सोमनाथ रस बृहत् के फायदे, नुकसान और प्रयोग

बृहत् सोमनाथ रस, सोमनाथ रस (एक दूसरी दवा, दोनों के घटक अलग हैं ) की ही तरह लाभकारी है परन्तु इसमें स्वर्ण, अभ्रक, वंग, रजत, स्वर्णमाक्षिक होने के कारण यह बीस प्रकार के प्रमेह, मधुमेह, बहुत अधिक पेशाब आने, मूत्रकृच्छ, मूत्राघात, आदि में भी प्रयोग की जाती है।

सोमनाथ रस बृहत्, एक आयुर्वेदिक रस औषधि है जिसमें रस, पारा है। पारे को ही आयुर्वेद में रस या पारद कहा जाता है और बहुत सी दवाओं के निर्माण में प्रयोग किया जाता है। पारा एक विषाक्त धातु है और इसे आयुर्वेद में केवल सही प्रकार से शोधित कर के ही इस्तेमाल किया जाता है। रस औषधियां शरीर पर शीघ्र प्रभाव डालती हैं। इन्हें डॉक्टर की देख-रेख में ही लेना सही रहता है।

बृहत् सोमनाथ रस, सोमनाथ रस (एक दूसरी दवा, दोनों के घटक अलग हैं ) की ही तरह लाभकारी है परन्तु इसमें स्वर्ण, अभ्रक, वंग, रजत, स्वर्णमाक्षिक होने के कारण यह बीस प्रकार के प्रमेह, मधुमेह, बहुत अधिक पेशाब आने, मूत्रकृच्छ, मूत्राघात, आदि में भी प्रयोग की जाती है।

Loading...

Brihat Somnath Ras is a mineral containing Ayurvedic medicine. It contains Parad, Gandhak, Lauha Bhasma, Abhrak Bhasma, Raupya Bhasma, Vang Bhasma, Kharpar Bhasma/Yashad Bhasma, Swarna Bhasma, Swarnmakshik Bhasma. It is a Ras-aushadhi.

Somnath Ras and Brihat Somnath Ras have different formulation. Brihat Somnath Ras is prepared from minerals whereas Somnath Ras contains herbal ingredients along with Kajjali. Somnath ras is mainly indicated in Som rog but Brihat is indicated in Som-rog, urinary disorders and diabetes as it contains bhasm of gold, silver, mica etc. Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

सोमनाथ रस बृहत् के घटक Ingredients of Somnath Ras Brihat in Hindi

पारद Mercury १२ ग्राम, गंधक Sulphur १२ ग्राम, लौह Iron भस्म ४८ ग्राम, प्रत्येक ६ ग्राम: अभ्रक भस्म, रौप्य Silver भस्म, बंग भस्म, खर्पर भस्म या यशद भस्म, स्वर्ण Gold भस्म, स्वर्णमाक्षिक भस्म;

Loading...

भावना : घृत कुमारी Aloe vera, मण्डूकपर्णी Brahmi.

सोमनाथ रस बृहत् के चिकित्सीय उपयोग | Uses of Somnath Ras Brihat in Hindi

सोमनाथ रस बृहत् सोम-रोग, प्रमेह, मधुमेह और मूत्र सम्बन्धी रोगों की अच्छी औषधि है।

  • सोम रोग
  • मधुमेह diabetes
  • बहुमूत्र
  • मूत्रातिसार
  • मूत्राघात retention of urine
  • हस्तिमेह
  • इक्षुमेह
  • लालमेह

सेवन विधि और मात्रा | Dosage of Somnath Ras Brihat in Hindi

  • 1-2 गोली, दिन में दो बार, सुबह और शाम लें।
  • इसे शहद के साथ लें और फिर दूध पी लें।
  • या डॉक्टर द्वारा निर्देशित रूप में लें।

इस दवा को ऑनलाइन या आयुर्वेदिक स्टोर से ख़रीदा जा सकता है।

This medicine is manufactured by Baidyanath (Somnath Ras Brihat).

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.