शंखपुष्पी सिरप Shankhpushpi Syrup Detail and Uses in Hindi

loading...

शंखपुष्पी सिरप एक आयुर्वेदिक हर्बल ब्रेन टॉनिक है। इसके मुख्य घटक शंखपुष्पी और ब्राह्मी हैं। दोनों ही औषधीय वनस्पतियाँ दिमाग के उत्तम रसायन है। इन्हें हजारों साल से मानसिक क्षमता को बढाने के लिए प्रयोग किया जाता रहा है। शंखपुष्पी मस्तिष्क की एकाग्रता और शक्ति की वृद्धि करती है। ब्राह्मी प्रोटीन की सिंथेसिस की प्रक्रिया को बेहतर बनाता है जिससे स्मरण शक्ति बेहतर होती है। यह दिमाग के तनाव को दूर करती है। इस दवा का असर यह होता है की दिमाग तेज़ होता है।

इसे पढ़ने वाले बच्चे और बड़े सभी लोग ले सकते हैं। यह दवा बहुत सी आयुर्वेदिक फार्मेसीज़ द्वारा बनाई जाती है और मार्किट में आसानी से उपलब्ध है।

In English Shankhpushpi Syrup is an herbal OTC Ayurvedic medicine for improving the memory power. It reduces mental fatigue and helps in stress anxiety and depression. It is helpful in mild hypertension. The major ingredients of this brain power improving tonic is Shankapushpi and Brahmi or Mandukaparni. Shankhpushpi Syrup induces sound sleep when taken before going to bed. The recommended dosage of this medicine is 2-3 teaspoonful with milk or water. It is highly recommended for students and intellectuals.

Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

शंखपुष्पी सिरप के घटक Ingredients of Shankhpushpi Syrup

Each 5 ml of Baidyanath Shankhpushpi contains

  1. शंखपुष्पी Convolvalus Pluricaulis 125 mg
  2. ब्राह्मी Bacopa monneri 3 mg
  3. निम्बू सत्व Citric Acid 0.75 mg.
  4. शुगर (Saccharum Officinarum) Q.S.
  5. फ्लेवर syrup base Q.S.
  6. Preservatives: मिथाइल पैरॉबेन, सोडियम I.P., प्रोपिल पैरॉबेन, सोडियम I.P., Sod. Metabisulphite I.P.

Key Ingredients:

शंखपुष्पी (Convolvulus pluricaulis) एक मेद्य रसायन brain tonic है जो मेधा को बढ़ाता है। यह ब्रेन टॉनिक है तथा मस्तिष्क और नर्व को ताकत देता है। यह बुद्धि को तीक्ष्ण करता है, स्मृति को बढ़ाता है, तथा उन्माद, अपस्मार, अनिद्रा भ्रम को दूर करता है।

loading...

ब्राह्मी (Bacopa monnieri) नाडि़यों के लिये पौष्टिक है। यह तासीर में ठण्डी, पचने में हल्की, कडवी, मधुर विपाक और कफ पित्त दोष को शांत करने वाली है। यह मस्तिष्क के लिए उत्तम है और क्षमता को बढाने वाली औषध है।

शंखपुष्पी सिरप के लाभ/फ़ायदे Benefits of Shankhpushpi Syrup

  1. यह दवा मस्तिष्क के लिए अत्यंत उपयोगी है।
  2. यह एक हर्बल ब्रेन टॉनिक है।
  3. इसका कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं है।
  4. यह पढ़ने-लिखने वाले बच्चों, तथा दिमागी काम करने वाले लोगों के लिए बहुत लाभप्रद है।
  5. इसके सेवन से उच्च रक्तचाप कम होता है।
  6. इससे दिमाग को ठंडक मिलती है।
  7. इसका सेवन सोने से पहले करने पर नींद अच्छी आती है।
  8. यह दिमाग की थकावट, सिर के दर्द, एंग्जायटी, स्ट्रेस, अवसाद, नींद न आना, एकाग्रता की कमी, ध्यान न लगना, नई चीजों को सीखने में दिक्कत, मानसिक कमजोरी, मिर्गी, दौरे पड़ना, दिमागी विकार आदि सभी में प्रयोग की जाती है तथा अच्छे परिणाम देती है।

शंखपुष्पी सिरप के चिकित्सीय उपयोग Uses of Shankhpushpi Syrup

  1. दिमागी ताकत को बढ़ाना
  2. स्मृति / याद रखने की क्षमता को बढ़ाना
  3. भूलने की बीमारी Loss of memory
  4. एकाग्रता Concentration की कमी
  5. तनाव Anxiety, अवसाद को दूर करना
  6. किसी भी काम को सीखने की क्षमता को बढ़ाना
  7. दिमागी थकावट fatigue
  8. नींद न आना Insomnia
  9. बहुत दिमागी काम करने से सिर में दर्द
  10. अपस्मार epilepsy, convulsion, hysteria में इसे अन्य दवाओं के साथ लिया जा सकता है

सेवन विधि और मात्रा Dosage of Shankhpushpi Syrup

  1. 2-3 teaspoon / 10-15 ml, दिन में दो बार, सुबह और शाम लें।
  2. इसे दूध, पानी के साथ लें।
  3. इसे भोजन करने के बाद लें।
  4. इसका सेवन ३ महीने या उससे ज्यादा दिनों तक लगातार करने से लाभ होता है।

इस दवा को ऑनलाइन या आयुर्वेदिक स्टोर से ख़रीदा जा सकता है।

This medicine is manufactured by Baidyanath (Shankha Pushpi), Dabur (Shankh Pushpi Syrup), Unjha (Shankhpushpi Syrup), Vyas Pharmaceuticals (Shankhpushpi Syrup), and many other Ayurvedic pharmacies.

loading...

8 thoughts on “शंखपुष्पी सिरप Shankhpushpi Syrup Detail and Uses in Hindi

  1. Meri bachi 10 manth ki hi jise brain seizure shankhpushpi syrup is ke Alawa Koi Ayurvedic bache ka brain syrup ho to plss Mujhe Bataye jo de sakte h allopathic ke sath Koi side effect Na Ho

  2. कितनी उम्र से सुरु कर सकते है मिनिमम उम्र सीमी……

    • एक साल से छोटे बच्चों को नहीं देते. पांच साल से बड़े बच्चों को दे सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*