Hempushpa syrup Benefits

loading...

Hempushpa syrup is a completely herbal Ayurvedic medicine from Raj Vaidya Sheetal Prasad & Sons. It is a tonic for women and cures various reproductive system related health problems. It purifies blood and improves digestion. Here is given more about this medicine in Hindi language.

हेमपुष्पा, राज वैद्य शीतल प्रसाद एंड संस द्वारा निर्मित नब्बे वर्षों से उपलब्ध महिलाओं के औषधी और टॉनिक है। यह एक आयुर्वेदिक दवा है जो की महिलाओं के पूरे स्वास्थ्य को सही करती है और गर्भाशय से समन्धित विभिन्न विकारों में लाभ करती है।

हेमपुष्पा के प्रमुख घटक लोध्र, मंजीठ, बला, गोखरू, शंखपुष्पी, पुनर्नवा, अश्वगंधा, बाख, दारुहल्दी, गंभारी, नागरमोथा, और शतावरी हैं।

लोध या लोध्र की छाल का प्रयोग आयुर्वेद में रक्तस्राव, श्वेत प्रदर, मुँहासे, शरीर से गर्मी कम करने में, अल्सर, ट्यूमर, त्वचा रोग, यकृत रोग, गर्भ के संकुचन को कम करने में, मासिक में अधिक रक्त के इलाज में, लगातार गर्भपात, अपच, पेट फूलना, प्रदर, दस्त, पेचिश, और सूजाक के इलाज के लिए होता है। मंजीठ, को आयुर्वेद में, योनी रोग, गर्भाशय के रोगों में, लयूकोरिया, लीवर के रोगों में, और बहुत से त्वचा रोगों में प्रयोग किया जाता है। शतवारी तो आयुर्वेद में महिलाओं की एक बहुत अच्छी औषधि है। यह फर्टिलिटी को बढाती है तथा मासिक धर्म को नियमित करती है। यह रजोनिवृत्ति के दौरान भी दी जाती है। इसका उपयोग पेट के अल्सर, एसिडिटी, जीर्ण ज्वर, सूजन, कोलाइटिस में भी होता है। यह शरीर में वात और पित्त को बैलेंस करती है। इसी तरह अन्य घटक भी शरीर में हारमोंस, पाचन, रक्त आदि को सही करते है।

Therapeutic uses of Hempushpa

हेमपुष्पा स्त्रियों के लिए एक हर्बल टॉनिक है। यह मासिक धर्म की विभिन्न समस्याओं लो दूर करती है तथा खून को साफ़ करती है। यह पाचन को भी सही करती है तथा गर्भाशय के संकुचन को कम करती है। क्योंकि यह रक्त के निर्माण में मदद करती है तथा खून कि अशुद्धियों को दूर करती है इसलिए यह त्वचा को भी कांति देती है।

  1. हेमपुष्पा का उपयोग इन समस्याओं में आराम देता है:
  2. मासिक धर्म संबंधी विकार
  3. महीने की अनियमितता
  4. होर्मोनोस का असंतुलन
  5. पेडू का दर्द, मरोड़
  6. कठिन दिनों के दर्द, पीठ में दर्द, हाथों पैरों में जलन, मतली, उल्टी, चक्कर आना
  7. रजोनिवृत्ति सिंड्रोम(menopause syndrome)
  8. कमजोरी, थकान, चिडचिडापन
  9. खून की कमी या एनीमिया. रक्त की अशुद्धि
  10. पेट के संक्रामक रोग और सूजन
  11. भूख न लगना
  12. पाचन सम्बन्धी विकार

Dosage हेमपुष्पा की मात्रा

7 ml दिन में दो बार या चिकित्सक के निर्देश अनुसार।

loading...
loading...

19 thoughts on “Hempushpa syrup Benefits

  1. Himpushpa medicine vajan ghata tha ya bada tha bhi hai,Q ki ladki bhot weak hai ur uski problems ye hai pali time uska pet mai bhot dard hota hai…age- 19 ur plz answer

    • दर्द तो नार्मल है, धीरे धीरे कम हो जाएगा, सबको होता है किसी को कम किसी को ज्यादा. कम उम्र में ज्यादा दर्द होता है.
      कोई दर्द की दवा(Meftal spas) दे दिया करिए| और हाँ उसे iron का supplement रेगुलर दिया करिए.

  2. ऐसे डिलेवरी के कितने दिनों बाद उपयोग कर सकते है।
    Plz ans

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*