चॉइस पिल्स Choice oral contraceptive pills Detail and Uses in Hindi

चॉइस पिल्स DKT India लिमिटेड द्वारा निर्मित एक गर्भनिरोधक गोली है। यह गर्भ को रोकने और बच्चों में अंतर रखने के प्रयोग की जाती है। यह एक हार्मोनल गर्भनिरोधक गोली है। यह शरीर के होरमोन सिस्टम को प्रभावित करती है।

Loading...

इसमें हार्मोन एस्ट्रोजन व प्रोजेस्टेरोन हैं जो की कृत्रिम रूप से बनाए गए है। ये दोनों हार्मोन शरीर में महिला प्रजनन अंगों पर कई तरह से काम करते हैं। यह अंडाशय यानिकि ओवरी से अंडाणु के निकलने ovulation को रोकते है, निषेचन fertilization को मुश्किल करते हैं तथा निषेचन होने पर उसके गर्भाशय में स्थापन implant को रोकते हैं।

जो भी हार्मोनल कॉण्ट्रासेप्टिव पिल्स होती हैं उनकी एक गोली रोज़, 21 दिन तक ली जाती है। फिर 7 दिनों तक कोई गोली नहीं ली जाती या यहाँ पर यह लोहे युक्त गोली ली जाती है।

यदि सही ढंग से लिया जाए तो यह गोली गर्भावस्था को रोकने में 99% से अधिक कारगर है।

Choice oral contraceptive pills is a combined hormonal contraceptive pill for preventing pregnancy. It directly affects hormones in body and hence should be taken after consulting doctor. For example it is not suitable for women above the age of 35. It should not be taken while breastfeeding. There are many medical conditions in which intake of these pills can worsen the condition. Once you stop taking the pills it may take few months to gain normal fertility as it induces temporary infertility.

Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

loading...

ब्रांड का नाम: DKT India

जेनरिक: लेवोनॉरजस्ट्रेल Levonorgestrel और एथिनायलोएस्ट्राडिओल Ethinyloestradiol टैब , ferrous fumerate फेरस फ्यूमरेट के साथ

गोलियां: 21 गोली + 7 गोली

चॉइस पिल्स के घटक Ingredients of Choice Pills

सफेद रंग की गोली

  • लेवोनॉरजस्ट्रेल Levonorgestrel 0.15 mg
  • एथिनाय लोएस्ट्राडिओल Ethinyloestradiol 0.03mg

प्रत्येक भूरे रंग की गोली

फेरस फ्यूमरेट ferrous fumerate 60mg equivalent to ferrous iron 19.5mg

चॉइस पिल्स गर्भावस्था को कैसे रोकती है:

  • यह हर महीने होने वाले ओवूलेशन (ओवेरी से अंडा निकलना) को रोकती है।
  • यह गर्भाशयग्रीवा के म्यूकस को गाढ़ा करती है जिससे स्पर्म, एग तक न पहुँच पायें।
  • यह गर्भाशय की लाइनिंग को पतला करती है जिसिसे निषेचन हो जाने पर भी, गर्भ में निषेचित अंडाणु न आरोपित हो पाए।

चॉइस पिल्स को कैसे लें?

  1. चॉइस पिल्स का एक पैक एक महीने के लिए है। इसमें 28 पिल्स हैं।
  2. मासिक होने के पहले दिन से इसे लेना शुरू करें।
  3. जब सभी 28 गोलियां ले ली गई हों, नया पैक लें।
  4. ऐसे तो इसे महीने के किसी भी दिन से लेना शुरू किया जा सकता है लेकिन यदि इसे पीरियड के पहले दिन से लेते हैं तो यह अनचाहे गर्भ को करीब ९९ प्रतिशत तक रोकती है। लेकिन यदि महीने के किसी भी दिन से लेना शुरू किया जाए तो यह उतनी इफेक्टिव नहीं होती और गर्भ ठहर सकता है। इसलिए ऐसे में कंडोम आदि का प्रयोग करना चाहिए।

What to do if you miss a pill?

  1. गोली को लेना भूल जाना, इसकी गर्भनिरोधन की क्षमता को कम करता है। ऐसे में गर्भ ठहर सकता है।
  2. यदि आप एक गोली लेना भूली हैं और गोली लेने में 24 घंटे से ज्यादा हो गए हैं, तो जब याद आये तो भूली वाली गोली और उस दिन की गोली, यानिकि दो गोली लें।
  3. यदि २ या ज्यादा दिन तक गोली नहीं लीं हैं, या नया पैक दो दिन से ज्यादा के अंतर पर शुरू किया है, तो ऐसे में इस गर्भावस्था होने के चांसेस बहुत ज्यादा बढ़ जाते हैं क्योंकि ओवरी से एग निकल सकता है और उसका निषेचन भी हो सकता है। ऐसे में २ गोली लें और फिर रोजाना की एक गोली लेते रहें।

चॉइस पिल्स के चिकित्सीय उपयोग Uses of Choice Pills

  1. गर्भ को न ठहरने देना, बच्चों में गैप रखने के लिए
  2. इसे निम्न दिक्कतों में भी दिया जाता है:
  3. पीरियड में होने वाला दर्द, तकलीफ दूर करने के लिए
  4. मासिक में ज्यादा खून जाना
  5. एंडोमेट्रिओसिस
  6. चॉइस पिल्स के लाभ
  7. गर्भ को रोकना
  8. मासिक धर्म प्रवाह और ऐंठन में कमी
  9. एनीमिया में सुधार
  10. मासिक चक्र को नियमित करना
  11. डिम्बग्रंथि और एंडोमेट्रियल कैंसर से रक्षा

सेवन विधि और मात्रा Dosage of Choice Pills

  1. इसकी 21 गोलियां + 7 गोलियां हैं।
  2. मासिक के पहले दिन से गोली लेना शुरू करें।
  3. अगले 21 दिन लगातार गोली लें।
  4. फिर 7 आयरन पूरकता वाली भूरी गोली लें।
  5. इस गोली को रोज़ एक ही समय पर लिया जाना चाहिए।
  6. दवा के सेवन के बाद २ घंटे पर उल्टी हो जाने पर, गंभीर दस्त (एक दिन में 6-8 बार) आदि होने पर गर्भावस्था हो सकती है। ऐसे में कंडोम का प्रयोग करें और गोली लेना भी जारी रखें।
  7. उलटी हो जाने पर दूसरी गोली लें।

Who should not take the pill?

  1. गर्भावस्था में
  2. 35 वर्ष से अधिक महिला
  3. धूम्रपान करने वाली महिला
  4. अधिक वज़न में
  5. थ्रोम्बोसिस (खून का थक्का)
  6. हृदय रोग, उच्च रक्तचाप
  7. गंभीर सिरदर्द, माईग्रेन
  8. स्तन कैंसर
  9. या लीवर की या पित्ताशय की थैली की बीमारी
  10. मधुमेह
  11. बच्चा होने के बाद
  12. बच्चा होने के बाद यदि आप स्तनपान नहीं करा रही तो जन्म के बाद 21 दिन पर गोली शुरू कर सकती हैं।
  13. स्तनपान कराते समय इसका सेवन न करें।
  14. गर्भपात के बाद
  15. या जिन्हें किसी तरह की अन्य स्वास्थ्य समस्याएं हों, के लिए उपयुक्त नहीं हैं।
  16. यह गोली यौन संचारित संक्रमण (एसटीआई) के खिलाफ की रक्षा नहीं करती।

चॉइस पिल्स के नुकसान

  1. मतली और चक्कर
  2. स्तनों में दर्द
  3. सिरदर्द, माइग्रेन
  4. उच्च रक्तचाप
  5. वज़न बढ़ना
  6. मासिक के बीच में योनि से खून जाना
  7. मस्तिष्कीय रक्तस्राव
  8. मस्तिष्कीय रक्तस्राव
  9. पित्ताशय की थैली के रोग
  10. रेटिना थ्रोम्बोसिस
  11. गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल लक्षण
  12. अस्थाई बांझपन
  13. एडेमा / द्रव प्रतिधारण
  14. मासिक स्राव में परिवर्तन
  15. एलर्जी
  16. अवसाद सहित मनोदशा में बदलाव
  17. Vaginitis, कैंडिडिआसिस
  18. कॉन्टेक्ट लेंस लगाने पर परेशानी
  19. सीरम फोलेट स्तर में कमी आदि
loading...

2 thoughts on “चॉइस पिल्स Choice oral contraceptive pills Detail and Uses in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*