अर्शोघ्नी वटी Arshoghni Vati Detail and Uses in Hindi

अर्शोध्नी वटी एक आयुर्वेदिक दवा है. यह दवा दोनों प्रकार के बवासीर के लिए लाभदायक है. बवासीर के दो प्रकार माने जाते हैं: बादी और खूनी. खूनी बवासीर, में जब रक्तस्राव ज्यादा हो तो इस दवा का प्रयोग इसे रोकने में मदद करता है. इस दवा का नियमित प्रयोग बवासीर को नष्ट करता है. बावासीर में इसका प्रयोग मस्सों को सुखा देता है. यह दर्द, जलन, खुजली तथा बवासीर से जुडी अन्य स्वास्थ्य समस्याओं में आराम दिलाती है.

Loading...

अर्शोघ्नी वटी दस्तावर laxative है और कब्ज़ को दूर करती है. यह दवा वायुनाशक और रक्त-रोधक है.

Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, composition and dosage in Hindi language.

अर्शोघ्नी वटी के घटक Ingredients of Arshoghni Vati

निम्बोली २४ ग्राम; बकायन के फल की मींगी २४ ग्राम;

खून-खराबा (यूनानी-दमउल अखवे) २४ ग्राम; तृणकान्त पिष्टी १२ ग्राम; शुद्ध रसौत ७२ ग्राम;

बनाने की विधि: पहले निम्बोली और बकायन की मींगी को अच्छे से पीसकर बारीक़ पाउडर बना उसमे अन्य द्रव मिला दें और २ रत्ती की गोलियां बनाकर सुखा लें.

अर्शोघ्नी वटी के चिकित्सीय उपयोग Uses of Arshoghni Vati

यह दवा अर्श या बवासीर piles के उपचार में प्रयोग की जाती है. यह शरीर से विषाक्त पदार्थो को निकलती है और वायुनाशक है. यह कब्ज़ में आराम देती है और रक्त बवासीर bleeding piles में ब्लीडिंग को बंद करती है.

सेवन विधि और मात्रा Dosage of Arshoghni Vati

  • 1 गोली, दिन में दो बार, सुबह और शाम लें.
  • इसे मट्ठे या ठन्डे पानी के साथ लें.
  • या डॉक्टर द्वारा निर्देशित रूप में लें.
  • इस दवा को ऑनलाइन या आयुर्वेदिक स्टोर से ख़रीदा जा सकता है.

You can buy this medicine online or from medical stores.

This medicine is manufactured by Baidyanath (Arshoghni Bati), Sanjeevika (Arshoghani Vati), Unjha pharmacy and many other Ayurvedic pharmacies.

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*