Food Choices in Diabetes in Hindi

 

मधुमेह Diabetes वह रोग है जिसमें खून में ग्लूकोज या शर्करा bold glucose level, का स्तर बहुत अधिक बढ़ जाता है। मधुमेह या प्री-डायबिटिक होने पर यह बहुत ज़रूरी है की रक्त शर्करा (ग्लूकोज) का स्तर नियंत्रित रहे। समय के साथ, रक्त में बहुत अधिक ग्लूकोज गंभीर समस्याएं पैदा कर सकता है। रक्त में चीनी का अधिक स्तर आँखों, तंत्रिका तंत्र nerves, गुर्दे kidney और दिल heart तथा अन्य महत्वपूर्ण अंगों को नुकासन पहुचा सकता है।

Loading...

मधुमेह में यह ज़रूरी है की रोजाना ली जाने वाली कैलोरी calories का ध्यान रखा जाये। अधिक भोजन और कार्बोहाइड्रेट का सेवन भी रक्त में शुगर लेवल को बढ़ा देता है क्योकि पाचन के दौरान, सरल कार्बोहाइड्रेट और स्टार्च (जटिल कार्बोहाइड्रेट) ग्लूकोज में बदल जाते हैं। इसलिए यदि आप चीनी या उससे बने पदार्थ नहीं भी खा रहे पर भोजन ज़रूरत से ज्यादा मात्रा में लें रहे हैं तो रक्त शर्करा का स्तर बढ़ेगा ही।

संतुलित भोजन जिसमें फल, सब्जियां, साबुत अनाज, फलियां beans (सेम, मटर और मसूर की दाल) और कम वसा low fat वाले डेयरी उत्पादों हों, खाने से शरीर में पोषक तत्वों की कमी नहीं होती और साथ ही स्वाथ्य भी सही रहता है। आहार में फाइबर dietary fiber रक्त शर्करा के स्तर के नियंत्रण में मदद करता है। सब्जियां, फल, मेवा, फलियां (सेम, मटर और मसूर की दाल), गेहूं का आटा और गेहूं की भूसी आदि में फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है।

मधुमेह में अलग-अलग प्रकार के फल, सब्जियों और साबुत अनाज खाने चाहिए। वसा, चिकनाई, मीठे पदार्थों, चीनी, मिश्री, गुड, शहद का प्रयोग नहीं करना चाहिए। सही भोजन और प्रतिदिन व्यायाम करने से रक्त में शुगर के स्तर को नियंत्रित किया जा सकता है। भिन्न प्रकार के खाना खाने से शरीर में ज़रुरी पोषक तत्वों की कमी भी नहीं होती।

What to Eat in Diabetes

मधुमेह में साबुत अनाज, दालें, रेशे युक्त भोजन, ताज़ा फल और सब्जियों, हरी पत्ते दार सब्जियां, ब्रोकली, गाजर, बीन्स, मटर, दालें का सेवन करना चाहिए। डायबिटीज में करेला, जामुन की गुठली का चूर्ण, जामुन फल, परवल, मेथी, आदि विशेष रूप से उपयोगी हैं।

  • चोकर युक्तआटा, साबुत अनाज, गेंहू की रोटी
  • मूंग, अरहर, चना दाल
  • ब्राउन राइस
  • मकई, पॉपकॉर्न (बिना बटर या चिकनाई)
  • ताजा सब्जियां, करेला, परवल, लौकी, टोरी, टमाटर, खीर, कद्दू, साग, गोभी, पालक, बथुआ
  • अन्य कडवी और कसैली सब्जियां और फल
  • प्याज़, लहसुन, नीम्बू
  • मेथी साग, मेथी दाना
  • जामुन, जामुन की गुठली का चूर्ण
  • ताजा फल, पपीता, अमरुद
  • फल का रस जो सीधे फलों से निकाला गया हो (बिना चीनी)
  • सूखे मेवे, फलियां
  • 1% या मलाई निकाला दूध
  • कम चिकनाई वाला दही
  • कम वसा वाले पनीर
  • बेक्ड स्नैक्स
  • वनस्पति तेल

कम मात्रा में सभी फल खाए जा सकते हैं। अल्प मात्रा में लेने से शरीर में ग्लूकोस का लेवल अधिक नहीं बढ़ता।

loading...

What Not To Eat in Diabetes

डायबिटीज में वह भोज्य पदाथ नहीं खाने चाहिए जो मीठे हो और वसा या फैट युक्त हों। ज्यादा चिकनाई वाला भोजन रक्त में ग्लूकोस का लेवल और वज़न दोनों में वृद्धि करता है। फ्राइड खाना, जंक फ़ूड, फुल-क्रीम दूध, केक, बिस्कुट, कैंडी, सैलड-ड्रेसिंग, तेल, मक्खन, सोडा, कोल्ड-ड्रिंक, एनर्जी ड्रिंक, फ्रूट जूस जिसमें चीनी हो, कैंड-वेजिटेबल, बाज़ार में मिलने वाले आचार, टिया, कॉफ़ी आदि का सेवन न करें।

  • मैदा, मैदा से बने पकवान
  • सफेद चावल, आलू, सफेद डबलरोटी
  • चीनी, चीनी युक्त खाने, गुड़, मिश्री
  • नया अनाज
  • गन्ने का रस
  • फ्रेंच फ्राइज
  • डिब्बाबंद खाना
  • मक्खन
  • चाशनी के साथ डिब्बाबंद फल
  • मिठाई, जैम, जैली,
  • मार्किट में मिलने वाले फलों के रस
  • फैट युक्त दूध और दही
  • पनीर, मलाई, आइसक्रीम
  • आलू के चिप्स, मक्का चिप्स, तली हुई नमकीन
  • चीनी और क्रीम के साथ कॉफी
  • कॉफी और चॉकलेट फ्लेवर्ड पेय
  • बियर, फल मिश्रित पेय, सोडा, मीठी चाय, ऊर्जा प्रदान करने वाले पेय Energy drinks

मधुमेह में संतुलित आहार खाएं। फलों का सेवन कम मात्रा में करने पर ग्लूकोज़ का लेवल नहीं बढ़ता। एक दिन में करीब २ कप फल बिना किसी नुकसान के खाए जा सकते है। वसा, नमक और चीनी की कम मात्रा लें और फाइबर अधिक मात्रा में लें। दैनिक व्यायाम करें और वज़न नियंत्रित रखें भोजन और जीवन शैली में परिवर्तन ला कर मधुमेह को सरलता से नियंत्रित किया जा सकता है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*