महासुदर्शन चूर्ण Maha Sudarshan Churna Detail and Uses in Hindi

loading...

महासुदर्शन चूर्ण एक आयुर्वेदिक दवा है। यह विभिन्न कारणों से होने वाले बुखार के उपचार में उपयोगी है। इसका सेवन पसीना लाता है और बुखार को कम करता है। यह मूत्रल होने के कारण पेशाब की मात्रा को बढ़ाती है। यह सभी प्रकार के बुखार और मलेरिया के लिए एक बहुत ही अच्छी हर्बल दवा है। इसे स्वाइन फ्लू, टाइफाइड, पुराने बुखार, सन्निपात ज्वर, विषम ज्वर, आमज्वर, लीवर-स्प्लीन रोग के कारण ज्वर, शीत ज्वर, पाक्षिक ज्वर, मासिक ज्वर, आदि सभी में प्रयोग किया जाता है। यह जिगर और तिल्ली के रोगों के लिए भी उपयोगी है।

महासुदर्शन चूर्ण रक्त से विषाक्त पदार्थों को हटाती है। यह भूख और पाचन को सुधारती है। यह एंटीमलेरियल, एंटीपाएरेटिक, एंटी-वायरल है। यह शरीर की प्रतिरोधक क्षमती को बढ़ा देती है और आम जीवाणु संक्रमण के खिलाफ शरीर की रक्षा करती है। यह एंटीऑक्सीडेंट है और संक्रमण को दुबारा होने से रोकती है।

Mahasudarshan Churna is a polyherbal Ayurvedic medicinal powder (Churna). It contains Swertia chirata and many other medicinal herbs and useful is in treatment of fever due to variety of reasons.

Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

महासुदर्शन चूर्ण के घटक Ingredients of Mahasudarshan Churna

चिरायता Swertia chirata, त्रिफला, हरिद्रा, दरहरिद्र, कंटकारी, बृहती, कर्चूरा, सुण्ठी, मरीचा, पिप्पली, मूर्वा, गुडुची, धन्वायसा, कटुका, पर्पट, मोथा, त्रयमाणा, हृवेरा, नीम छाल, पुष्कर, मुलेठी, कुटज, यवनी, इंद्रायवा, भारंगी, शिग्रु, सौरास्ट्री, वच, त्वक, पद्मका, श्वेतचन्दना, अतिविष, बला, शालपर्णी, पृश्निपर्णी, विडंग, टगर, चित्रक, देवदारु, चव्य, पटोल, लवंग, वंशलोचन, कमला, अश्वगंधा, तेजपत्र, जटीफला स्थौणेया, विदारीकन्द, किरततिक्ता

महासुदर्शन चूर्ण के लाभ/फ़ायदे Benefits of Mahasudarshan Churna

  • यह शीतल, पाचक, कृमिनाशक, ज्वरनाशक, एंटीऑक्सीडेंट, रक्तशोधक, एंटीमलेरिया और विरेचक दवा है।
  • यह टाइफाइड बुखार, पेट संक्रमण, मूत्र पथ के संक्रमण और श्वसन संक्रमण नियंत्रण संक्रामक रोगों में लाभप्रद है। यह दवा वात-पित्त-कफ संतुलित करती है।
  • यह संक्रमण से लड़ने के लिए प्रतिरक्षा में सुधार करती है।
  • यह जीवाणुरोधी और एंटीवायरल antiviral है।
  • यह मूत्रवर्धक है और मूत्र के स्राव को बढ़ावा देती है।
  • यह बुखार, यकृत वृद्धि, प्लीहा, थकान और मितली, आदि में लाभप्रद है।
  • यह काफी समय तक शरीर में रहने वाली हरारत को दूर करती है।
  • यह दवा हिम, फांट, काढ़े और अर्क के रूप में भी प्रयोग की जाती है।

महासुदर्शन चूर्ण के चिकित्सीय उपयोग Uses of Mahasudarshan Churna

सभी प्रकार के बुखार (पुराने, सन्निपात, विषम, वायरस-बैक्टीरिया के कारण बुखार, आम बुखार, लीवर-स्प्लीन के रोग के कारण बुखार, सर्दी का बुखार, स्वाइन फ्लू, मलेरिया, टाइफाइड आदि)

loading...
  • जिगर और तिल्ली की वृद्धि
  • मलेरिया, स्वाइन फ्लू
  • अपच और भूख न लगना
  • थकान और मतली

सेवन विधि और मात्रा Dosage of Mahasudarshan Churna

  • 3-6 gram, दिन में दो बार, सुबह और शाम लें।
  • इसे गर्म पानी के साथ लें।
  • इसे भोजन करने के बाद लें।
  • या डॉक्टर द्वारा निर्देशित रूप में लें।

इस दवा को ऑनलाइन या आयुर्वेदिक स्टोर से ख़रीदा जा सकता है।

This medicine is manufactured by Baidyanath (Mahasudarshan Churna), Dabur (Maha Sudarshan Churna), Zandu (Maha Sudarshan Churna), and many other Ayurvedic pharmacies.

loading...

2 thoughts on “महासुदर्शन चूर्ण Maha Sudarshan Churna Detail and Uses in Hindi

  1. hallo sir mera name Vikas pandey hai mujhe lagbhag 6month se bukhar hai mai 10 dino se maha sudarsan churan use kar raha hu
    lekin yah thik hone Ke bajay 2dino se mujhe bahut tej bukhar ho raha ha
    mai ye janna chahta hu ki yah maha chudarsan churan andar chhipe bukhar ko pahle nikalta hai phir bad me thik hota hai kya

    please help me

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*