नित्यानन्द रस Nityananda Ras Detail and Uses in Hindi

loading...

नित्यानन्द रस, आयुर्वेदिक दवाई है जिसे श्लीपद / फीलपाँव के उपचार में प्रयोग किया जाता है। फीलपाँव को एक वात-कफ जनित रोग कहा जाता है। यह दवा शरीर में वात तथा काफ दोष को संतुलित करती है। इसके सेवन से पित्त स्राव होता है जिससे पाचन में सुधार होता है। यह भूख को बढ़ाती है। यह कीटाणुनाशक, मेदनाशक, कफनाशक, शक्तिवर्धक, पाचक, दीपक, योगवाही रसायन है। इसका सेवन शरीर में भयंकर वात रोग को भी दूर करने में सहायक है।

Nityananda Ras is an herbal Ayurvedic medicine used in tretament of Feelpaanv or filariasis. It balances vitated Vata and Kapha. Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

Read In English : Treat Filariasis Using Ayurvedic Nityanand Ras

नित्यानन्द रस के घटक Ingredients of Nityananda Ras

  1. Hingula sambhava suta (Hingulottha Parada) 1 Part
  2. Gandhaka (Shuddha) 1 Part
  3. Tamra bhasma 1 Part
  4. Kansya Bhasma 1 Part
  5. Vanga Bhasma 1 Part
  6. Haritala Shuddha 1 Part
  7. Tuttha Shuddha 1 Part
  8. Shankha bhasma 1 Part
  9. Vidarika (Vidari) (RootTr.) 1 Part
  10. Shunthi (Rhizome) 1 Part
  11. Maricha (Fruit) 1 Part
  12. Pippali (Fruit) 1 Part
  13. Haritaki (Pericarp) 1 Part
  14. Bibhitaka (Pericarp) 1 Part
  15. Amalaki (Pericarp) 1 Part
  16. Lauha Bhasma 1 Part
  17. Vidanga (Fruit) 1 Part
  18. Vida Lavana 1 Part
  19. Samudra Lavana 1 Part
  20. Saindhava Lavana 1 Part
  21. Sauvarchala Lavana 1 Part
  22. Romaka Lavana 1 Part
  23. chavika (chavya) (St.) 1 Part
  24. Pippali mula (Root) 1 Part
  25. Havusha (Hapusha) (Fruit) 1 Part
  26. Vacha (Rhizome) 1 Part
  27. Patha (Root) 1 Part
  28. Devadaru (Ht.Wd.) 1 Part
  29. Ela (Sukshmaila) (Seed) 1 Part
  30. Vriddhadaruka (Root) 1 Part
  31. Trivrita (Trivrit) (Root) 1 Part
  32. Citraka (Root) 1 Part
  33. Danti (Root) 1 Part
  34. Shati (Root) 1 Part
  35. Haritaki rasa (Kvatha) (Pericarp) Q. S. for mardana

नित्यानन्द रस के लाभ/फ़ायदे Benefits of Nityananda Ras

  1. यह श्लीपद की उत्तम आयुर्वेदिक औषधी है।
  2. यह कफ और वात दोष को संतुलित करती है।
  3. यह सूजन, बुखार, दर्द आदि में लाभ करती है।
  4. यह पाचक और दीपन है।
  5. यह कीटाणुनाशक, योगवाही रसायन है।
  6. यह शरीर में अतिरिक्त जल को सुखाती है।
  7. यह ट्यूमर, गण्डमाला, फाईब्रोइड, आंत्र-वृद्धि में लाभकारी है।
  8. यह मेदनाशक है और मोटापे को दूर करती है।
  9. नित्यानन्द रस के चिकित्सीय उपयोग Uses of Nityananda Ras

  10. श्लीपद Elephantiasis / Filiarisis
  11. फाईब्रोइड Fibroids
  12. अर्बुद ट्यूमर tumors
  13. गठिया वात रोग gout, Vata roga
  14. मोटापा obesity

सेवन विधि और मात्रा Dosage of Nityananda Ras

  1. 1-2 गोली, दिन में दो बार, सुबह और शाम लें।
  2. इसे गोमूत्र यह पानी के साथ लें।
  3. इसे एक महीने तक लें।
  4. इसे भोजन करने के बाद लें।
  5. या डॉक्टर द्वारा निर्देशित रूप में लें।
  6. गर्भावस्था में इसका सेवन न करे।
  7. प्रयोग के दौरान हल्का सुपाच्य भोजम करें।

इस दवा को ऑनलाइन या आयुर्वेदिक स्टोर से ख़रीदा जा सकता है।

Ayurvedic medicines containing detoxified, toxic material/ poisonous substances, heavy metals should be taken only under medical supervision.

This medicine is manufactured by Baidyanath (Nityanand Ras), Sri Bhaskar Ayurvedic Pharmacy (Nityananda Rasa), Dabur (Nityanand Ras), Shri Bajranga Ayurved Bhawan and some other pharmacies.

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*