कुछ सवाल

क्या इस दवा को एलोपैथिक दवाओं के साथ ले सकते हैं?

हाँ, ले सकते हैं। लेकिन दवाओं के सेवन में कुछ घंटों का गैप रखें।

क्या बादाम रोगन को होम्योपैथिक दवा के साथ ले सकते हैं?

ले सकते हैं।

बादाम रोगन को कितनी बार लेना है?

इसे दिन में 1 बार लेना चाहिए।

क्या बादाम रोगन सुरक्षित है?

हां।

बादाम रोगन के दुष्प्रभाव या नुकसान nuksan क्या हैं?

यह बहुत सेफ है, इसका कोई भी ज्ञात साइड इफ़ेक्ट नहीं है।

क्या इसमें गैर-हर्बल सामग्री शामिल है?

नहीं।

क्या बादाम रोगन एक आदत बनाने वाली दवा है?

नहीं।

क्या यह दिमाग की अलर्टनेस पर असर डालती है?

नहीं।

क्या बादाम रोगन लेने के दौरान ड्राइव करने के लिए सुरक्षित है?

हाँ।

क्या मैं इसे पीरियड्स के दौरान ले सकती हूँ?

इसे लिया जा सकता है।

क्या मैं इसे गर्भावस्था के दौरान ले सकती हूँ?

हाँ।

क्या एक मधुमेह व्यक्ति इसे ले सकता है?

हाँ।

क्या इसे बच्चों को दे सकते हैं?

हाँ।

पतंजलि बादाम रोगन DIVYA BADAM ROGAN की कीमत क्या है?

दिव्य बादाम रोगन की 60 ml की कीमत Rs 150 है।

क्या पतंजलि आलमंड आयल और पतंजलि बादाम रोगन अलग उत्पाद हैं?

  • हाँ, बिलकुल। पतंजलि आलमंड आयल केवल और केवल बाह्य प्रयोग के लिए है। पतंजलि आलमंड आयल, एक हेयर आयल है जिसे बालों के लिए इस्तेमाल करते हैं।
  • बादाम रोघन, बादाम की गिरी को कोल्ड प्रेस करके निकाला जाता है और यह बादामों का तेल है। यह अन्य बीजों के तेल की तरह खाने योग्य है।

कृपया किसी भी तेल के आंतरिक प्रयोग से पहले, उत्पाद के लेबल पर पढ़ें कि क्या यह आंतरिक प्रयोग के लिए ठीक है या नहीं।

loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.