कांचनार गुग्गुलु Kanchanar Guggulu Details and Uses in Hindi

loading...

कांचनार गुग्गुलु एक आयुर्वेदिक दवा है। इसे कांचनार की छाल, गुग्गुलु, त्रिफला, त्रिकटु, त्रिजात, और वरुण की छाल से बनाया जाता है। इसे बनाने के लिए सभी घटकों का बारीक़ चूर्ण/ पाउडर लेते हैं और सब चूर्ण के बराबर गुग्गुल मिला कर, घी या तेल मिला कर गोलियां बना लेते है। इन गोलियों को सुखा लेते है। यही कांचनार गुग्गुलु कहलाती है।

कांचनार गुग्गुलु मुख्यतः थायराइड रोग, ग्रंथियों में सूजन, लिम्फ नोड्स सूजन, गर्भाशय पोलिप और शरीर की अन्य असामान्य वृद्धि के इलाज के लिए सबसे अच्छी आयुर्वेदिक दवाओं में से एक है।

इस दवा के मुख्य अवयव कांचनार और गुग्गुल हैं। आयुर्वेद में, कांचनार की छाल को कंठमाला, त्वचा रोग और अल्सर के उपचार में प्रयोग किया जाता है। यह एक टॉनिक और विशेष रूप से गर्दन की ग्रंथियों के गंडमाला वृद्धि के इलाज़ के लिए उपयोगी है।

गुग्गुलु एक पेड़ से प्राप्त किया जाता है और अनेक आयुर्वेदिक दवाओं के निर्माण में प्रयोग किया जाता है। यह वात, पित्त और कफ का संतुलन करता है। यह तासीर में गर्म होता है। गुग्गुलु शरीर की सभी प्रणालियों पर काम करता है। यह टॉनिक, एंटीसेप्टिक, दर्द से राहत, ऐंठन से राहत, और कफ कम करने वाला होता है। यह विशेष रूप से दर्द कम करने, शरीर से सूजन को हटाने, शरीर से टोक्सिन निकालने और ग्रंथियों की असामान्य बढ़वार को रोकने के लिए इस्तेमाल होता है।

Kanchanar Guggulu is a polyherbal Ayurvedic formulation. For preparing this medicine, first the bark of Bauhinia variegata, the three myrobalans, ginger, black pepper, long pepper and the bark of Crateva religiosa, cardamoms, cinnamon, and tejpatra leaves are powdered and then rubbed together with guggulu equal in weight to all the other ingredients. The tablet are rolled and dried. The dried tablet are known as Kanchanar Guggulu/ Kanchnar Guggul. This medicine is useful in scrofulous enlargement of glands, tumours, ulcers, skin diseases, fistula, thryoid dysfunction etc. This medicine is also known as Kanchnar Guggulu, Kanchanara Guggulu, Kanchnar Guggul, Kanchnaar Guggul.

Here information is given about complete list of ingredients, properties, benefits, uses, and dosage of Kanchanar Guggulu in Hindi language.

loading...

नीचे इस दवा के घटक, गुण, उपयोग और इस्तेमाल की विधि के बारे में जानकारी दी गयी है।

कांचनार गुग्गुलुके घटक Ingredients of Kanchanar Guggulu

Formulation composition:

  • Kancanara कांचनार Bauhinia variegata St. Bk. 480 g
  • Haritaki हरीतकी Terminalia chebula P. 96 g
  • Bibhitaka विभितकी Terminalia bellerica P. 96 g
  • Amalki अमलकी Phyllanthus emblica P. 96 g
  • Shunthi सोंठ Zingiber officinale Rz. 48 g
  • Marica काली मिर्च Piper nigrum Fr. 48 g
  • Pippali पिप्पली Piper longum Fr. 48 g
  • Varuna वरुण Cratmiva nurvala St. Bk. 48 g
  • Ela इलाइची (Sukshmaila) Elettaria cardamomum Sd. 12 g
  • Tvak दालचीनी Cinnamomum zeylanicum St. Bk. 12 g
  • Patra तेजपत्ता (TejaPatra तेजपत्ता) Cinnamomum tamala Lf. 12 g
  • Guggulu Shuddha Commiphora wightii O.R. 996 g

त्रिफला Triphala = हरड़, आमला, बहेड़ा; त्रिकटु Trikatu = सोंठ, काली मिर्च, पिप्पली; त्रिजात Trijata =इलाइची, तेजपत्ता, दालचीनी.

Lf. =Leaf; P. =Pericarp; Rt. =Root; Fr. =Fruit; Rz. =Rhizome; Sd.= Seeds; St. =Stem; St. Bk.= Stem Bark; Fl. Bd. =Flower Bud.

कांचनार गुग्गुलु के लाभ Benefits of Kanchanar Guggulu

  • ग्रंथियों में सूजन को कम करने के लिए सबसे अच्छी आयुर्वेदिक दवा। reduces swelling of glands, lymph nodes.
  • थायराइड की समस्याओं जैसे की उसका कम या ज्यादा होने के लिए बहुत बढ़िया। beneficial in thyroid disorder.
  • ग्रंथियों की वृद्धि को रोकने और ठीक करने में मदद करता।
  • वजन, कफ और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता है।

कांचनार गुग्गुलु के चिकित्सीय उपयोग

कांचनार गुग्गुलु थायराइड रोगों, ग्रंथियों के बढ़ जाने, और कफ के इलाज में दी जाती है। यह कफको ढीला करता है और लसीका प्रणाली के सही दांग से काम करने में मदद करता है. यह शरीर से विषाक्त पदार्थों के निकाल, रोग को जड़ से हटाने में लाभप्रद है है। यह अमा या विषाक्त पदार्थों को नष्ट करता है। कांचनार गुग्गुलु ट्यूमर को रोकने में लाभदायक प्रभाव दिखाता है। यह अल्सर भर देता है। यह गुदा फिस्टुला के उपचार में उपयोगी है, कफ, रक्तपित्त (आंतरिक रक्तस्राव) और मासिक धर्म संबंधी विकार में भी उपयोगी है।

कांचनार गुग्गुलु मुख्य रूप से पेट में गांठ, गण्डमाला, कंठमाल), ग्रंथी, अल्सर, त्वचा के रोग, फाइलेरिया आदि के इलाज के लिए दिया जाता है।

  • गुल्म, पेट गांठ (abdominal lump)
  • Gandamala गण्डमाला (cervical lymphadenitis)
  • Apaci (chronic lymphadenopathy/scrofula कंठमाला)
  • Granthi (cyst)
  • Vrana (अल्सर) (ulcer)
  • Kushtha कुष्ठ त्वचा के रोग(diseases of skin)
  • Bhagandara फिस्टुला (fistula-in-ano)
  • Shlipada (फाइलेरिया) (filariasis)

सेवनविधि और मात्रा How to take and dosage

कांचनार गुग्गुलु, एक गोली दिन में दो बार। खुराक रोग की गंभीरता के अनुसार बढ़ायी जा सकती है। आदर्श खुराक चार गोलियां, एक दिन में तीन बार है।

Where to buy Kanchnar Guggulu

You can buy this medicine from medical stores or online.

This medicine is manufactured by Dabur (Kanchnar Guggulu), Shree Baidyanath Ayurved Bhawan (Kanchanar Guggulu), Zandu (Kanchnar Guggul Gutika), Patanjali Divya Pharmacy (Divya Kanchnar Guggul), Shree Dhootapapeshwar Limited (Kanchanar Guggul), Nirogam (Kanchnar Guggulu), Sri Sri Ayurveda (Kanchanara Guggulu), Planet Ayurveda (Kanchnaar Guggul) and some other pharmacies. You can buy it from medical store or online.

loading...

16 thoughts on “कांचनार गुग्गुलु Kanchanar Guggulu Details and Uses in Hindi

  1. mujhe hypothrodism hai jiske wajah se mera weight badh raha hai
    yeh kanchana guggule kitne din lene se wajan kam hona start ho jayega

  2. meri gardan me ek gath bani hui h 7-8 month se kya ye pills use theek kr shakti h agar ha to kitne din me,maine sare test kra liye h ye ghath normal h per iska size dheere dheere badh rha h to doctor ne operation ki advise di hai. plz addvise me

    • Yes.kanchnaar guggule ke sevan se pahle gath dhire dhire narm hogi. Fir ye gath pighalna shuru hogi.
      3 se 4 mahine me gath puri tarah disolve ho jayegi.
      Chikitsa ke dauraan spicy,oily,and non veg ko puri tarah se band karna hoga.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*