हर्पिस Herpes Simplex Infection In Hindi

हर्पिस सिंप्लेक्स, एक संक्रमण / इन्फेक्शन है जो की वायरस, हरपीज सिंप्लेक्स वायरस (एचएसवी) HSV के कारण होता है। हरपीज सिंप्लेक्स, का नाम ग्रीक भाषा के शब्द हर्पीज़ से लिया गया है, जिसका मतलब होता है रेंगना to creep or crawl, क्योंकि इसमें त्वचा पर होने वाले घाव फैलते रहते हैं, चाहे वह व्यक्ति के शरीर में हों या एक व्यक्ति से दुसरे तक हों। हर्पीज़ का संक्रमण न केवल त्वचा बल्कि केंद्रीय तंत्रिका तंत्र को भी प्रभावित करता है।

Loading...

Alternative Names: Cold sore, Fever blister, Oral herpes simplex, Herpes labialis, Herpes simplex

हरपीज सिंप्लेक्स (एचएसवी) के दो प्रकार Two types of HSV

इसका संक्रमित शरीर के हिस्से के आधार पर दो प्रकार का वर्गीकरण किया गया है, ओरल Oral और जेनाइटल Genital. ओरल हर्पीज़, मुंह के हिस्सों को प्रभावित करती है और जेनाएटल प्रजनन अंगों को।

ओरल हर्पीज़ में मुंह या चेहरे के चारों ओर कोल्ड सोर्स cold sores (घाव) या छाले हो जाते हैं। जेनाएटल Genital herpes में जननांगों, कूल्हों या गुदा क्षेत्र के हिस्से में पीले तरल युक्त दर्द भरे छाले हो जाते हैं। हरपीज संक्रमण से आँखे, त्वचा, तथा शरीर के अन्य भागों भी प्रभावित हो सकते हैं। यह वायरस कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली के लोगों में खतरनाक हो सकता है।

एचएसवी टाइप 1 Oral herpes / Herpes simplex virus type 1 (HSV-1): यह ओरल हेर्पिज़ का सामान्य कारण है, लेकिन यह जननांग को भी प्रभावित कर सकता है।

यह मुख में कोल्ड सोर cold sore or fever blister का कारण है। इसमें ब्लिस्टर (छाले) होठों, मुँह के चारों ओर, चेहरे पर, मसूड़ों में या जीभ पर होते हैं।

एचएसवी टाइप 2 Genital herpes / Herpes simplex virus type 2 (HSV-2): यह जननांग हर्पीस के सामान्य कारण है, लेकिन यह भी मुंह को भी संक्रमित कर सकता है। इसमें घाव, पेनिस, योनि, कूल्हों, या गुदा पर होते हैं। महिलाओं में योनि के अंदर घाव हो सकते है। recurrent, painful, vesicular and ulcerative disease of the genitals.

loading...

हरपीज के लक्षण HERPES SIMPLEX SIGNS AND SYMPTOMS

हर्पिज़ HSV सीधे संपर्क के माध्यम से फैलता है। कुछ लोगों में इसका कोई विशेष लक्षण नहीं होता है। कुछ में, वायरस के शरीर में घुसने के स्थान पर घाव हो जाते हैं जो की फफोले में बदल जाते हैं तथा उनमें खुजली और दर्द हो जाता है, और कुछ समय में ठीक हो जाते हैं। पहली बार संक्रमण के लक्षण, संक्रमित व्यक्ति के साथ संपर्क करने के 2 से 20 दिनों के बीच दिखाई देता है।

झुनझुनी Tingling, खुजली itching, या जलन or burning: ब्लिस्टर या फफोले पड़ने से पहले त्वचा पर झुनझुनी, खुजली, या एक दिन-दो दिन तक जलन हो सकती है।

घाव Sores: त्वचा पर तरल पदार्थ से भरे फफोले दिखाई दे सकते हैं। फफोले, कुछ समय में खुल जाते हैं जिनसे तरल पदार्थ रिस्ता है और कुछ समय में परत बनकर ठीक हो जाता है। घाव 7 से 10 दिनों तक शरीर पर रह सकते हैं।

आँखों का इन्फेक्शन: कभी कभी सिंप्लेक्स वायरस एक या दोनों आँखों में फैल सकता है। यदि ऐसा होता है, तो आँखों में दर्द, प्रकाश के प्रति संवेदनशीलता, और आंख में किरकिरी महसूस कर हो सकती है।

पेशाब में समस्याएं: हर्पिज़ के कारण में पेशाब में जलन हो सकती है। महिला में संक्रमण हो तो योनि से डिस्चार्ज होता है।

फ्लू जैसे लक्षण: हर्पिज़ में बुखार, मांसपेशियों में दर्द, गर्दन या कमर के लिम्फ नोड्स (ग्रंथियों) में सूजन हो सकती है।

हर्पीस के अन्य लक्षणों में शामिल हैं: गले में जलन, निगलने में कठनाई, मसूड़ों में घाव, मसूड़ों में घाव के कारण दांतों को निकल जाना, मांसपेशियों में दर्द, आदि।

ओरल हर्पिज़ के लक्षणों को दूर होने में २-३ सप्ताह और जेनाएटल हर्पीस के लक्षणों को दूर होने में २-६ सप्ताह हो सकते हैं।

हर्पिज़ HSV कैसे फैलता है?

ओरल और जेनाएटल हर्पीस, दोनों डायरेक्ट कांटेक्ट से फैलते हैं।

जेनाएटल हर्पीस, सेक्सुली ट्रांसमिटेड डिसीज़ sexually transmitted disease/infection (STD/STI) caused by a common virus called herpes simplex, है।

यह यौन संपर्क के माध्यम से ही फैलता है। प्रभावित महिला या पुरुष के सेक्स संबंधों से जैसे की वजाइनल या ऐनल सेक्स द्वारा यह फ़ैलता है। genital sores contain the herpes virus that can be passed to another person during sexual contact। जिसे जननांग का हर्पिज़ हो वो अपने शरीर के दूसरे हिस्सों में, ब्लिस्टर को छूने के बाद, इन्फेक्टेड हाथों से अन्य अंगों को छू कर, यह रोग फैला सकता है।

एचएसवी -1 Oral herpes, एक वयस्क से बच्चों में, चूमने से Kissing, खाना शेयर करने से, बच्चे के गालों को छूने से और किसी भी तरह के मुँह से कांटेक्ट से हो सकता है। एक वयस्क जो की वायरस से संक्रमित हो लेकिन उसके घाव न भी हो वो वायरस को फैला सकता है। वयस्क से वयस्क में यह चीजों के शेयर करने से जैसे की रेज़र, लिप बाम, बर्तन, जूठे खाने आदि से हो सकता है।

संक्रमित माँ से यह रोग प्रसव के दौरान बच्चे में जा सकता है।

एक बार आप एचएसवी -1 या एचएसवी -2 से प्रभावित होने पर क्या होता है?

एक बार संक्रमित होने पर, वायरस हमेशा के लिए तंत्रिका कोशिकाओं में रहता है। यह कभी भी लक्षण प्रकट कर सकता है। कभी यह निष्क्रिय हो जाता है और कभी सक्रिय लेकिन यह यह शरीर से नहीं निकलता। जैसे है शरीर को कुछ ट्रिगर मिलते हैं यह पुनः सक्रिय हो जाता है। कुछ ट्रिगर नीचे दिए गए हैं।

  1. इम्युनिटी की कमी
  2. बुखार
  3. स्ट्रेस
  4. किसी तरह की बीमारी
  5. महिलायों में पीरियड्स
  6. धूप

हरपीज सिंप्लेक्स संक्रमण कैसे पता लगाया जाता है?

संक्रमण के दौरान, त्वचा विशेषज्ञ अक्सर घावों को देखकर हरपीज सिंप्लेक्स संक्रमण का पता लगा सकते हैं। पुष्टि करने के लिए, त्वचा विशेषज्ञ, स्वाब लेकर प्रयोगशाला जांच भेज सकते हैं। जब लक्षण न हों तो रक्त परीक्षण / ब्लड टेस्ट से सिंप्लेक्स वायरस का पता लग सकता है।

रोग का उपचार

क्योंकि इस रोग का उपचार नहीं है, इसलिए लक्षणों को दूर करने के लिए एंटीवायरल दवाएं और एंटीवायरल क्रीम या मरहम जलन आदि को दूर करने के लिए दी जाती हैं।

प्रिस्क्रिप्शन एलोपैथिक एंटीवायरल दवाएं जो की दोनों तरह की हर्पिज़ के लिए प्रयोग की जाती हैं:

  • फैम्सिक्लोविर Famciclovir
  • ऐसिक्लोविर Acyclovir

हर्पीस से बचने का तरीका Prevention

हर्पीस से बचने का एक ही तरीका है की वायरस के संपर्क में न आया जाए। लैंगिक, मौखिक या गुदा सेक्स के द्वारा यह संक्रमित व्यक्ति से स्वस्थ्य व्यक्ति में पहुँच जाता है। कंडोम से भी इसका बचाव मुश्किल है क्योंकि यह किसी अन्य एक्सपोज्ड हिस्से पर हुए ब्लिस्टर से यह संक्रमण फैला सकता है। किसी अन्य यौन संचारित बीमारी (एसटीडी) की ही तरह इससे बचने का सबसे पक्का तरीका है कि अनजान के संग संभोग न किया जाए।

यह एक वायरल रोग है और इसके संक्रमण को रोकने के लिए कुछ बातें हमेशा ध्यान में रखनी चाहिए।

ओरल हर्पिज़ में:

किसी का चुंबन नहीं करें।

ओरल यौन संबंध / ओरल सेक्स न करें ।

इन्फेक्टेड हाथों से बच्चों के गालों को न छुएँ।

हाथों से ब्लिस्टर छूने के बाद हाथ अच्छे से धोएं।

बर्तन, कप, तौलिए, टूथ पेस्ट,और लिप बाम, रेज़र, साबुन, आदि शेयर न करें।

जननांग हर्पिज़ में:

यौन सम्बन्ध न बनायें।

हरपीज सिंप्लेक्स संक्रमण / इन्फेक्शन का कोई भी इलाज उपलब्ध नहीं है। At present, there is no cure for HSV-2 infections, but medications can treat symptoms and control outbreaks. ज्यादातर लोगों में HSV का प्रकोप एक साल में कई बार होता रहता है। समय बीतने के साथ बार-बार होने वाला संक्रमण धीरे-धीरे कम हो जाता है। डॉक्टर के कंसल्टेशन के बाद एंटीवायरल दवाएं ली जा सकती हैं जो की लक्षणों को दूर करती हैं।

loading...

90 thoughts on “हर्पिस Herpes Simplex Infection In Hindi

  1. Dear mam
    Mujhy genitical herps h to kya m pury life aciclovir 400mg ly sakta hu esy koi or problem v hoga
    Ples mam tell me

  2. मैडम यह त्रिफला क्या होता है कहां मिलता है प्लीज इतनी सी हेल्प करना

  3. mam ek ladka ko hsv-2 huwa tha 2 sal se tha usko …o aclovir 800 mg bd liya 10 din aur sath me pudena pati ka rash ek chamch subah, dhopahar, sam t.d s liya 2 mah aur giloye ka tablet bd liya 2 mah , to uske hsv-2 tik ho gaya jo 3 sal ho gaya avi tak aur kuch nahi huwa usko …kiya yah ilaj sahi hai kiya ..o to bilkul tik ho gaya ..plz bataye eske bare me ….

    • nahi, ye apane aap 3 month se lekar 2 saal me dab jata hai, isake infection ko achchha khana aur immunity badhane wali dawaiyon se kam kiya ja sakata hai

  4. मुझे hsv 2 पॉजिटिव आया लेकिन मेरी पत्नी को यह negative आया तो यह कैसे हो सकता है कि उसे यह रोग नही है और मुझे हो जाये मैने कभी किसी के साथ सम्बन्ध नही बनाये क्या टेस्ट रिपोर्ट्स गलत भी हो सकती है please tell me how it is possible

  5. mem muje 2 months pahle herpes hua tha wo time se thk ho gya tha … ab kuch dino se mere panic per kuch marks ho gye h.. or meri wife k bhi fever sath m hi gya.. uski puri body m pain hota h.. or bhot white diecharge hota h.. to iska matlab usko bhi herpes hua hai ya fir ye normal fever hai…

  6. Mam pregnant lady thirpala kha sakti h kya.. Isse baby ko koi problem too nhi hogi na… Please tell me.. Because meri wife abhi pregnant h.. So please tell me

  7. Dr. Mere herpes rog ko hue sirf 3 din hue hai. Mene medicine li hai ye min. Kitne dino me control ho Sakta hai? Because chest me hua hai to koi kapda bhi n pagan pa raha hu.
    Ye Meri I’d hai.
    Ravilmp10@gmail.com

  8. Mam ye bataye ..ki mere ho harpiz hai aur avi mere pinis me kuch ghaw nahi hai …to my bina nirod se wafe ke sath sex kar sakta hu kiya …agar pinis me ghaw avi nahi hai to vi ye harpiz forward hota hai kiya.. plz bataye

  9. Mam mujhe Harpese 10 sal se hai aur thik nhi ho pa raha hai aur janha Harpese hota hai wanha bad me white dag chhod Janta hai white dag kya thik ho Sakte hai

    • जी ये हर्पिस का वायरस पूरी बॉडी में होता है , लेकिन इन्फेक्शन नाजुक अंगो पर होता है, तो ये कहीं भी हो सकता है.

  10. Mam mere ko 2013 se harpiz hsv-2 hai jo aj tak pinis and moth me infection hote rahta hai …my allopathy aurved me and homoeopathy me ilaj karwa ke bahut dekha par my tik hi nahi ho pa raha hu …my kiya karu kaha ilaj karaw samj me nahi a raha hai plz kuch to ..bataye mam ..

  11. Mam Ye bataye ki es hsv-2 ka ilaj aj tak kahi nahi khoja gaya hai Kiya… iska pura negative ilaj nahi hai kiya ..aurved ya hompethey ya unani ya allopathy ya kahi iska koi ilaj hai kiya piz bataye na …my dr. Ko dekha dekha ke thak gaya hu …par negative nahi ho raha hai

  12. Mam mujhs harpes lipes main 1 month baad ho ja rhe hai
    Jb mujhse gale main dard or kharash hoti hai sath main lipes main thode se dane nikal aate hai
    Or main safi trifala bhi kha rhi hun

    Mam mujhse kon sa blood check karwana chahiye

  13. Mam mujhy herps h or m dr se dehkha v raha hu or herps thik v h per mam 2din pahly mery sir k bal knichy chota sa red ho gaya y herps k effect h ya kuch ot

  14. SAR MERA-51 YEAR HI 2 YEAR PAHELA HARHISH GUPTANG ME HUA THA PAER AB 15 15 DIN ME HOTA HE ELAJ BATAVO ME ACCOUNTANT KA WORK -12 KALAK KARTA HU KOI SARI DAVA BATAVO JISSE VO KAYAM NABUD HO SAKE

    • Ji isaka koi pakka ilaj nahi hai. Bas dawa lete rahiye jab jab ho.
      Samanyataya yah 1-2 saal me pane app dab jata hai.
      Isake sath aap taaje fal aur sabji jyada khayen.
      Roj subah Triphala ka kadha piyen kam se kam 6 months, ye aap ki shareer li immunity bachayega jisase hsb men laabh milega.

    • jab jab immunity weak hogi ye hoga. Triphala khaya kariye aur taaje fal aur sabji.
      koi jarrori nahi, ye kabhi bhi ho sakata hai lekin pahale outbreak ke baad chances kam hote hain

    • Never donate blood, if urgent then told doctor about your infection. ye jaanlewa bimari nahi hai but kanji bhi Osaka virus Chatham nahi Hota hai. 1-2 saal men apane app surpress ho jata hai.

    • Ji koi pakka ilaj nahi hai, koi bhi dawa lijiye 6-24 month men apane aap +ve ho jaayega.
      Saf safayi ka dhyan rakhen, taaji sabji aur fal khayen.

      Ayurvedic Triphala Churn 2 time 6 month tak len.

  15. sar hame 2014 me hua HSV2 acivir 400 dt
    dawa khay 6 month tab bhi sahi nahi ho raha hai mai paresan hu 5 se 6 din me ling me ghaw ho jata hai dawa khate hai to 5 din me thick ho jata hai eska upay batay plese mera age 20 ers

  16. क्या husband or wife दोनो के hsv होने पर सन्तान पैदा हो सकती है या नही हम दोनो को है

  17. sir mere kapal pr 3mah pahle ghav ho gaya tha, doctor se dikhane pr pata chala ki harpic ho gaya hai . Jees jagah pr ghav huya tha vaha avee vi drd karta hai .eska kya upay hai

  18. Sir mere pati k ear m harpiz btaya h.. Kya yeh bar bar ho jayega? Kya yeh sahi nhi hota dwai se? Kya sex krne se yeh mjhe bhe ho skta h ?

  19. Herpes hsv-2 ka ilaj hai Aurved me es virus ko Aurved upchar se negative kiya ja sakta hai ….iska ilaj hai…
    Www.malaivelsiddhahospital.com
    Es hospital me hsv ka garati ilaj hai bolte hai jo is virus ko pagetive se negative kiya kiya …ja sakta hai… aur iska pura 100% negative karne ka ilaj hai bolte hai …kiya yah sach hai ki jut….plz bataye…मलयम hospital vale पाका ईलाज है बोलते है क्या यह सच्च है

  20. Sir mai v nirmal kujur ki tarah paresan hu aur meri v sadi nahi huai hai homeyopethik daba le raha hu aur mere man me bhi ye hi sabal paresan kar rahi hai kripya shahi salah de aur bataye ki koun si daba jayada asar karti hai aap ke jabab ka intzar hai

  21. Sir muze harpis bimari hai mere urine ke jagh er hota hai our candid B cream laga ne se thik hota hai our fir se 15din me ho jata hai iska ilaj bata ey Than you

  22. hello sir,
    mera ko karib 1.5 saal se harpes 1 or 2 dono hi hai or mere wife ko bhi hai lakin abhi tak cantol main hai aa rha kya aap es ka pakka ilaj bta sakte ho ?

    • जी इसका कोई पक्का इलाज नहीं होता है| लेकिन समय के साथ साथ ये वायरस निष्क्रिय हो जाता है| बस जरूरत है जब भी घाव सुरु हों dr को दोखा कर दवा लें|
      सबसे जरूरी है की शरीर की इम्युनिटी बनाये रखें|

      रोज ४-५ ग्राम त्रिफला का सेवन करें नियमित रूप से| यह धीरे धीरे शरीर की इम्युनिटी बढ़ता है| ४-६ महीने लगातार लेंगे तो आप को फिर्क महसूस होगा|

  23. सर, मेरे को जेंटल हरपीज जो hsv-2 pagetiv nikla hai और मै hiv and VDRL का भी 3 बार टेस्ट करवाया जो Negetive निकला है । तो क्या हरपीज बिमारी hiv बादल सकता है क्या सर , जेनटल हरपीज का क्या पूर्ण इलाज नही है सर, क्या यह बिमारी खतारनक बिमारी है क्या सर, ये बार बार infection जननंग और होट तथा जीब में कहे बर बार छाला निकलते है सर, ye kitne sal me ठीक होता है सर, क्या मै शादी कर सकता हू सर , क्या यह बिमारी पति से पत्नी और होने वाले बच्चे मे भि फैलती है क्या सर , plz bataye sir, mere email hai- nirmal496116@gmail.com and mo no. Hai ….8889776615 jarur upaye pataye sir my paresan hu sir….

    • जी नहीं हर्पीस कभी hib में नहीं कन्वर्ट नहीं होता है| असुरक्षित सेक्स से बचें|

  24. सर मेरे को जेनटल हरपिज hsv-2 से पीडित हू क्या इसका ईलाज है और यह बिमारी कब तक पूर्ण रूप से ठीक होगा । मेरे 24 साल हो रहा है क्या मै बाद मे शादी कर सकता हूँ । क्या शादी करने पर यह बीमारी पत्नी पर फैल सकता है कि और होने वाले बच्चे भी संकरमण हो सकता है क्या ! तो शादी कर सकता हूँ कि नहीं सर , इसका उपचार hrpikin800 mg bd tablet chal raha hai… plz…bataiye sir…..plz.. mera email -nirmal496116@gmail.com , hai…

    • Dear Nirmal,

      Meri baat dhyan se padhana, isame ghabaraane ki jarurat nahi hai.

      हस्ब का वायरस एक बार इन्फेक्ट कर देता है तो वो कभी भी शरीर से नहीं जाता है| लेकिन धीरे धीरे कुछ सालों में यह निष्क्रिय हो जाता है|
      लेकिन इन्फेक्शन बार बार हो सकता है| जब भी इन्फेक्शन हो तो दावा जरूर लेना|
      धीरे धीरे यह दब जायेगा|

      ये वायरस बहुत लोगों के शरीर में होता है लेकिन पता नहीं चलता है|

      बस एक बात ध्यान रखना पूरी जिंदगी
      ये सिर्फ सेक्स से नहीं फैलता | चुने से भी फैलता है |

      जब भी इन्फेक्शन एक्टिव हो तब बहुत ख्याल रखो साफ़ सफाई का\ समसा हाँथ और कपडे साफ़ रखना|

      जब इन्फेक्शन एक्टिव तो तो सेक्स कभी मत करना| और बच्चो को तो बिलकुल मत छूना

      अब अपनी अल्योपथिक दावा के साथ साथ डेली सुबह या साम को ३~५ ग्राम त्रिफला खाना सुरु कर दो| त्रिफला धीरे धीरे शरीर की प्रतिरोधक छमता बढ़ता है| इसको तुम रोज एक बार जरूर खावो पानी या दूध के साथ| इसके अलावा धुप मैं कम निकला करो और ताजे सीजनल फल और सब्जी खावो|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*