जाइलोरिक Zyloric (Allopurinol) tablet Detail and Uses in Hindi

यूरिक एसिड की दवा zyloric 100 in hindi, zyloric 100 से यूरिक एसिड का घरेलू इलाज, जानिये यूरिक एसिड के लक्षण और zyloric side effects and cost of zyloric 100. How to use zyloric to treat uric acid.

जाइलोरिक एक ऐलोपथिक दवाई है जो की प्रिसक्रिप्शन ड्रग (डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन पर मिलने वाली ) है। ℞ निशान का मतलब है “प्रिस्क्रिप्शन”। यह सिंबल लैटिन भाषा में प्रयोग किये जाने शब्द recipere का संक्षिप्त नाम है जिसका शाब्दिक मतलब है “लेने के लिए” या “इस प्रकार लें” । इस पेज पर इस दवा के बारे बताया गया है जो की केवल जानकारी देने के उद्देश्य से है।

जाइलोरिक (एलोप्यूरीनॉल), एंजाइम अवरोधक enzyme inhibitor नामक दवाइयों के एक समूह से संबंधित है जो शरीर में विशेष रासायनिक परिवर्तन होने की दर को नियंत्रित करती है। इसका उपयोग गुर्दे में कैल्शियम की पथरी सहित शरीर में बढ़े हुए यूरिक एसिड, गाउट और अन्य कुछ कंडीशन में प्रयोग की जाती है। वयस्कों के लिए सामान्य खुराक एक ज़िलोरिक टैब (100, 200, 300 mg) मिलीग्राम टैबलेट है। इस दवा का प्रयोग, मात्रा आपको डॉक्टर के डायग्नोसिस से ही सही पता लगेगी।

दी गई जानकारी का प्रयोग सेल्फ-मेडिकेशन के लिए न करें। यदि आपके कोई संदेह या प्रश्न हैं, या आप किसी चीज़ के बारे में निश्चित नहीं हैं, तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से पूछें।

loading...

Allopurinol is known chemically as 1,5-dihydro-4H-pyrazolo [3,4-d] pyrimidin-4-one. It is a xanthine oxidase inhibitor which is administered orally. Each white tablet contains allopurinol and the inactive ingredients corn starch, lactose monohydrate, magnesium stearate, povidone and purified water.

Allopurinol acts on purine catabolism, without disrupting the biosynthesis of purines. It reduces the production of uric acid by inhibiting the biochemical reactions immediately preceding its formation.

Allopurinol tablets are indicated in the management of patients with signs and symptoms of primary or secondary gout (acute attacks, tophi, joint destruction, uric acid lithiasis, and/or nephropathy); the management of patients with recurrent calcium oxalate calculi whose daily uric acid excretion exceeds 800 mg/day in male patients and 750 mg/day in female patients.

Loading...

The average dose is 200 to 300 mg/day for patients with mild gout and 400 to 600 mg/day for those with moderately severe tophaceous gout. Dosage requirements in excess of 300 mg should be administered in divided doses. The minimal effective dosage is 100 to 200 mg daily and the maximal recommended dosage is 800 mg daily.

The most common reactions of medicine include diarrhea, nausea, alkaline phosphatase increase, SGOT/SGPT increase; Rash, maculopapular rash and Acute attacks of gout. Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

  • ब्रांड का नाम: GlaxoSmithKline Pharmaceuticals
  • जेनरिक: एलोप्यूरीनॉल Allopurinol
  • चिकित्सीय: antigout agents, antihyperuricemics
  • फार्माकोलॉजिक: xanthine oxidase inhibitors

केटेगरी सी C – पशु प्रजनन के अध्ययन से भ्रूण पर प्रतिकूलadverse प्रभाव दिखा। गर्भवती महिलाओं पर कोई पर्याप्त, नियंत्रित अध्ययन नहीं किया गया है।  लेकिन संभावित लाभ तथा संभावित जोखिम को तौलते हुए इसको डॉक्टरों द्वारा गर्भावस्था  में प्रयोग किया जा सकता है।

  • उपयोग: गठिया संधिशोथ और नेफ्रोपैथी के बार-बार होने को रोकने के लिए, उपचारमाध्यमिक हाइपरराइसीमिया
  • कार्य: जेंथिन ऑक्सीडेज की कार्रवाई को इनहिबिट करके यूरिक एसिड के उत्पादन को रोकता है।
  • चिकित्सीय प्रभाव: सीरम यूरिक एसिड स्तर कम करना।
  • वितरण: ऊतक और स्तन के दूध में व्यापक रूप से वितरित।
  • निषेध: अतिसंवेदनशीलता।
  • सावधानी से उपयोग करें: गठिया केअटैक में,गुर्दे के सही काम न करने में; निर्जलीकरण, स्तनपान:बहुत कम प्रयोग किया जाता है।
  • प्रतिकूल प्रतिक्रियाएं / साइड इफेक्ट्स: हाइपोटेंशन, फ्लशिंग, उच्च रक्तचाप, ब्राडीकार्डिया, और दिल की विफलता; , हेपेटाइटिस, मतली, उल्टी; गुर्दे की विफलता, हेमट्यूरिया त्वचा: दाने (दाने के पहले संकेत पर दवा बंद कर देना), अतिसंवेदनशीलता प्रतिक्रियाएं।

वयस्क और बच्चे (10 साल) : शुरू में 100 मिलीग्राम / दिन। दवा की स्ट्रेंग्थ यूरिक एसिड की मात्रा के अनुसार साप्ताहिक अंतराल पर बढ़ाया जा सकता है।

ज़ाइलोरिक के घटक Composition of Zyloric tablet

एलोप्यूरिनॉल Allopurinol

ज़ाइलोरिक के चिकित्सीय उपयोग Uses of Zyloric tablet

ज़ाइलोरिक को पेशाब में यूरेट की सांद्रता को कम करने और यूरिक एसिड के जमाव को रोकने या रिवर्स किया जाता है।

यह दवा यूरिक एसिड के जमाव के कारण होने वाले लक्षणों को कम करने के लिए दी जाती है जैसे की इडियोपैथिक गाउट, यूरिक एसिड लिथियसिस; तीव्र यूरिक एसिड नेफ्रोपैथी; नियोप्लास्टिक रोग आदि।

loading...

ज़ाइलोरिक को 2,8 डायहाइड्रोक्सीडेडेनिन (2,8-डीएचए) किडनी की पथरी जो की एडिनिन फॉस्फोरीबोसेसिलट्रांसफेरेज की कमी से संबंधित है, के प्रबंधन के लिए भी दिया गया है।

गाउट, रक्त में यूरिक एसिड के उच्च स्तर के कारण होता है। यदि रक्त में बहुत अधिक यूरिक एसिड मौजूद है, तो इसमें से कुछ अक्सर जोड़ों में सुई की तरह क्रिस्टल बन सकते हैं। शरीर इनसे लड़ने की कोशिश करता है, जो दर्द और सूजन का कारण बनता है। गाउट सभी प्रकार के लोगों को प्रभावित करता है अधिकतर यह एक वंशानुगत दिक्कत है।

आपके रक्त में यूरिक एसिड की मात्रा को नियंत्रित करने, क्रिस्टल बनना रोकने के लिए, और दर्द और सूजन से बबचने के लिए यह ज़रूरी है यूरिक एसिड का स्तर रक्त में कम हो।

ज़ाइलोरिक के सेवन के 2-6 सप्ताह के बाद से गाउट में इम्प्रूवमेंट दिख सकता है।

डॉक्टर यूरिक एसिड स्तर कम होने तक सहायता के लिए अतिरिक्त दवाइयों को दे सकते हैं।

सेवन विधि और मात्रा Dosage of Zyloric tablet

  1. नोट: यह प्रिस्क्रिप्शन ड्रग है।
  2. एक गोली प्रतिदिन लें।
  3. प्रत्येक दिन एक ही समय में पर टेबलेट लेने का प्रयास करें।
  4. इसे पानी के साथ लें।
  5. खाली पेट न लें। इसे भोजन करने के बाद लें।
  6. या डॉक्टर द्वारा निर्देशित रूप में लें।

सावधनियाँ/ साइड-इफेक्ट्स/ कब प्रयोग न करें Cautions/Side-effects/Contraindications

  1. दवाइयों को बच्चों की पहुंच से बाहर रखें।
  2. ठीक से उपयोग नहीं किए जाने पर दवाएं हानि पहुंचा सकती हैं।
  3. कुछ मामलों में अप्रत्याशित त्वचा की प्रतिक्रिया, जैसे दाने निकलना आदि हो सकते हैं।
  4. दवा की ओवरडोज़ से मतली, उलटी, चक्कर आना आदि लक्षण प्रकट होते हैं।
  5. दवा के प्रति इन्टोलेरेंस छोड़ कर इसका कोई अन्य कॉण्ट्राइंडिकेशन नहीं है।
  6. किडनी के सही फंक्शन न होने पर, इसे लेने में सावधानी रखनी चाहिए।
  7. गर्भावस्था में इसकी सेफ्टी का कोई पर्याप्त प्रमाण नहीं है, हालांकि इसे बहुत वर्षों से गर्भवस्था के दौरान प्रयोग किया जाता रहा है। गर्भावस्था में जीलोरिक का प्रयोग तभी किया जाता है जबकि कोई भी अन्य सुरक्षित विकल्प न हो और बीमारी माँ या बच्चे के लिए जोखिम रखती है।
  8. एलोप्यूरिनॉल का दुष्प्रभाव हो सकता है अपने डॉक्टर से संपर्क करें यदि इनमें से कोई लक्षण गंभीर हैं या दूर नहीं हो रहे हैं:
  9. पेट की ख़राबी
  10. दस्त
  11. बेहोशी
  12. निम्नलिखित लक्षण असामान्य हैं, लेकिन यदि आप उनमें से किसी एक का अनुभव करते हैं, तो तुरंत अपने चिकित्सक को संपर्क करें:
  13. त्वचा के लाल चकत्ते
  14. मूत्र करने में दर्द
  15. मूत्र में रक्त
  16. आँखों की जलन
  17. होंठ या मुँह की सूजन
  18. बुखार, गले में खराश, ठंड लगना, और संक्रमण के अन्य लक्षण
  19. भूख में कमी
  20. अप्रत्याशित वजन घटाने
  21. खुजली
  22. एलोप्यूरिनॉल का सेवन अन्य दुष्प्रभावों का कारण हो सकता है इसलिए दवा को लेते समय यदि कोई असामान्य समस्या है, तो अपने चिकित्सक को संपर्क करें।
loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.