द्राक्षावलेह Drakshavaleha Details and Uses in Hindi

loading...

द्राक्षावलेह एक आयुर्वेदिक दवा है। द्राक्षावलेह को मुख्य रूप से खून की कमी, श्वास, और कास दिया जाता है। यह हलीमक, कामला, बेहोशी और अरुचि आदि के उपचार में भी प्रयोग की जाती है। यह रसायन या टॉनिक कुछ आयुर्वेदिक चिकित्सकों द्वारा, गर्भावस्था के दौरान माँ को दिया जाता है जिससे होने वाली माँ और उसके बच्चे का स्वास्थ्य अच्छा हो।

Drakshavaleha is a polyherbal Ayurvedic formulation. This medicine is useful in treatment of liver diseases. The ingredients of this medicine are Draksha, Pippali, Sarkara, Madhuka, Shunti, Thvakshiri, Dhatriphala and Madhu.

Here information is given about complete list of ingredients, properties, uses and dosage of this medicine in Hindi language.

नीचे इस दवा के घटक, गुण, सेवनविधि, और मात्रा के बारे में जानकारी दी गयी है।

द्राक्षावलेह के घटक Ingredients Of Drakshavaleha

  • Draksha द्राक्षा Vitis vinifera Dr. Fr. 768 g
  • Kana (Pippali पिप्पली) Piper longum Fr. 768 g
  • Sharkara Sugar चीनी 2.800 kg
  • Yashtimadhu मुलेठी Glycyrrhiza glabra Rt. 96 g
  • Shunthi सोंठ Zingiber officinale Rz. 96 g
  • Tvakkshiri त्वाकश्री (Vamisha) Bambusa arundinacea S.C. 96 g
  • Dhatri आमला (Amalki) Phalarasa Embelica officinalis P. 12.288 l
  • Madhu शहद Honey 768 g

Benefits and Therapeutic Uses

द्राक्षावलेह के लाभ

  • यह पौष्टिक है.
  • यह खून की कमी दूर करती है.
  • यह यकृत liver के लिए अच्छी औषधी है.
  • यह रोग निरोधक क्षमता को बढाती है.
  • कफ रोगों में लाभकारी है.

चिकित्सीय उपयोग

  • पांडू/खून की कमी (anemia)
  • कामला (jaundice)
  • हलीमक (chronic obstructive Jaundice/chlorosis/advanced stage of jaundice)

सेवनविधि और मात्रा How to take and dosage

6-12grams दिन में दो बार, दूध या पानी के साथ।

Where to buy

आप इस दवा को सभी फार्मेसी दुकानों पर या ऑनलाइन खरीद सकते हैं।

द्राक्षावलेह को बहुत सी आयुर्वेदिक फार्मास्यूटिकल कंपनियां बनाती है जैसे की Dabur डाबर ।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*