हरिद्रा खण्ड Haridra Khanda Details and Uses in Hindi

loading...

Haridra Khanda is a polyherbal Ayurvedic formulation. This medicine is useful in treatment of allergic reactions, urticaria, chronic fever, and skin diseases. The principle ingredient of this medicine is Haridra or Haldi. Here information is given about complete list of ingredients, properties, uses and dosage of this medicine in Hindi language.

हरिद्रा खण्ड आयुर्वेदिक दवा है। इस दवा का मुख्य घटक हरिद्रा या हल्दी turmeric है। हल्दी, को हम सभी मसाले के रूप में जानते हैं. आयुर्वेद में, हल्दी एक बहुत ही महत्वपूर्ण जड़ी बूटी है। इसे या तो ताजा या सूखे पाउडर की तरह इस्तेमाल किया जाता है। यह शरीर से वात और कफ को कम करती है। इसके अलावा हल्दी यकृत, सांस की बीमारियो, एलर्जी और अल्सर के इलाज़ में बहुत कारगर है। हल्दी शरीर में कोलेस्ट्रॉल कम करती है। यह त्वचा के लिए तो बाह्य और आतंरिक दोनों रूप से प्रयोग की जाती है। हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-एलर्जी, एंटी-अल्सर, एंटी-माइक्रोबियल, लीवर की रक्षा की, सूजन कम करने के, शरीर से गन्दगी निकालने, न्यूरोप्रोटेक्टिव गुण होते हैं। हल्दी में एंटी-एलर्जी गुण होने के कारण इसे अधिक कफ, एलर्जी रायनाइटिस, एलर्जिक ब्रोंकाइटिस, त्वचा की एलर्जीऔर सांस की बीमारियों जो की किसी पदार्थ की एलर्जी से होती हैं, में बेहद उपयोगी है।

शीत-पित्त, लगातार रहने वाला कफ, सांस लेने की दिक्कत, पुराना हल्का बुखार, तथा अनेक तरह के श्वास रोगों में यह दवा लाभकारी है। इसे निश्चिन्त हो के कई महीनो तक लिया जा सकता है। शीत-पित्त में इसके कई महीनो के सेवन से, पित्ती का बार-बार होना ठीक किया जा सकता है।

हरिद्रा खण्ड एलेर्जिक रायनाइटिस की भी अच्छी औषधि है। एलेर्जिक रायनाइटिस पेड़-पौधों के पोलेन से होने वाली एक मौसमी एलर्जी है। इसमें लगातार छींके आती है तथा कफ भी बढ़ जाता है। आँखे लाल हो जाती है, उनमे सूजन, खुजली होती है एवं पानी आता है। नाक जाम हुई सी लगती है और सिर में भी दर्द होता है। गला ख़राब होना, गंध न आना आदि इस स्वास्थ्य समस्या के अन्य लक्षण है। इसमें भी हरिद्रा खंड का सेवन लाभप्रद होता है।

नीचे इस दवा के घटक, गुण, उपयोग और इस्तेमाल की विधि के बारे में जानकारी दी गयी है।

हरिद्रा खंड के घटक Ingredients of Haridra Khanda

  • Haridra हल्दी (Rz.) 384 g
  • Goghrita गाय का घी 288 g
  • Godugdha गाय का दूध 3.072 liter
  • Khanda खांड 2.400 kg
  • Shunthi सोंठ (Rz.) 48 g
  • Marica काली मिर्च (Fr.) 48 g
  • Pippali पिप्पली (Fr.) 48 g
  • Tvak दालचीनी (St. Bk.) 48 g
  • Ela छोटी इलाइची (Sd.) 48 g
  • Patra तेजपत्ता (Tejapatra) (Lf.) 48 g
  • Krimighna विडंग (Vidanga) (Fr.) 48 g
  • Trivrita त्रिवृत (Trivrit) (Rt.) 48 g
  • Haritaki हरीतकी (P.) 48 g
  • Bibhitaka विभितकी (P.) 48 g
  • Amalaki आमलकी (P.) 48 g
  • Kesara (Nagakeshar) नागकेशर (Stmn.) 48 g
  • Musta मोथा (Rt. Tr.) 48 g
  • Lauha bhasma लौह भस्म 48 g

Lf. =Leaf; P. =Pericarp; Rt. =Root; Fr. =Fruit; Rz. =Rhizome; Sd.= Seeds; St. =Stem; St. Bk.= Stem Bark; Fl. Bd. =Flower Bud; Stmn.=Stamen;

loading...

पहले हल्दी, घी, गो-दुग्ध और खांड को धीमी आंच पर पकाया जाता है। यह सिद्ध होने पर त्रिकटु, त्रिजात, विडंग, निशोथ, त्रिफला, नागकेषर, मोठा, लौह भस्म का प्रक्षेप दिया जाता है और अच्छी तरह से पाक किया जाता है।

हरिद्रा खण्ड के चिकित्सीय उपयोग

  • शीतपित्ती Sheet-pitta (Urticaria)
  • खांसी coughing, wheezing, nasal congestion
  • एलेर्जिक रायनाइटिस Allergic rhinitis
  • श्वास रोग
  • एलर्जी Skin Allergy, चर्मरोग diseases of skin
  • पित्त रोग
  • कंडू (Itching)
  • विस्फोट (Blister)
  • दाद (Taeniasis)

सेवनविधि और मात्रा How to take and dosage

  • इस दवा को 6 gram की मात्रा में लिया जाना चाहिये।
  • इसे दिन में दो बार, सुबह और शाम लें ।
  • इसे लेने के बाद गुनगुना गर्म दूध या पानी पी लें।

Where to buy

You can buy this medicine online or from medical stores.

This medicine is manufactured by Kottakkal (Haridra Khandam), Nagarjuna (HaridraKhandam), Vaidtaratnam (Haridra Khandam), Sri Sri Ayurveda (Haridra Khanda) and some other pharmacies.

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*