वसंत कुसुमाकर रस के फायदे, नुकसान और प्रयोग

वसंत कुसुमाकर रस प्रमेह और मधुमेह के उपचार में उपयोगी है।. मधुमेह के कारण होने वाली कमजोरी, स्नायु कमजोरी, न्युरैटिस, मोतियाबिंद, मुंह का सूखना, बहुत पेशाब होना, भुत प्यास लगना आदि में इसका सेवन लाभकारी है।

वसंत कुसुमाकर रस खनिज, धातु और जड़ी-बूटी से तैयार, एक आयुर्वेदिक रसायन औषधि है। इसमें स्वर्ण, चांदी, मोती, अभ्रक, लोहा आदि जैसे घटक हैं जिसके कारण यह औषधि सभी रोगों के लिए लाभकारी है। यह एक टॉनिक है।

जैसे वसंत के आने पर कुसुम या पुष्प खिल उठते हैं उसी प्रकार इस दवा के सेवन से शरीर में नई शक्ति, स्फूर्ति और जीवन आता है। यह त्वचा को चमक देती है। यह उम्र बढ़ने की प्रक्रिया के कारण शरीर में उत्पन्न सभी स्वास्थ्य समस्याओं में लाभकारी है। वसंत कुसुमाकर रस पुरुष और महिला दोनों में होने वाली कई प्रजनन बीमारियों में विशेष रूप से उपयोगी है।

Loading...

वसंत कुसुमाकर रस प्रमेह और मधुमेह के उपचार में उपयोगी है।. मधुमेह के कारण होने वाली कमजोरी, स्नायु कमजोरी, न्युरैटिस, मोतियाबिंद, मुंह का सूखना, बहुत पेशाब होना, भुत प्यास लगना आदि में इसका सेवन लाभकारी है।

वसंत कुसुमाकर रस को श्वेत प्रदर, सोम-रोग, प्रमेह, मासिक में बहुत खून बहना, नपुंसकता, बिना वज़ह शुक्रपात, शीघ्रपतन, नसों की कमजोरी, अन्य पुरुष यौन समस्याओं में प्रयोग किया जाता है।

Vasant Kusumakar Ras is an Ayurvedic medicine. It is a Rasayan. It is especially useful in many reproductive ailments of both male and female, Prameha, Madhumeha and health issues due to ageing. As it contains Gold, Silver, Pearl, and many other nutritive ingredients, it is useful in all diseases. It gives strength to body organs. It cure nerves and muscles weakness. This medicine should be taken under medical supervision. It should not be taken for long duration as one study shows it causes significant increase in serum total cholesterol (TC) and LDL-C level besides a statistically significant decrease in serum HDL-C level thus leading to a statistically significant increase of both Cardiac Risk Ratio (TC/HDL-C) and Castelli’s Risk Index (LDL-C/HDL-C).

Loading...

Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

वसंत कुसुमाकर रस के घटक | Ingredients of Vasant Kusumakar Ras in Hindi

Name of ingredientsParts usedBotanical or scientific namesAmount used
स्वर्ण भस्म Swarna bhasmaCalx.Gold2 parts
रजत भस्म Rajat bhasmaCalx.Silver2 parts
वंग भस्म Vang bhasmaCalx.Tin3 parts
नाग भस्म Nag bhasmaCalx.Lead3 parts
काँटा लौह भस्म Kantak (kanta loha) bhasmaCalx.Iron3 parts
अभ्रक भस्म Abhrak (bhasma)Calx.Mica4 parts
प्रवाल भस्म Praval (bhasma)Calx.Coral4 parts
मोती भस्म Mauktik (bhasma)Calx.Pearl4 parts
गाय का दूध Go dugdhamilkCow milkQ.S. (for bhavana)
गन्ने का रस Iksu rasa/juiceStemSaccharum officinarumQ.S. (for bhavana)
वासा का रस Vasa rasa/juiceLeafAdhatoda vasicaQ.S. (for bhavana)
लाक्षा Laksa rasa/juiceExudateLacciferlaccaQ.S. (for bhavana)
खस Udicya (sugandha balaka) rasa/juiceRootAndropogan vetiveriaQ.S. (for bhavana)
केले का कंद Rambha kanda (kadali kanda) rasaStemMusa paradisiacalQ.S. (for bhavana)
कमल Sata patra prasunaka rasa

(gulaba puspa svarasa)

Flower extNelumbium speciosumQ.S. (for bhavana)
मालती MalatikusumodakaFlowerJasminum grandiflorumQ.S. (for bhavana)
कस्तूरी Mrgamada (kasturi)ExudateMusk1 part

वसंत कुसुमाकर रस के लाभ | Benefits of Vasant Kusumakar Ras in Hindi

  • यह ऊर्जा देने वाला और रसायन है।
  • यह दवा वृद्धावस्था में एक अच्छा टॉनिक है ।
  • मधुमेह के दुष्प्रभावों को कम करने में मदद करती है।
  • यह कामोद्दीपक, टॉनिक, शक्ति देने वाली, स्फूर्ति देने वाली, वाजीकारक है.
  • अज्ञात कारण से होने वाले कम बुखार में भी उपयोगी है।

वसंत कुसुमाकर रस के चिकित्सीय उपयोग | Uses of Vasant Kusumakar Ras in Hindi

वसंत कुसुमाकर रस सभी रोगों का इलाज करने के लिए एक रसायन के रूप में प्रयोग किया जाता है। यह शरीर में शक्ति और स्फूर्ति देता है. यह बुढ़ापे में ताकत देता है। यह एक कामोद्दीपक है।

यह विशेष रूप प्रमेह, मधुमेह, बहुमूत्रता, अत्यधिक प्यास, कमजोरी, नपुंसकता, प्रदर, शुक्रपात, रक्त-पित्त, रक्त-प्रदर, यौन रोगों, गर्भ की कमजोरी, योनी स्राव आदि में प्रयोग की जानी वाली दवा है।

  • मूत्रमेह, मधुमेह diabetes
  • मूत्र विकार urinary disorder
  • अकारण शुक्रपात spermatorrhoea
  • नपुंसकता impotency, शुक्राणुओं से संबंधित रोगों में
  • जलन burning sensation, asthma अस्थमा, मुंह का सूखापन dryness of mouth, बुखार, खांसी
  • वृद्धावस्था में टॉनिक
  • नाक से खून बहना/नकसीर
  • नींद न आना

सेवन विधि और मात्रा | Dosage of Vasant Kusumakar Ras in Hindi

  • 1 गोली, दिन में दो बार, सुबह और शाम लें।
  • मधुमेह में जामुन-गुठली पाउडर और शिलाजीत के साथ लें।
  • नपुंसकता और वीर्यस्राव में गाय के दूध, दिमाग के विकार में आंवले मुरब्बे के साथ लें।
  • रक्त-पित्त, रक्त-प्रदर में वासा-रस, हाइपरएसिडिटी में कुष्मांड अवलेह, प्रमेह में गिलोय के रस के साथ दें।

इस दवा को लम्बे समय तक न लें के साथ लें। केवल १ या २ महीने ही लें के साथ लें। शोध दिखाते हैं, लम्बे समय तक इस दवा का सेवन शरीर पर दुष्प्रभाव डालता है के साथ लें। इसे डॉक्टर द्वारा निर्देशित रूप में ही लें।

इस दवा को ऑनलाइन या आयुर्वेदिक स्टोर से ख़रीदा जा सकता है।

This medicine is available from Dabur (Vasant Kusumakar Ras), Shree Baidyanath Ayurved Bhawan (Basant kusumakar ras), Patanjali Divya Pharmacy (Divya Vasant Kusumakar Ras), Shree Dhootapapeshwar Limited (Vasant Kusumakar Rasa), Manil (Vasant Kusumakar Ras), Sanjeevika (Vasantkusumakar Ras) and some other pharmacies.

Loading...

4 thoughts on “वसंत कुसुमाकर रस के फायदे, नुकसान और प्रयोग

  1. hello,, namskar ji ghokru talmakhana satavar kouch beej khareti beej inke sath vasantkumakr ras ka use kar sakte hain kya

  2. I am taking this medicine since last one month before breakfast regularly.there is no change in sugar level.fasting blood sugar comes around 250.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.