गर्भावस्था का चौथा महीना Fourth Month of Pregnancy in Hindi

loading...

गर्भ में शिशु करीब 38 सप्ताह रहता है, लेकिन गर्भावस्था (गर्भ) का औसत समय 40 सप्ताह गिना जाता है। इसका कारण यह है गर्भावस्था को मासिक न आने वाले महीने के पहले दिन से गिना जाता हैं जबकि गर्भाधान conception पीरियड के बीच में (दो हफ्ते बाद) होता है। पहली तिमाही सप्ताह 9-12 तक रहती है और उसके बाद दूसरी तिमाही शुरू हो जाती है। गर्भावस्था के चौथा महीना 13 सप्ताह से शुरू हो जाता है।

गर्भावस्था को तीन ट्राइमेस्टर में बांटा जा सकता है: Pregnancy is divided into three trimesters

  • पहली तिमाही First trimester: गर्भाधान से 12 सप्ताह (conception to 12 weeks / 1-3 months)
  • दूसरी तिमाही Second trimester: 13 से 26 सप्ताह (12 to 26 weeks / 3-6 months)
  • तीसरी तिमाही Third trimester: 27 से 40 सप्ताह (27 to 40 weeks / 6-9 months or till delivery)

Fourth month of pregnancy (13-16 weeks)

13 से 16 सप्ताह का समय गर्भावस्था का चौथा महिना होता है। इस समय मोर्निंग सिकनेस, जी मिचलाना आदि समस्या नहीं रहती और एनर्जी लेवल पहले से बेहतर होता है। गर्भ में शिशु की भौंहें, पलकें, और नाखून बन जाते हैं। बच्चा अब हाथ और पैर को फैला सकता है। बाहरी प्रजनन अंग का गठन हो रहा होता है तथा प्लेसेंटा/ नाल पूरी तरह से बन चुकी होती है। बाहरी कान भी विकसित होने लगते है। शिशु अब निगल सकता है और सुन भी सकता है। सकते हैं। गर्दन बन जाती है। गुर्दे काम करने लगते हैं और मूत्र का उत्पादन शुरू हो चूका है।

सप्ताह 13

  1. बच्चे में अब इंसुलिन हार्मोन बनने लगा है जो की उसके रक्त में ग्लूकोज को नियंत्रित करता है।
  2. शिशु अब 3 इंच लंबा है और करीब 30 ग्राम का है।
  3. बच्चे की नाक और ठुड्डी बन गयी है।
  4. बच्चा अपना मुंह खोल और बंद कर सकता है।
  5. बच्चा अब लगातार हाथ और पैर हिलाता रहता है।
  6. बच्चे के बाहरी जनन अंग बन चुके हैं।
  7. अब बच्चे के सभी महत्वपूर्ण अंगों का तेज़ी से विकास हो रहा है।

सप्ताह 14

  1. शिशु अब 3.42 इंच लम्बा है और करीब 43 ग्राम का है।
  2. बच्चे की त्वचा अभी पारदर्शी है।
  3. आंखे धीरे-धीरे अपनी जगह पर आ रही हैं।
  4. नाक और अधिक स्पष्ट है।
  5. कान पूरी तरह से विकसित हैं।
  6. पहले बाल दिखाई देने लगे है।
  7. गुर्दे मूत्र का उत्पादन कर रहे हैं।
  8. लड़कियों में, अंडाशय श्रोणि की ओर नीचे जा रहे हैं।
  9. लड़कों में, प्रोस्टेट ग्रंथि विकसित का विकास हो रहा है।
  10. गर्भाशय और प्लेसेंटा बढ़ रहे हैं।
  11. गर्भाशय का वज़न अब करीब 250 ग्राम है।
  12. गर्भाशय नाभि के करीब ३ इंच नीचे तक पहुँच चुका है।

सप्ताह 15

  1. शिशु अब 4 इंच (10 सेमी) इंच लम्बा है और करीब 75 ग्राम का है।
  2. वह हाथों और पैरों को हिला सकता है।
  3. बच्चे की त्वचा अभी भी बहुत पतली है।
  4. मध्य कान का विकास हो रहा है।
  5. बच्चे में टेस्ट बड्स काम करने लगे हैं और बच्चा समान के भोजन का स्वाद ले सकता है।

सप्ताह 16

  1. शिशु अब 5 इंच (12 सेमी) इंच लम्बा है और करीब 100 ग्राम का है।
  2. त्वचा के नीचे वसा का जमाव शुरू होने लगा है।
  3. बच्चा अब सांस ले सकता है, सोता है, जगता है और बाहरी आवाजें सुन सकता है।

माँ का वज़न अब बढता है और पैरों में दर्द हो सकता है। इस समय से हर २-३ घंटे पर कुछ न कुछ पौष्टिक जैसे की फल, दूध, नारियल पानी आदि खाएं। कब्ज़ को दूर रहने के लिए पानी पियें, इसबगोल की भूसी भी ले सकती हैं। सप्ताह 16-20 के बीच आप बच्चे की हलचल, पैर मारना आदि महसूस कर सकती हैं।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*