ऊँझा मकरध्वज वटी फायदे, नुकसान, उपयोग विधि और प्राइस

मकरध्वज वटी, का सेवन शरीर में बल और स्टैमिना को बढाता है। पुरुषों द्वारा इसका सेवन शीघ्रपतन, नपुंसकता, को नष्ट करता है तथा स्तम्भन शक्ति को बढ़ाता है।

ऊँझा मकरध्वज वटी (गोल्ड कोटेड), ऊँझा आयुर्वेदिक फार्मेसी द्वारा निर्मित आयुर्वेदिक दवा है जिसमे मकरध्वज, रस सिन्दूर, मल्ल सिन्दूर, अभ्रक भस्म, समेत जावित्री, जायफल, लौंग, कपूर, काली मिर्च हैं।

इस दवा में वाजीकारक, बल वर्धक, और पुष्टिकारक गुण हैं। इस दवा का सेवन शरीर में धातु को बढाता है।

Loading...

मकरध्वज त्रिदोष विकार, न्ययूरोलोजिकल डिसऑर्डर्स, और पुरुषों के यौन विकारों में उपयोगी दवा है। मकरध्वज को अकेले नहीं अपितु अन्य घटकों के साथ ही प्रयोग किया जाता है। इसे सोने, परद और गंधक के संयोग से बनाया जाता है। इसमें धातु पुष्टिकारक और कामोत्तेजक गुण होते हैं।

मकरध्वज वटी, का सेवन शरीर में बल और स्टैमिना को बढाता है। पुरुषों द्वारा इसका सेवन शीघ्रपतन, नपुंसकता, को नष्ट करता है तथा स्तम्भन शक्ति को बढ़ाता है।

Makardhwaj Vati (Gold Coated) is mineral and herb containing Ayurvedic medicine used especially to treat sexual disorders of men. It has aphrodisiac, nutritive and tonic properties. Its use improves stamina and erection. It helps in weight gain and better physical and mental health.

Loading...

Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

मकरध्वज वटी के घटक | Ingredients of Makardhwaj Vati in Hindi

  • मकरध्वज 28.25%
  • रस सिंदूर 16.70%
  • मल्ल सिंदूर 4.04%
  • जायफल (Myristica Fragrans) 9.74%
  • जावंत्री (Myristica Fragrans)10.70%
  • लौंग (Syzgium Aromaticum) 9.74%
  • कपूर (Dryobalanops Aromatica)9.74%
  • सफ़ेद मिर्च (Piper Nigrum) 9.74%
  • अभ्रक भस्म 0.15%
  • लोह भस्म 0.24%
  • शुद्ध कुचला (stychnos Nuk vomica)0.24%
  • चित्रकमूल (Plumbago Zeylanica)0.48%
  • Excipients Q.S.

मकरध्वज वटी के लाभ | Benefits of Makardhwaj Vati in Hindi

  • यह रसायन है जो शरीर का वजन बढ़ाती है।
  • यह स्तम्भन शक्ति पैदा करती है।
  • यह सम्भोग शक्ति बनाये रखने में उपयोगी है।
  • यह शारीरक और मानसिक बल देती है।
  • इसका सेवन पुरुष यौन रोगों को नष्ट करता है।
  • यह शीघ्र पतन की उत्तम दवा है।
  • यह प्रभावी कामोद्दीपक है जो यौन इच्छा को बढ़ाता है।
  • यह बांझ दंपतियों को आशा प्रदान करता है।
  • पुरानी मधुमेह, उच्च रक्तचाप आदि रोगों के कारण यौन शक्ति में ह्रास होने पर इसका सेवन लाभकारी है।

मकरध्वज वटी के चिकित्सीय उपयोग | Uses of Makardhwaj Vati in Hindi

  • धातु रोग, premature ejaculation, erection problems, impotence,
  • वीर्य विकार Sperms abnormalities
  • कामेच्छा में कमी Loss of libido
  • दुर्बलता debility
  • नींद न आना insomnia

मकरध्वज वटी की सेवन विधि और मात्रा | Dosage of Makardhwaj Vati in Hindi

  • 1-2 गोली, दिन में दो बार, सुबह और शाम लें।
  • इसे दूध या पान के पत्ते के साथ लें।
  • इसे भोजन करने के बाद लें।
  • या डॉक्टर द्वारा निर्देशित रूप में लें।

इस दवा को ऑनलाइन या आयुर्वेदिक स्टोर से ख़रीदा जा सकता है।

Ayurvedic medicines containing detoxified, toxic material/ poisonous substances, heavy metals should be taken only under medical supervision.

Loading...

2 thoughts on “ऊँझा मकरध्वज वटी फायदे, नुकसान, उपयोग विधि और प्राइस

  1. I have premature ejaculation and erectile disjunction problem,I think it (makaradhoja vati) will be the best remedy to cure,pls suggest.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.