Sukh Virechan Churna Details and Uses

Sukh Virechan Churna is polyherbal Ayurvedic formulation. This medicine is a purgative and helps to treat constipation. Sukh Virechan powder is contains Senna leaves, Kala Daana, Saunf, Nishoth, rose petals and harad. This medicine is combination of purgative.

Loading...

Here information is given about complete list of ingredients, properties, uses and dosage of this medicine in Hindi language.

सुख विरेचन चूर्ण औषधीय पौधों से तैयार एक आयुर्वेदिक दवा है। यह पूरी तरह से हर्बल है । यह पाउडर विरेचन के लिए बहुत अच्छा है और कब्ज और उसकी वजह से होने वाली तकलीफों से आरम दिलाता है। सुख विरेचन चूर्ण में काला दाना, सौंफ, निशोत, गुलाब की पंखुड़ियों और हरीतकी शामिल है। यह दवा विरेचक का बहुत से उत्तम विरेचकों का कॉम्बिनेशन है।

यहाँ इस दवा के घटक, गुण, उपयोग, फायदे और इस्तेमाल की विधि के बारे में जानकारी दी गयी है.

Sukh Virechan Churna के प्रमुख घटक Ingredients

नाम

लैटिन नाम

मात्रा

सोनामुखी/सनाय

Cassia angustifoliea

6 part

निशोथ

Operculina turpethum

6 part

काला दाना

Ipomoea nil

6 part

हरीतकी

Terminalia chebula

3 part

सौंफ

Foeniculum vulgare

3 part

गुलाब फूल

Rose flower

3 part

  1. सनाय विरेचक, cholagogue (पित्त के निकलने को बढ़ावा देता है) ।
  2. काला दाना Ipomoea nil के बीज होते हैं। यह अच्छे विरेचक और खून साफ़ करने में उपयोगी होते हैं।
  3. निशोथ गुण में कड़वा, तीखा, तापजनक, विरेचक, वातहर, कृमिघ्न और ज्वरनाशक है तथा इसका प्रयोग आयुर्वेद में पेट दर्द, कब्ज, जलोदर, पक्षाघात, जोड़ों का दर्द, मोटापा, जलोदर, सूजन, मियादी बुखार, श्वेतदाग, अल्सर, अर्श, पीलिया आदि के इलाज में होता है ।
  4. सौंफ वातहर, हल्का विरेचक और मूत्रवर्धक है ।
  5. हरीतकी पाचक और ऊर्जा टॉनिक है । यह कब्ज और दस्त दोनों के लिए अच्छा काम करती है।

मुख्य गुणधर्म और उपयोग Qualities and therapeutic uses

  1. यह चूर्ण विरेचक और दस्तावर है ।
  2. यह आंतो में जमे मल को साफ़ करता है ।
  3. यह पेट या आंत में जलन पैदा नहीं करता है।
  4. यह शरीर से विषाक्त पदार्थों को दूर करता है।
  5. यह जठराग्नि को प्रदीप्त करता है।

कब्ज और इस की वजह से होने वाली समस्याओं जैसे गैस, उल्टी, पेट फूलना, खट्टी डकार और एसिडिटी में आराम देता है । बवासीर और fissure इसके इस्तेमाल से आराम मिलता है।

सेवनविधि और मात्रा How to take and dosage

3-6 gram रात को सोते समय और, सुबह खाली पेट गर्म पानी के साथ लें। या चिकित्सक द्वारा निर्देशित के रूप में लें।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*