Acidity(एसिडिटी) के घरेलू उपचार

एसिडिटी पाचन तंत्र की एक बहुत ही सामान्य समस्या है। यह पेट के अन्दर सामान्य से ज्यादा एसिड की वजह से होती है। पेट मैं एसिड खाना पचाने के लिए उत्पन्न होता है। जब यह सामान्य से ज्यादा उत्पन्न होता है तब यह बहुत ज्यादा गैस बनाता है जिसली वजह से पेट दर्द और कभी कभी सीने मैं दर्द के साथ उलटी भी होती है।

एसिडिटी के निम्न कारण हो सकते हैं:

  • अक्षम पाचन तंत्र
  • शराब का अत्यधिक सेवन
  • लंबे समय के लिए खाली पेट / लंघन नाश्ता
  • गर्भावस्था
  • बुढ़ापा
  • मोटापा
  • जंक फूड, ऑयली और मसालेदार भोजन
  • धूप और अत्यधिक गर्मी
  • एस्पिरिन और दूसरी दवाएं
  • भोजन की असंगति
  • अतिरिक्त एसिड स्राव
  • अत्यधिक धूम्रपान
  • गैस्ट्रो ग्रहणी (पेप्टिक) अल्सर
  • हाइड्रोक्लोरिक एसिड का अत्यधिक स्राव
  • नकारात्मक भावनाएं

एसिडिटी के निम्न लक्षण हो सकते हैं:

  • छाती में दर्द
  • उल्टी
  • खाँसी
  • नाराज़गी
  • अपच
  • डकार
  • मतली
  • कान में दर्द
  • सीने में सूजन
  • सांस की समस्या
  • मांसपेशियों में संकुचन के दौरान दर्द
  • 1-4 घंटे के बाद पेट में सनसनी या दर्द जल
  • पेट के ऊपरी हिस्से में लगातार दर्द
  • मुँह में कड़वा स्वाद
  • भूख में कमी

एसिडिटी के घरेलु उपचार:

  1. 1 बड़ा चम्मच चीनी और आधा कप दही के साथ 3 बड़े चम्मच सफेद प्याज का रस मिला कर पिने से अम्लता को कम करने में मदद मिलती है।
  2. चीनी और काली मिर्च पाउडर के साथ अनानास खाने से भी अम्लता कम कर होती है।
  3. १० ग्राम कुचल काले मुन्नाक्के को 1 चम्मच आंवला (आंवला) का रस और एक चम्मच शहद मिला कर पिने से काफी लाभ होता है।
  4. आधा कप पानी के साथ ठंडा ¼ कप दूध पीने अम्लता से राहत मिलती है।
  5. आमचूर,इलायची और चीनी की चटनी खाने से भी आराम मिलता है।
  6. दोपहर के भोजन से १-½ घंटे पहले अध लीटर पानी में १ नीबू का रस और ½ चम्मच चीनी मिला कर पिने से काफी लाभ मिलाता है।
  7. भोजन के बाद ½ चम्मच चीनी और १ चाय का चम्मच धनिया खाने से भी एसिडिटी मैं काफी फायदा होता है।
    गाजर का रस भी अम्लता के इलाज में अद्भुत काम करता है। जिनको एसिडिटी हो उनको गाजर का रस जरूर पीना चाहिए।
  8. 4-5 काली मिर्च कॉर्न्स को देशी घी मैं धीरे धीरे भून कर पावडर बना लें और १०० ml दूध में चीनी के साथ मिला कर पिने से भी काफी लाब मिलता है।
  9. 5-6 तुलसी के पत्ते को 1 कप दही या छाछ एक गिलास के साथ सेवन करने से भी बहुत फायदा होता है।
    धनिया पाउडर और सोंठ पाउडर बराबर मात्रा में मिलाएं, और इस मिश्रण की एक चाय का चम्मच सेवन करें बहुत लाभ होगा।

एसिडिटी मैं निम्न खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए

  • शराब
  • गोभी
  • तला हुआ खाना
  • मांसाहारी आहार
  • प्याज
  • मिर्च
  • अचार
  • मूली
  • धूम्रपान
  • मसालेदार, नमकीन और अम्लीय भोजन
  • स्टेरॉयड दवाओं

एसिडिटी में निम्न खाद्य पदार्थों का सेवन जरूर करना चाहिए

  • अम्लान रंगीन पुष्प का पौध
  • सेब
  • एस्परैगस
  • केला
  • ब्राजील नट्स
  • ताजा नारियल
  • ताजा मटर
  • ताजा सब्जियों के रस
  • लहसुन
  • हरी सेम
  • एक प्रकार का अनाज
  • गाजर
  • अजमोदा
  • गोलियां
  • बाजरा
  • अजमोद
  • अंकुरित बीन्स और बीज
  • तरबूज
Loading...

2 thoughts on “Acidity(एसिडिटी) के घरेलू उपचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.