करकादि चूर्ण Karkadi Churna Detail and Uses in Hindi

करकादि चूर्ण, एक आयुर्वेदिक हर्बल चूर्ण है जिसे पाचन सम्बन्धी परेशानियों में प्रयोग किया जाता है। सनाय के प्रमुखता होने से इसका का मुख्य गुण विरेचन है और इसलिए यह कब्ज़ में लाभप्रद है। सनाय के अतिरिक्त इसमें करक (अर्थात

डाबर हनीटस मधुवाणी Dabur Honitus Madhuvaani Detail and Uses in Hindi

हनीटस मधुवाणी, डाबर इण्डिया लिमिटेड द्वारा निर्मित एक आयुर्वेदिक हर्बल दवा है जिसे की जुखाम, खांसी, गले की खराश, सर्दी तथा सर्दी सम्बंधित रोगों में प्रयोग किया जाता है। यह आयुर्वेद के सिंद्धांतों पर बनाई गई दवा है। डाबर हनीटस

बैद्यनाथ दिमाग दोषहारी टेबलेट्स Baidyanath Dimag Doshahari Detail and Uses in Hindi

दिमाग दोषहारी टेबलेट्स, श्री बैद्यनाथ आयुर्वेद भवन प्राइवेट लिमिटेड द्वारा निर्मित एक दवाई है जिसके प्रमुख घटक ब्राह्मी काढ़ा, जटामांसी काढ़ा, सर्पगंधा, मकरध्वज, आदि जैसे द्रव्य हैं। जैसा की नाम से ही पता चलता है, यह दवा दिमाग के दोषों

बैद्यनाथ स्वप्नदोषहारी टेबलेट्स Baidyanath Swapn Doshhari Tablets Detail and Uses in Hindi

स्वप्नदोषहारी टेबलेट्स श्री बैद्यनाथ आयुर्वेद भवन प्राइवेट लिमिटेड द्वारा निर्मित एक दवाई है जिसके घटक चंद्रप्रभा बटी, कबाबचीनी, वंग भस्म और कपूर हैं। जैसा की नाम से ही पता चलता है, यह दवा स्वप्नदोष के इलाज के लिए है। स्वप्नदोष

पतंजलि गिलोय घनवटी Patanjali Giloy Ghanvati Detail and Uses in Hindi

जहाँ पर हम गिलोय का काढ़ा देते हों उन सभी जगह पर इस घन वटी का प्रयोग कर सकते हैं। लेकिन जो प्रभाव ताजे काढ़े का होता है वह शायद इसका न हो। इसलिए यदि आपको ताज़ी बेल से तना मिल जाता हो उसी का काढ़ा बना कर लें।

एलारसिन बंगशील Alarsin Bangshil Tablets Detail and Uses in Hindi

यह दवाई यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन, यूटीआई, जिसे पेशाब का इन्फेक्शन भी कहते हैं, में बहुत लाभकारी है। इसके अतिरिक्त यह पेशाब-मूत्रमार्ग सम्बन्धी अन्य समस्याओं और प्रोस्टेट बढ़ने में भी अच्छे परिणाम देती है।

जानिये वंग भस्म के लाभ, उपयोग, दुष्प्रभाव आदि के बारे में Bang Bhasma in Hindi

यह पुरुष की इन्द्रिय को ताकत देती है, शुक्र धारण में सहयोग करती है, वीर्य को गाढ़ा करती है तथा नामर्दी, शीघ्रपतन, पेशाब के साथ शुक्र जाना, स्वप्न में स्खलन, हस्तमैथुन आदि में रोगों को नष्ट करती है। इसे आयुर्वेद में शुक्रक्षय, स्वप्नमेह, शुक्र स्खलन, नपुंसकता की सर्वोत्तम औषधि माना गया है।