पतंजलि दिव्य केश Detail and Uses in Hindi

Loading...

पतंजलि दिव्य केश तेल तेल Patanjali Divya Kesh Taila in Hindi एक हर्बल पेटेंटेड तेल है जो दिव्य फार्मेसी के द्वारा निर्मित है। यह हर प्रकार के बालों पर लगाया जा सकता है। इसे लगाकर सिर की मालिश, चम्पी कर सकते है। इसमें औषधीय घटक है जो बालों की मजबूती और रंग को अच्छा करते हैं। इसको लगाकर मालिश करने से बालों का गिरना कम हो सकता है। यह बालों की रूसी को दूर करने में मदद कर सकता है।

इसमें भृंगराज, मंजीठ, हल्दी, दारू हल्दी इत्यादि है जो की स्कैल्प के रोगों को दूर करते है और बालों की जड़ों को मजबूत करते हैं। इसमें प्रयुक्त हल्दी, दारुहल्दी, एंटीबैक्टीरियल है। चन्दन ठंडक देने वाला है।

मुलेठी को केश तेल बनाने में प्रयोग करते हैं क्योंकि यह बालों का गिरना रोकने में कारगर है। इसका प्रयोग बालों को डैमेज से बचाता है। मुलेठी पोर्स को खोलती है, स्कैल्प को आराम पहुँचाती है और रूसी को नष्ट करती है। मुलेठी रूसी, बाल गिरना और गंजेपन में बहुत फायदा करती है।

भृंगराज बालों के लिए प्रयोग की जाने वाली आयुर्वेद की मुख्य वनस्पति है। इसके पूरे पौधे को औषधीय प्रयोग के लिए इस्तेमाल किया जाता है। भृंगराज बालों को काला करता है और उन्हें मजबूती देता है। इसका तेल के साथ प्रयोग करने पर है अच्छी नींद लाने में भी सहयोगी है। बालों के सफ़ेद होने और गंजेपन की समस्या में भृंगराज  विशेष उपयोगी है।

पतंजलि दिव्य केश तेल का बेस तेल तिल का तेल है। भृंगराज बालों के लिए उत्तम औषधि है। तिल का तेल, भारी, संकोचक और स्वाभाव से गर्म है। मालिश करने के लिए यह बहुत ही लाभकारी है। तिल का तेल बालों को पोषण देता है। यह बालों की नमी बनाये रखने में सहयोगी है। इसका प्रयोग बालों का टूटना, कमजोरी और रूखापन दूर करता है। इसका प्रयोग बालों का असमय सफ़ेद होना रोक, बालों को उनको नेचुरल रंग देने में सहायक है।

  • उपलब्धता: यह ऑनलाइन और दुकानों में उपलब्ध है।
  • निर्माता: पतंजलि दिव्य फार्मेसी
  • Size: 100 ml
  • Price: INR 85.00

Divya Kesh Taila, is an herbal oil from Divya Pharmacy. It is based on Ayurvedic principal and helps in hair fall, dandruff and other common hair problems. It contains Sesame Oil base.

loading...

Here is given more about this oil, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and how to use in Hindi language.

पतंजलि दिव्य केश तेल के घटक Ingredients of Patanjali Divya Kesh Taila

प्रत्येक 100 ml में

  1. भृंगराज Bhringraja 10 gm
  2. मंडूकपर्णी Mandukparni 5 gm
  3. आंवला Amla 5 gm
  4. मंजीठ Manjeeth 1 gm
  5. लोध्र Lodhra 1 gm
  6. चन्दन Shweta Chandana 1 gm
  7. बला Bala 1 gm
  8. हल्दी Haldi 1 gm
  9. दारुहल्दी Daruhaldi 1 gm
  10. नागकेशर Naag keshar 2 gm
  11. प्रियांगु Priyangu 2 gm
  12. मुलेठी Mulheti 1 gm
  13. कमल Kamal 1 gm
  14. अनंतमूल Anant mool 1 gm
  15. केतकी Ketki 1 gm
  16. रत्ती Gunja 1 gm
  17. जटामांसी Jatamansi 2 gm
  18. नील Neel 1 gm
  19. नागरमोथा Nagarmotha 2 gm
  20. बबूल फली Babul Phali 1 gm
  21. रतनजोत Ratanjot 3 gm
  22. तिल का तेल Sesame oil QS

पतंजलि दिव्य केश तेल के लाभ / फ़ायदे Benefits of Patanjali Kesh Taila

  1. तेल लगाकर अच्छे से चम्पी करने से बालों का गिरना कम होता है।
  2. इससे बाल घने हो सकते है।
  3. तेल लगाकर मालिश करने से बाल मुलायम और मज़बूत होते हैं।
  4. यह तेल आसानी से उपलब्ध है।

पतंजलि दिव्य केश तेल के उपयोग Uses of Patanjali Divya Kesh Taila

पतंजलि दिव्य केश तेलको, आयुर्वेद में बताए सम्पूर्ण बालों की देखभाल (केशवर्धन/बालों को बढ़ाना, केशपातशमन/बालों का गिरना रोकना, और पालित/सफ़ेद होना) के लिए प्रयोग किया जा सकता है।

  1. सिर दर्द Headache
  2. असमय बलों का गिरना Premature Hair Decay
  3. बालों का असमय सफ़ेद होना Grey Hair
  4. बालों में रुसी Dandruff
  5. रूसी dandruff
  6. सिर की मालिश
  7. बालों का लम्बा करना

प्रयोग की विधि How to Use?

  1. यह तेल केवल बाह्य प्रयोग के लिए है।
  2. इसे एक हेयर तेल की तरह प्रयोग करते है।
  3. तेल को बालों की जड़ों पर उँगलियों की सहायता से लगायें।
  4. जड़ों और बालों में तेल लग जाने पर हल्के हाथ से स्कैल्प की मालिश करें।
  5. इस तेल को ऑनलाइन या आयुर्वेदिक स्टोर से ख़रीदा जा सकता है।

पतंजलि आलमंड हेयर ऑयल तेल संभावित साइड इफेक्ट्स / रिव्युReview / नुकसान

  1. इसे मसाज आयल की तरह इस्तेमाल करें और कुछ घंटे बाद बाल धो लें। अगर आप को सूट करे तो प्रयोग करते रहें।
  2. जिन समस्याओं के लिए इसे लगाया गया वे बालों की समस्याएं इसके लगाने से ठीक नहीं हुई। कोई भी आंतरिक कारण होने पर बालों का गिरना मात्र तेल लगाकर ठीक नहीं किया जा सकता। हो सकता है आयरन, विटामिन बी काम्प्लेक्स या मल्टीविटामिन की कमी हो।
  3. तिल तेल थिक होता है। कुछ में यह बालों को अधिक चिपचिपा बनाने वाला लगा।
  4. इसे धोने के लिए ज्यादा शैम्पू की ज़रूरत हो सकती है।
  5. कुछ लोगों को इसकी गंध पसंद नहीं आती। यह एक पर्सनल चॉइस है।
  6. अगर रात को इसे लगाकर सोते हैं, तो सिर के नीचे तौलिया या कोई अन्य मोटा कपड़ा लगा लें जिससे तकिया में गंध और तेल न लग जाए।

इसे लगाने पर किसी विशेष प्रकार की उम्मीद न करें। यह एक सामान्य तेल है। अगर आप ध्यान से देखेंगे तो आप को पता लगेगा कि यह मुख्य रूप से तिल का तेल है। इसमें सबसे ज्यादा भृंगराज की मात्रा है वो भी 10 ग्राम प्रति 100 ml। इसके बाद 5 ग्राम – 5 ग्राम प्रति 100 ml मंडूकपर्णी और आंवला है। रतनजोत 3 ग्राम प्रति 100 ml है। बाकी की जड़ी बूटियाँ केवल 1 से 2 ग्राम प्रति 100 ml हैं।

इसके इस्तेमाल से बालों में कोई विशेष ग्रोथ नहीं दिखाई देती। पैटर्न बाल्डनेस, गंजेपन, एलोपेशिया में इसे लगाने से कोई विशेष फर्क नहीं पड़ेगा।

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*