पुष्यानुग चूर्ण Pushyanug Churna Detail and Uses in Hindi

loading...

पुष्यानुग चूर्ण नंबर १ Pushyanuga Churna No. 1, एक आयुर्वेदिक दवाई है जिसे भैषज्या रत्नावली के स्त्रीरोगिधिकार से लिया गया है। यह दवा स्त्री रोगों की अच्छी दवा है। आयुर्वेद में पुष्यानुग चूर्ण को बनाने में प्रयोग की जाने वाली जड़ी-बूटियों को पुष्यनक्षत्र में इकठ्ठा करने को कहा गया और इसलिए इस चूर्ण या पाउडर को पुष्यानुग चूर्ण कहा गया है।

जब इस दवा में केशर के स्थान पर नागकेशर डाल कर बनाया जाता है तब इसे पुष्यानुग चूर्ण नंबर २ Pushyanuga Churna No. 2 कहा जाता है।

Pushyanug Churna is classical Ayurvedic medicine referenced from Bhaishajyaratnavali, Strirogadhikara. It is used in treatment of female disorders such as leucorrhoea, Metrorrhagia (metro = womb, -rrhagia = excessive flow), Menorrhagia (meno = of menstruation, -rrhagia = excessive flow) , disorders related to periods, Piles, and Disorder of female genital tract. Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

पुष्यानुग चूर्ण के घटक Ingredients of Pushyanuga Churna

Given below is complete list of ingredients.

  • पाठा Cyclea peltata (Rt.) 1 Part
  • जम्बू -बीज मज्जा Eugenia jambolana (Enm.) 1 Part
  • आम्र -बीज मज्जा Mango (Enm.) 1 Part
  • पाषाणभेद (Rz.) 1 Part
  • दरहरिद्रा (St. Ext.) 1 Part
  • अम्बस्थाकी Cissampelos pareira (Rt.) 1 Part
  • मोचरस (Shalmali) Salmalia malabarica (Exd.) 1 Part
  • लज्जालु (Rt. /Pl.) 1 Part
  • पद्मा केसर (Kamala) Nelumbo nucifera (Adr.) 1 Part
  • वह्लिका (कुमकुम ) Crocus sativus(Stl. /Stg) 1 Part
  • अतिविश Aconitum heterophyllum (Rt. Tr.) 1 Part
  • मोथा (Rz.) 1 Part
  • बिल्व (St. Bk.) 1 Part
  • लोध्रा (St. Bk.) 1 Part
  • गैरिक 1 Part
  • कट्फला (St. Bk.) 1 Part
  • मरीचा (Fr.) 1 Part
  • सोंठ (Rz.) 1 Part
  • द्राक्षा (Dr. Fr.) 1 Part
  • रक्त चन्दन Pterocarpus santalinus(Ht. Wd.) 1 Part
  • कटवाँगा (अरलुका) Oroxylum indicum (St. Bk.) 1 Part
  • वत्सका (कुटज) Holarrhena antidysenterica (St. Bk.) 1 Part
  • अनंत Hemidesmus indicus (Rt.) 1 Part
  • धातकी Woodfordia fruticosa (Fl.) 1 Part
  • मुलहटी Glycyrrhiza glabra (Rt.) 1 Part
  • अर्जुन Terminalia arjuna (St. Bk.) 1 Part

Method of preparation

इस दवा को तैयार करने के लिए, सभी जड़ी बूटियों को पीस कर कपड़छन कर मिला लिया जाता है।

पुष्यानुग चूर्ण के लाभ/फ़ायदे Benefits of Pushyanug Churna

  • यह दवा टॉनिक है।
  • यह योनि रोग और पीरियड्स से सम्बंधित रोगों की अच्छी दवा है।
  • इसका सेवन प्रदर रोग लाभप्रद है।
  • यह तासीर में गर्म है और वात, पित्त, कफ को संतुलित करता है।
  • यह सूजन और दर्द में आराम देती है।
  • यह रक्त बहने के विकारों में अच्छा प्रभाव दिखाती है।

पुष्यानुग चूर्ण के चिकित्सीय उपयोग Uses of Pushyanug Churna

इस चूर्ण का सेवन स्त्री रोगों में किया जाता है। इसके अतिरिक्त इसे प्रदर रोगों और दस्त आदि में भी प्रयोग किया जाता है।

loading...

योनि-रोग, योनि में जलन Disorder of female genital tract

  • योनि से स्राव Menorrhagia or Metrorrhagia or both
  • रजोदोष Menstrual disorder
  • रक्तपित्त bleeding disorder प्रदर Pradar
  • श्वेत प्रदर Leucorrhoea, रक्त प्रदर
  • बवासीर Piles
  • अतिसार diarrhea, खूनी दस्त
  • मल में आंव mucous in stools
  • गर्भाशय का बाहर निकलना

सेवन विधि और मात्रा Dosage of Pushyanug Churna

  • 1-3 ग्राम, दिन में दो बार, सुबह और शाम लें।
  • इसे शहद के साथ लेकर, चावल का पानी पी लें।
  • या डॉक्टर द्वारा निर्देशित रूप में लें।

इस दवा को ऑनलाइन या आयुर्वेदिक स्टोर से ख़रीदा जा सकता है।

This medicine is manufactured by Baidyanath (Pushyanug Churna No. 2), Dabur (Pushyanug Churna) , Siddhivinayak Ayurved (Pushyanug Churna) , Patanjali Divya Pharmacy (Pushyanug Charna) and many other Ayurvedic pharmacies.

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*