अविपत्तिकर चूर्ण Avipattikar Churna Detail and Uses in Hindi

अविपत्तिकर चूर्ण एक बहुत ही जाना-माना आयुर्वेदिक चूर्ण या पाउडर है। इस औषधीय चूर्ण को भैषज्यरत्नावली के अम्लपित्तरोगाधिकार से लिया गया है। यह अम्लपित्त के लिए प्रयोग की जाने वाली दवाई है।

Loading...

अम्लपित्त या एसिडिटी, में शरीर में कुछ कारणों से पित्त ज्यादा मात्रा में बनने लगता है। पित्त का स्वाद खट्टा, कड़वा सा होता है और जब यह डकार के साथ पेट से निकल कर मुंह में आता है तो मुंह का स्वाद ख़राब हो जाता है और गले के पीछे जलन हो जाती है। अम्लपित्त एक पित्तविकार है। अधिक पित्त से शरीर में जलन, ब्लीडिंग डिसऑर्डर, अपची, भूख की कमी हो जाती है। पाचन के सही न होने से सारे स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ता है।

Avipattikar Churan

अविपत्तिकर चूर्ण में त्रिकटू, त्रिफला, मोथा, विड नमक, विडंग, छोटी इलाइची, तेजपत्ता, लौंग, त्रिवृत, और चीनी डाली जाती है। त्रिवृत सारी जड़ी-बूटियों के चूर्ण से दुगने की मात्रा में डाला जाता है। इसका सेवन पाचन को सही करता है, एसिड की मात्रा को शरीर में कम करता है, कब्ज़ दूर करता है तथा पेट की अल्सर बनने से रक्षा करता है।

Avipattikar Churna is an herbal OTC Ayurvedic powder. It has antacid and gastroprotective effects. It reduces acidity in body and maintains proper acid-base balance. It improves appetite and digestion without increasing pitta. It is generally recommended for hyperacidity. Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

अविपत्तिकर चूर्ण के घटक Ingredients of Avipattikar Churna

  • सोंठ Shunthi Zingiber officinale Rz. 1 part
  • काली मिर्च Maricha Piper nigrum Fr. 1 part
  • पिप्पली Pippali Piper longum Fr. 1 part
  • हरीतकी Haritaki Terminalia chebula P. 1 part
  • विभितकी Bibhitaka Terminalia bellirica P. 1 part
  • आमलकी Amalaki Phyllanthus emblica P. 1 part (Emblica offcinalis)
  • मोथा Musta Cyperus rotundus Rz. 1 part
  • विड लवण Vida lavana 1 part
  • विडंग Vidanga Embelia ribes Fr. 1 part
  • एला Ela (Sukshmaila API) Eletteria cardamomum Sd. 1 part
  • तेज पत्र Patra (Tejapatra API) Cinnamomum tamala Lf. 1 part
  • लौंग Lavanga Syzygium aromaticum Fl. Bd. 11 parts
  • त्रिवृत Trivrit Ipomoea turpethum Rt. 44 parts
  • शर्करा Sharkara Cane sugar – 66 parts

अविपत्तिकर चूर्ण के लाभ/फ़ायदे Benefits of Avipattikar Churna

  • यह अम्लपित्त के लिए एक अच्छी हर्बल दवा है।
  • यह कब्ज़ को दूर करती है।
  • यह अग्निमान्द्य को दूर कर पाचन को बढ़ाती है।
  • यह मूत्र रोगों, दर्द के साथ मूत्र तथा किडनी में पथरी में लाभप्रद है।
  • यह पित्त विरेचक है।
  • यह मितली, उल्टी, जलन, एसिड रिफ्लक्स, पित्त के कारण सर दर्द आदि से राहत देता है।
  • यह पेट में अल्सर बनने से रोकती है।
  • इसके सेवन से पित्त की वृद्धि न होते हुए भी पाचन अच्छा होता है।
  • यह शरीर में एसिड को कम करती है। अच्छे स्वास्थ्य के लिए शरीर में एसिड कम और बेस ज्यादा होना चाहिए। शरीर में एसिड ज्यादा होते ही बहुत से रोगों के होने की संभावना बढ़ जाती है।
  • यह पेट की लाईनिंग की एसिड से रक्षा करती है।

अविपत्तिकर चूर्ण के चिकित्सीय उपयोग Uses of अग्निमांद्य (digestive impairment)

  • मलबन्ध (constipation)
  • अम्लपित्त (Hyperacidity)
  • अर्श (Piles)
  • मूत्रत्रबंध (retention of urine)
  • पेशाब में जलन
  • प्रमेह (urinary disorder)
  • पेट में अल्सर

सेवन विधि और मात्रा Dosage of Avipattikar Churna

  • ३-६ ग्राम की मात्रा में, दिन में दो बार, सुबह और शाम लें।
  • इसे शहद/ दूध/ गर्म पानी/सोंठ के साथ लें।
  • इसे भोजन करने के पहले लें।
  • या डॉक्टर द्वारा निर्देशित रूप में लें।
  • इसमें चीनी है इसलिए मधुमेह में इसका सेवन न करें।

इस दवा को ऑनलाइन या आयुर्वेदिक स्टोर से ख़रीदा जा सकता है।

loading...

This medicine is manufactured by Baidyanath (Avipaatikar Churna), Dabur (Avipattikar Churna), Zandu (Zandu Avipattikar Churna), Patanjali Divya Pharmacy (Divya Avipattikar Churna), Sri Sri Ayurveda (Avipattikara Churna), and many other Ayurvedic pharmacies.

loading...

One thought on “अविपत्तिकर चूर्ण Avipattikar Churna Detail and Uses in Hindi

  1. अम्लपित की चिकित्सा में यह बहुत उपयोगी चूर्ण है | धन्यवाद आपने इसके महत्वपूर्ण उपयोगो के बारे में बताया |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*