जोशांदा Joshanda Detail in Hindi

loading...

जोशांदा यूनानी चिकित्सा प्रणाली का हेबल काढ़ा है। यूनानी चिकित्सा, इस्लामी चिकित्सा परंपरा है जो की पाकिस्तान, भारत और दक्षिण पूर्व एशिया के अन्य देशों में काफी प्रयोग की जाती है। जोशांदा, सात औषधीय जड़ी बूटियों से तैयार किया जाता है और आम सर्दी, खांसी, फ्लू, बुखार के इलाज के लिए एक घरेलू उपचार के रूप में प्रयोग किया जाता है। यह पूरी तरह से हर्बल है। जोशांदा एक फारसी शब्द है, जिसका शाब्दिक अर्थ है, जिसे उबाल कर बनाया गया हो। जोशांदा को हर्बल काढ़े की तरह बनाया जाता है। १ चम्मच सूखे हर्बल मिक्स को डेढ कप पानी में उबाला जाता है जब तक की पानी की मात्रा आधी या चौथाई रह जाए। फिर इसे छान कर गर्म-गर्म पीया जाता है।

इसके सेवन से आम सर्दी, खांसी, congestions, इन्फ्लूएंजा, catarrh, मौसमी परिवर्तन, एलर्जी प्रतिक्रियाओं और कफ के कारण बुखार आदि में लाभ होता है।

जोशीना Joshina

जोशीना एक अन्य यूनानी मेडिसिन है जिसे पीना जोशांदा से ज्यादा सुविधाजनक है। जोशीना, 10 मिलीलीटर, सुबह और रात में आधा कप गर्म पानी में मिश्रित करके ली जाती है। इसे जोशांदा की तरह उबलना नहीं होता। जोशीना, जोशांदा का आधुनिक रूप है।

Ingredients of Joshanda

  1. Althea officinalis (खटमि) seeds 6 grams
  2. Cordia latifolia (सपिस्तान) dried fruit 5 grams
  3. Glycyrrhiza glabra (मुलेठी) dried rhizomes 3 grams
  4. Malva rotundifolia (खुब्बाज़ी) seeds 6 grams
  5. Onosma bracteatum (गोज़ाबन) leaves 3 grams
  6. Viola odorata (बनफ्शा) flowers 4 grams
  7. Zizyphus jujuba (उन्नाब) dried fruit 6 grams

जोशांदा के लाभ Benefits of Joshanda

  • यह एंटी-बैक्टीरियल, एंटीमाइक्रोबियल, एंटीएलर्जी, कफ को ढीला करने वाली demulcent, expectorant है।
  • यह खांसी, ठंड, बलगम और गले में सूजन आदि में राहत देता है।
  • यह सूजन कम कर देता है।
  • यह जकड़न, गले में जलन और खांसी को कम करता है।
  • यह हर्बल है।

जोशांदा का उपयोग Therapeutic uses of Joshanda

  • जोशांदा पीने से सर्दी, खांसी, जुखाम catarrh, फ्लू, कफ, आदि से राहत मिलती है।
  • सर्दी, खांसी
  • फ्लू, गले में खराश
  • जुखाम, नजला

जोशांदा कैसे बनाएं How to prepare Joshanda

जोशांदा बनाने के लिए, 5 ग्राम हर्बल मिक्स को करीब 225 मिलीलीटर पानी में डाल कर उबालें। जब पानी आधा या चौथाई रह जाए तो छान लें। इसे गर्म-गर्म सोने से पहले और नाश्ता करने के पहले लें।

या पैकेट या पाउच पर दिए गए दिशा-निर्देश के अनुसार तैयार करें।

आप इस दवा ऑनलाइन खरीद सकते हैं। यह दवा हमदर्द और अन्य कई फार्मेसियों द्वारा निर्मित है।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*