गोमूत्र हरीतकी के फायदे, नुकसान और उपयोग विधि

गोमूत्र हरीतकी, गोमूत्र और हरीतकी/हरड़ के संयोजन से बनी एक आयुर्वेदिक दवा है। इसका उल्लेख सुश्रुत संहिता, चरक संहिता और अष्टांग हृद्यम में मिलता है।

Gomutra Haritaki is an Ayurvedic formulation prepared from Cow’s urine and Haritaki. This medicine is useful in many diseases such as diseases of oral cavity, anemia, inflammation, digestive weakness, and constipation.

Here information is given about complete list of ingredients, properties, uses and dosage of this medicine in Hindi language.

Loading...

गोमूत्र हरीतकी, गोमूत्र और हरीतकी/हरड़ के संयोजन से बनी एक आयुर्वेदिक दवा है। इसका उल्लेख सुश्रुत संहिता, चरक संहिता और अष्टांग हृद्यम में मिलता है।

सुश्रुत संहिता, में गोमूत्र सिध्द हरीतकी को अग्नि की स्थिति में सुधार करने के लिए और अर्श/बवासीर के लक्षणों को शांत करने के लिए प्रयोग करने के लिए कहा गया है।

अष्टांग हृद्यम, में गोमूत्र-हरीतकी बनाने के लिए हरीतकी को गो-मूत्र में पकाया जाता है। शहद के साथ इस दवा का सेवन बवासीर, कुष्ठ रोग, जलोदर, पेट में ट्यूमर, गण्डमाला, मोटापा, एनीमिया और कफ से उत्पन्न होने वाली जांघों की कठोरता के साथ, और कफज अर्श, आदि में लाभप्रद है।

गोमूत्र-हरीतकी गुणों में लघु/हल्का, उष्ण/ गर्म, तीक्ष्ण/ तीव्र और रुक्ष/ सूखा है।

नीचे इस दवा के घटक, गुण, सेवनविधि, और मात्रा के बारे में जानकारी दी गयी है।

गोमूत्र हरीतकी के घटक Ingredients / Formulation composition of Gomutra Haritaki in Hindi

  1. Gomutra गोमूत्र Cow urine 4 parts
  2. Pathya (Haritaki हरीतकी) Terminalia chebula P. 1 part
  3. Jala Kvatha हृवेरा (Hrivera) Coleus vettiveroides Rt. 1 part
  4. Mishi Kvatha सौंफ (Mishreya) Foeniculum vulgare Fr. 1 part
  5. Kushtha कूठ Kvatha Saussurea lappa Rt. 1 part

गोमूत्र हरीतकी के चिकित्सीय उपयोग | Gomutra Haritaki Uses in Hindi

  • मुख रोग (disease of mouth) मुंह रोग के रोग
  • गठिया और इसी तरह की स्थिति
  • पाचन की कमजोरी
  • कब्ज
  • धीमी आंतों की गतिशीलता
  • अर्श या पाइल्स (बवासीर)
  • पांडु (एनीमिया)
  • शोथ (Oedema)

गोमूत्र हरीतकी की सेवनविधि और मात्रा How to take Gomutra Haritaki and dosage in Hindi

यह दवा पाउडर और टेबलेट के रूप में उपलब्ध है। यह कई रोगों में उपयोगी है इसलिए सटीक खुराक व्यक्ति के रोग पर,उम्र पर और स्वास्थ्य पर निर्भर है। यह दवा पाउडर के रूप में 1-5 ग्राम और गोली के रूप में 1-2 गोलियों की खुराक में ली जा सकती है।

Where to buy

आप इस दवा को सभी फार्मेसी दुकानों पर या ऑनलाइन खरीद सकते हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.