सेब का सिरका Apple Cider Vinegar in Hindi

loading...

एप्पल साइडर विनेगर या सेब का सिरका, सेब के किण्वन fermentation द्वारा बनाया जाता है। फर्मंटेशन प्रक्रिया fermentation के दौरान, सेब में मौजूद चीनी बैक्टीरिया और यीस्ट के द्वारा पहले अल्कोहल और फिर सिरका में बदल दी जाती है। इस सिरका में एसिटिक एसिड व कुछ मात्रा में लैक्टिक, साइट्रिक और मैलिक एसिड होता है। सेब का सिरका विविध रोगों में लाभप्रद है।

apple-cider-vinegar
By Phongnguyen1410 (Own work) [CC BY-SA 4.0 (http://creativecommons.org/licenses/by-sa/4.0)], via Wikimedia Commons
सेब के सिरके को बहुत ही प्राचीन समय से मिस्त्र, ग्रीस और रोमन के द्वारा प्रयोग किया जाता रहा है। सेब का सिरका शरीर में अच्छे बैक्टीरिया को बढ़ाता है। यह शरीर में एसिड-एल्कलाइन / अम्ल-क्षार acid-alkaline balance के संतुलन को बनाये रखने में मदद करता है। सेब का सिरका स्वाद में खट्टा होता है। इसमें एसिटिक एसिड की मात्रा अधिक होती है जिस कारण यह शरीर में खनिजों का अवशोषण mineral absorption बढ़ा देता है। ऐसे तो यह स्वाद में एसिडक acidic होता है पर यह पाचन के बाद क्षारीय alkaline हो जाता है और शरीर में अम्लता को कम करता है। स्वस्थ्य शरीर के लिए शरीर में एसिड की मात्रा कम व क्षार की मात्रा ज्यादा होनी चाहिए।

यह शरीर में वात को कम करता है। यह पित्त के स्राव को बढ़ाता है। इसका सेवन मोटापा कम करता है, खून को साफ़ करता है, पाचन को सही करता है और शरीर की गंदगी को निकालने में मदद कर त्वचा को सुन्दर बनाता है।

इसे आप सलाद की ड्रेसिंग की तरह भी इस्तेमाल कर सकते हैं। जो सिरका फिल्टर्ड filtered होता है वह एकदम साफ़ सा दिखता है जबकि बिना फ़िल्टर unfiltered किया हुआ सिरका भूरा होता है और इसमें कुछ तैरता हुआ सा भी दीखता है। तैरने वाला पदार्थ सेब में पाए जाने वाले पेक्टिन व अन्य पदार्थ होते हैं। बिना किसी प्रोसेसिंग और बिना फ़िल्टर किया हुआ सिरका ही स्वास्थ्य के बेहतर है क्योंकि इसमें मिनरल्स, एमिनो एसिड्स और विटामिन्स पाए जाते हैं।

सेब का सिरका क्यों फायदेमंद है? Why Apple Cider Vinegar is Beneficial?

एप्पल सीडर विनेगर में ऐसे बहुत से पदार्थ पाए जाते हैं जो इसे स्वास्थ्य के लिए लाभप्रद बनाते हैं। इसमें कैल्शियम, लोहा, पोटैशियम, मिनरल्स आदि होते हैं। इसके मुख्य घटकों में शामिल हैं:

  1. पोटैशियम
  2. एसिटिक एसिड
  3. मैलिक एसिड
  4. पेक्टिन

सेब का सिरका एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है। इसमें बीटा कैरोटीन, विटामिन A, B1, B2, B6, C और E पाया जाता है। इसमें मिनरल्स कैल्शियम, मैगनिशियम, फॉस्फोरस, सल्फर कॉपर, सिलिका, आदि पाए जाते हैं। इसमें पेक्टिन होने के कारण यह पाचन को ठीक करता है, कोलेस्ट्रोल को कम करता है और शरीर से टॉक्सिक पदार्थों को बाहर निकालता है। क्योंकि यह एक सिरका है यह यूरिक एसिड uric acid को कम करता है जो की जोड़ों में जमा रहता है।

loading...

क्योंकि यह मिनरल्स का अवशोषण कराने में सहायक है यह नाखूनों के टूटने में सहायक है।

सेब के सिरके के लाभ Health Benefits of Apple Cider Vinegar

  1. यह शरीर के pH को सही करता है।
  2. यह उलटी, एसिडिटी, और पाचन की कमजोरी में लाभ प्रद है।
  3. यह जोड़ों के दर्द में आराम देता है।
  4. यह मधुमेह में ग्लूकोस के लेवल को कम करता है।
  5. यह रक्तचाप को कम करता है।
  6. यह सिर दर्द में राहत देता है।
  7. यह कोलेस्ट्रोल, ट्राइग्लिसराइड लेवल को कम करता है।
  8. यह कैंसर सेल्स की ग्रोथ को रोकता है।
  9. यह सूजन और दर्द में राहत देता है।
  10. यह फंगस, यीस्ट, और बक्टेरिया की ग्रोथ को रोकता है।
  11. यह रूसी को दूर करता है और बालों को चमक देता है।
  12. यह मेटाबोलिज्म को तेज़ कर, वज़न को कम करता है।
  13. यह खून को साफ़ करता है।
  14. यह खून को बहुत गाढ़ा और चिपचिपा नहीं होने देता।
  15. यह शरीर के महत्वपूर्ण अंगों गुर्दे, मूत्राशय, यकृत आदि के सही तरीके से काम करने में मदद करता है।
  16. यह इम्युनिटी को ठाक करता है।
  17. यह कब्ज़ के लक्षणों में राहत देता है।

सेब के सिरके के प्रयोग Medicinal Uses of Apple Cider Vinegar

1.पाचन की कमजोरी, लीवर को डीटोक्स करना Detoxifying liver

सेब का सिरका पाचक रसों के स्राव को बढ़ाता है और लीवर से जहरीले पदार्थों को दूर करने में मदद करता है। एक चम्मच सेब का सिरका और १ चम्मच शहद मिलाकर दिन में तीन बार पियें।

2. मोटापा, कोलेस्ट्रोल का बढ़ जाना, बढ़ा हुआ ट्राइग्लिसराइड, पेट पर चर्बी Obesity

सुबह उठ के सेब के सिरके को पानी में मिला कर पीने ने से शरीर में जमी अतिरिक्त चर्बी कम होती है। यह कोलेस्ट्रॉल को भी कम करता है। इसे आप शाम को भी पानी में मिलाकर पी सकते हैं।

3. डायबिटीज

सोने से पहले २ टेबलस्पून सिरका को पानी में मिलाकर लें।

4. उच्च रक्तचाप

हाई ब्लड प्रेशर में सेब के सिरके और शहद को एक कप गर्म पानी में मिलाकर पीने से वैसोडायलेटेशन होता है जिससे रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद होती है।

5. Gout(गठिया), बढ़ा यूरिक एसिड High Uric Acid

सुबह शाम खाने से १० मिनट पहले १ गिलास पानी में ५-१० मिली मिला कर रोजाना पियें|

6. पाइल्स Piles

एक चम्मच सेब का सिरका एक कप पानी में मिलाकर खाना खाने से पहले लें।

7. हिचकी Hiccups

एक चम्मच सेब का सिरका एक कप पानी में मिलाकर बिना रुके पियें।

8. योनिशोथ vaginitis, यीस्ट इन्फेक्शन

४ चम्मच सिरका २ कप पानी में मिलाकर प्रभावित हिस्से को धोएं।

9. बालों का सफ़ेद होना, गिरना Hair care

एक चम्मच सेब का सिरका एक कप पानी में मिलाकर लें। गंजेपन से प्रभावित हिस्से पर लगायें।

10. बालों की देखभाल

यह बालों के लिए अच्छा कंडीशनर है। यह बालों को साफ़ करता और जर्म्स को भी नष्ट करता है। इसे पानी में मिलाकर बालों पर प्रयोग किया जा सकता है।

11. रूसी Dandruff

एक छोटा चम्मच सेब का सिरका लेकर हल्के हाथों से सिर की त्वचा पर मालिश करें।

1/4 कप सिरके को इतने ही पानी में मिलाकर स्प्रे बोतल में भर लें और सिर पर स्प्रे करें। फिर एक साफ़ तौलिया लपेट लें। और १५ मिनट से १ घंटा तक छोड़ दें। फिर बालों को पानी से धो लें ऐसा सप्ताह में २ बार करें।

12. पेशाब का इन्फेक्शन Urinary Tract Infection

एक गिलास पानी में २ चम्मच सिरका और शहद मिलाकर पियें।

13. आर्थराइटिस, जोड़ों का दर्द Joint Pain

एक गिलास पानी में 1 टेबलस्पून सिरका मिलाकर दिन में तीन बार पियें, यह आर्थराइटिस के दर्द में आराम देगा।

14. नकसीर, एक्जिमा Nose bleed, Eczema

कुछ दिनों तक एक गिलास पानी में 1 चम्मच सिरका मिलाकर दिन में तीन बार पियें।

पानी में मिलाकर सिरके को प्रभावित जगह पर लगाएं। नमक का सेवन न करें।

15. वैरीकोस वेंस Varicose Veins

एक कपडे में सिरका लगाकर प्रभावित जगह पर लगायें। गर्म पानी में सिरका मिलकर पियें।

16. शरीर से गंदगी बाहर निकालने के लिए Blood purification

सेब का सिरका २ चम्मच की मात्रा में दिन में दो बार लें।

17. फंगल इन्फेक्शन Fungal infection

सेब का सिरका पानी में मिलके प्रभावित जगह पर लगायें।

18. फेफड़े और गले में संक्रमण, खांसी, कफ Respiratory Ailments

लहसुन की ५-१० कलियाँ लेकर काट कर एक कप सिरके में रात भर दाल कर छोड़ दें। सुबह इसमें स्वाद अनुसार शहद मिलाएं। दिन में कई बार एक चम्मच की मात्राम में इसका सेवन करें।

ज्यादातर लोग सिरके को एक टीस्पून या एक टेबलस्पून की मात्रा में दिन १ से ३ बार ले सकते हैं। इसे सलाद में भी डाल सकते हैं। इसे पानी में मिलाकर ही लेना चाहिए। इसमें शहद भी डाला जा सकता है।

सावधानियां

  1. सिरके को हमेशा पानी में मिलाकर ही पियें क्योंकि यह एसिडिक होता है और दांत के एनामल और मुंह के टिश्यू को नुकसान पहुंचा सकता है।
  2. लम्बे समय तक ज्यादा मात्रा में इसका सेवन शरीर में पोटासियम की मात्रा blood potassium levels (hypokalemia) को व बोन डेंसिटी bonemineral density को कम कर सकता है।
  3. जिन्हें सेब से एलर्जी हो वे इसका सेवन न करें।
  4. यह मूत्रल, डायबिटीज हृदय रोग और विरेचक दवाओं के असर को प्रभावित कर सकता है।
  5. इसका ज्यादा मात्रा में सेवन पेट, ड्यूडनम और लीवर को नुकसान पहुंचा सकता है।
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*