मल्ल तैल Malla Taila (Oil) Detail and Uses in Hindi

loading...

मल्ल तैल एक आयुर्वेदिक तेल है। यह तेल मुख्य रूप से बाह्य रूप से लगाया जाता है। इसकी मालिश से नसों की कमजोरी, वात रोगों के दर्द में लाभ होता है। इसे पुरुषों की यौन कमजोरी में भी बाहरी रूप से इन्द्रिय पर लगाया जाता है।

आंतरिक रूप से भी इस तेल को बहुत ही कम मात्रा में अस्थमा, कफ, आदि में प्रयोग किया जाता है। यह तासीर में बहुत ही उग्र है तथा तुरंत ही परिणाम देता है। इसमें सफ़ेद संखिया है, इसलिए यह बहुत ही आवश्यक हो जाता है कि इसे बहुत ही कम मात्रा में लिया जाए और तभी लिया जाय जब डॉक्टर द्वारा निर्देशित हो।

Read in English Malla Taila

Malla Taila or Oil is a Classical Ayurvedic medicated oil. It contains White oxide of Arsenic, Nutmeg, Mace, Clove, Khurasani Ajwain, Carom seeds, Celery seeds, Cannabis seeds, Saffron, Celastrus and Sesame seeds. It is very hot in potency and used to strengthen the nerves. It is also indicated in pain due to Vata Dosha.

Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and how to use in Hindi language.

मल्ल तैल के घटक Ingredients of Malla Taila

  1. श्वेत संखिया Shwet Sankhiya 36 gram
  2. जायफल Jaiphal 36 gram
  3. जावित्री Javitri 36 gram
  4. खुरासानी अजवाइन Khurasani Ajwain 36 gram
  5. अजवाइन Ajwain 36 gram
  6. अजमोद Ajmoda 36 gram
  7. भांग के बीज Bhang seed 36 gram
  8. लौंग Lavanga 36 gram
  9. मालकांगनी Malkangni 72 gram
  10. केशर Kesar 375 mg
  11. तिल का तेल Til ka tel Sesame oil Q.S.

मल्ल तैल के लाभ/फ़ायदे Benefits of Malla Taila

  1. यह लिंग की मालिश में उपयोगी है।
  2. यह नसों की ताकत बढ़ाने के लिये अच्छा तेल है।
  3. इसकी मालिश से वात के कारण होने वाले दर्द में लाभ होता है।
  4. यह कामोद्दीपक है, तथा यौन कमजोरी को दूर करता है।
  5. यह नपुंसकता को दूर करता है।

मल्ल तैल के चिकित्सीय उपयोग Uses of Malla Taila

  1. तंत्रिका संबंधी विकार
  2. नपुंसकता Premature Ejaculation, लिंग की कमजोरी, शिथिलता Unsatisfactory Erection or Sexual Deficiency
  3. इरेक्टाइल डिसफंक्शन
  4. यौन कमजोरी Sexual Weakness

प्रयोग की विधि

  1. ज़रूरत के अनुसार, कुछ बूंदो को हाथ में लेकर प्रभावित स्थान पर इसे हल्की मालिश के साथ लगायें।
  2. लिंग की मालिश के लिए, यौन संबंध होने से एक घंटे पहले, तेल की 2 बूँदें, १० बूँद तिल के तेल में मिलाकर लिंग त्वचा पर लगाकर हल्के से मालिश करें।
  3. इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है।
  4. इस तेल का प्रयोग ठीक से त्वचा पर करें।
  5. लिंग के संवेदनशील हिस्से (टिप) पर इसे न लगायें।

इस दवा को ऑनलाइन या आयुर्वेदिक स्टोर से ख़रीदा जा सकता है।

loading...

This medicine is manufactured by Baidyanath (Mall Tail) and some other Ayurvedic pharmacies.

loading...

14 thoughts on “मल्ल तैल Malla Taila (Oil) Detail and Uses in Hindi

  1. मेरे लिंग का अगला हिस्सा बहुत नाजुक है सेक्स के समय तुरंत निकल जाता है । इसे कण्ट्रोल कैसे करूँ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*