अशोकारिष्ट Ashokarishta in Hindi

loading...

अशोकारिष्ट स्त्रियों में होने वाली सभी रोगों की दवा है। इसका उपयोग श्वेत प्रदर, मासिक में दर्द, मासिक की हर समस्या, खून की कमी, रक्तार्श (खूनी बवासीर) मन्दाग्नि, अरुचि, प्रमेह, शोथ और रक्त प्रदर को नष्ट करता है। रक्त प्रदर में मेनोरेजीया और मीटरेजीया (menorrhagia and metrorrhagia) दोनों शामिल हैं। रक्त प्रदर का कारण होर्मोनेस का असंतुलन है जो पित्त की अधिकता के कारण होता है। रक्त प्रदर के कारण शरीर से खून का ह्रास होता है जिससे खून की कमी, सिर दर्द, कमजोरी, बेचनी, नींद न आना जैसी समस्याएं हो जाती हैं। अशोकारिष्ट एक टॉनिक है जो इन सभी समस्याओं में फायदेमंद है।

  • अशोकारिष्ट, एमेनोरीया (amenorrhea: absence or suppression of normal menstrual flow), मासिक का न होना, में भी असरदायक है।
  • जो महिलायें इनफर्टिलिटी की समस्या से ग्रसित हैं, उन्हें कुछ महीने अशोकारिष्ट का सेवन अवश्य करना चाहिए।
  • अशोकारिष्ट का सेवन त्रिदोष नाशक है और वात, पित्त और कफ तीनों को ही संतुलित करता है।

Ashokarishta is classical completely herbal Ayurvedic medicine. This medicine is referenced from Bhaishajya Ratnavali, and indicated for various gynecological disorders. Ashokarishta shows beneficial effect in hormonal imbalance, absence of periods, heavy bleeding during periods, other period related disorders, infertility etc. Here information is given about properties, uses, benefits and dosage of this medicine in Hindi language.

अशोकारिष्ट, का मुख्य घटक अशोक पेड़ की छाल है। अशोक के पेड़ की छाल का प्रयोग मासिक धर्म से जुड़े सभी विकार का इलाज करने के लिए प्रयोग किया जाता है। यह गर्भाशय को उत्तेजित करता है लेकिन संकुचन के बिना। यह गर्भ से अत्यधिक रक्तस्राव को रोकने के लिए प्रयोग किया जाता है।

घटक Ingredients of Ashokarishta

1

Ashoka /अशोक

Saraca asoca

Stem bark

4.8 kg

2

Jal पानी

for decoction

Water

49.152 l reduced to 12.288 l

3

Guda गुड

Jaggery

9.6 kg

Prakshepa Dravya:

4

Dhataki धातकी

Woodfordia fruticosa

Flower

768 g

5

Ajaji (shveta Jiraka) सफ़ेद जीरा

Cuminum cyminum

Fruit

48 g

6

Mustaka (Musta) मोथा

Cyperus rotundus

Rhizome

48 g

7

shunthi सूखा अदरक पाउडर

Zingiber officinale

Rhizome

48 g

8

Darvi (Daruharidra) दारू हल्दी

Berberis aristata

Stem

48 g

9

Utpala उत्पल

Nymphaea stellata

Fl.

48 g

10

Haritaki हरड़

Terminalia chebula

Pericarp

48 g

11

Bibhitaka बहेड़ा

Terminalia belerica

Pericarp

48 g

12

Amalaki आमला

Emblica officinalis

Pericarp

48 g

13

Amrasthi (Amra) आम की गुठली

Mangifera indica।

Endosperm (Beeja Majja)

48 g

14

Jiraka (shveta Jiraka) सफ़ेद जीरा

Cuminum cyminum

Fruit

48 g

15

Vasa वासा

Adhatoda vasica

Root

48 g

16

Candana (shveta Candana) सफ़ेद चन्दन

Santalum album

Wood

48 g

अशोक, शुंठी, हरीतकी, वासा, और चंदन रसायन हैं जो हृदय के सुचारू रूप से काम करने में मदद करते हैं और शरीर को ताकत और बल देते हैं। यह शरीर की धातुओं को भी पुष्ट करते हैं।

हरीतकी, आमलकी और उत्पल सीधे रसायन के रूप में काम करते हैं।

मोथा, सफ़ेद जीरा, सोंठ और हरीतकी पाचन तन्त्र पर काम करते हुए पाचन को सही करते हैं एवं धातुओं को भी पुष्ट करते हैं। ये सभी दीपन और पाचन हैं।

loading...

उत्पल, हरीतकी और विभितकी दिमाग से चिन्ता, शोक आदि दूर करते हैं।

त्रिफला शरीर को शुद्ध करता है और विरेचक होने के कारण कब्ज़ का नाश करता है।

इसप्रकार यह दवा पुरे शरीर, पाचन, दिल, दिमाग, धातुओं पर काम करती है और शरीर को पुष्ट कर रोगों में आराम देती है।

अशोकारिष्ट के फायदे और चिकित्सीय उपयोग Benefits, therapeutic uses of Ashokarishta

Benefits of Ashokarishta

  1. यह दवा होर्मोस का संतुलन करती है
  2. यह दवा मासिक की सभी समस्यों में लाभकारी है
  3. रजोनिवृत्ति में भी यह लाभ प्रद है
  4. यह दवा रक्त और प्रजनन प्रणाली को पोषण देती है
  5. महिला प्रजनन अंगों और रक्त को rejuvenates करती है
  6. प्रजनन क्षमता को बढ़ाती है
  7. गर्भाशय टॉनिक

चिकित्सीय उपयोग

  • मासिक धर्म के दौरान दर्द Dysmenorrhea
  • मासिक में रूकावट Amenorrhea
  • जननांग में दर्द Pain in female genital tract
  • पीठ में दर्द backache, हाथ पैर में जलन burning sensation in the legs and feet,
  • रक्त प्रदर (मासिक में बहुत अधिक रक्त का स्राव Metrorrhagia और मासिक धर्म अनियमितता Menorrhagia)
  • सफेद पानी/लिकोरिया Leucorrhoea
  • बुखार fever, रक्त पित्त bleeding disorders, अर्श piles, bleeding piles
  • अपच indigestion, बहुमूत्रता
  • सूजन inflammation, खून की कमी
  • Infertility and all irregularities of menstrual flow

सेवनविधि और मात्रा How to take and dosage

  • इसे दिन में दो बार पानी के साथ बराबर मात्रा में मिलाकर 15-30 मिलीलीटर लें।
  • इसे भोजन के बाद लें।

Ashokarishta is manufactured by Dabur, Shree Baidyanath Ayurved Bhawan, Patanjali Divya Pharmacy, Sandu Brothers; Oushadasala (Ashokarishtam), Keva Ayurveda Healthcare (Ashokarishtam), Kottakkal Aryavaidyasala, Nagarjuna (Asokarishtam) and some other pharmacies.

Where to buy

आप इस दवा को सभी फार्मेसी दुकानों पर या ऑनलाइन खरीद सकते हैं।

loading...

21 thoughts on “अशोकारिष्ट Ashokarishta in Hindi

  1. Me pragnancy chati hu but ni ho pta kuch.
    Pr pragnancy symtums dikhte phir kuch dino bd date aa jati h… m ashokarist pee rhi hu kya date aane k tym se phle mjhe ise pina bnd krna pdega???

  2. मेरी वाइफ की डिलेवरी 12 तारीख को हुई है तो क्या मैं अशोका रिस्ट पिला सकता हूँ, उससे कोई साइड इफ़ेक्ट तो नहीं है।

  3. Mam me but dikhaa chuki hu. .mujko koyi fayda nahi huaa or jb mujko date no hoti to mere pet k niche k hise me bhut pain hota hai kya ye siraf best hai

  4. Mujko pcod ki problem hai .or monthly gap ho jaata hai kyaa ashoka risth lenaa tik hai ..quki me kafi ilaaj krvaa chuki hu mujko koyi frk nahi mila mam ..

  5. Mai 21 years ka Hu PCOD ar thyroid bhi hai thyroid ka medicine le rahe hai ar ashokarist pi rahi Hu pregnancy kya thik ho jayegi. please help me

  6. Mene ashokarishta piya h do teen din bad period ane se pehle hi dag aa gaya kya thik h mene ye pregnet hone k liye pi h Dr ne likhi thi aap bataye ye think h kya nai

  7. mai 20 sall ki hu 4 mahine s muje peridos nahi ho rahe yeh ate h but late white pani bahut ata h meri shaddi nahi hui abhi tak m kuch home redimes use kar rahi hu 1 week s but mere pet k nichle hisse m dar hota h m kay karu kamr m dard bhi hota h kya ashokarisht sahi rahgi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*