Divya Kayakalp Kwath Details

loading...

Divya Kayakalp Kwath is a poly herbal Ayurvedic medicine from Patanjali Divya Pharmacy. This medicine is available as dry herb powder from which decoction is prepared.

It is useful in all types of skin diseases including eczema and psoriasis.

Here information is given about complete list of ingredients, properties, uses and dosage of this medicine in Hindi language.

दिव्य कायाकल्प क्वाथ स्वामी रामदेव की पतंजलि दिव्य फार्मेसी में निर्मित आयुर्वेदिक दवा है। यह हर्बल दवा सूखी जड़ी बूटियों का मिश्रण है। काढ़ा तैयार करने के लिए दवा की 5-10 ग्राम मात्रा को 400 मिलीलीटर पानी में उबाला जाता है जब तक की पानी 100 मिलीलीटर रह जाये। फिर इसे छान लिया जाता है और खाली पेट दिन में दो बार लिया जाता है।

नीचे इस दवा के घटक, गुण, सेवनविधि, और मात्रा के बारे में जानकारी दी गयी है।

घटक Ingredients

Each 5.00 gm contains equal amount of

Panwarr

Cassia tora

पनवाड़

Daruhaldi

Berberis aristata

दारुहल्दी

Karanj

Pongamia pinnata

करंज

Amla

Emblica officinalis

आमला

Harar

Terminalia chebula

हरीतकी

Bahera

Terminalia bellirica

विभितकी

Giloy

Tinospora cordifolia

गुडूची

Kutki

Picrorhiza Kurroa

कुटकी

Bakuchi phal

Psoralea corylifolia

बावची

Chandan

Santalum album

चन्दन

Turmeric

curcuma longa

हल्दी

Khaer

Acacia katechu

खैर

Nimba

Azadirachta indica

नीम

Manjeeth

Rubia cordifolia

मंजिष्ठा

Chirayta

Swertia chirata

चिरायता

Dronapushpi

Leucas cephalotes

द्रोणपुष्पि

Kali jeeri

Centratherum anthelminticum

कृष्णा जीरा

Choti kateli

Solanum surattenese

छोटी कटेली

Indrayan mula

Citrullus colocynthis

इन्द्रायण मूल

Devdaru

Cedrus deodara

देवदारु

ushva

Smilax ornata

उश्बा

  • पनवाड़ त्वचा रोगों में बहुत उपयोगी है. यह रेचक और कृमिनाशक नाशक है ।
  • दारू हल्दी एंटीअमेबिक, जीवाणुरोधी, रेचक, स्वेदजनक, ज्वरनाशक, और एंटीसेप्टिक है।
  • त्रिफला (आमला, हर्रे, बहेड़ा) रेचक और खून साफ़ करने वाला रसायन है ।
  • हल्दी रक्त शोधक, एंटीऑक्सिडेंट, सुजन कम करने वाली, लीवर को ठीक करने वाली, शरीर से टॉक्सिक निकालने वाली है। इसे त्वचा रोगों में शरीर के अन्दर-बाहर दोनों रूप से इस्तेमाल किया जाता है।
  • बावची बीज को leucoderma, सफ़ेद दाग, विटिलिगो, कुष्ठ रोग, सोरायसिस, त्वचा की सूजन रोग, आदि में शरीर के अन्दर-बाहर दोनों रूप से इस्तेमाल किया जाता है।
  • नीम भी रक्त शोधक है।
  • द्रोणपुष्पि, काली जीरी, छोटी कटेली और मंजीठ को विभिन्न्त्वचा रोगों में प्रयोग किया जाता है ।
  • चिरायता पित्त शामक और खून को साफ़ करने वाला है ।

मुख्य गुणधर्म और उपयोग Qualities and therapeutic uses

दिव्य कायाकल्प क्वाथ के सेवन से खून साफ़ होता है जिससे यह हर तरह के त्वचा रोगों में लाभकारी है. इससे पेट भी साफ़ होता है। यह मोटापा कम करने भी सहायक है । मोटापे में इसे मेदोहर वटी के साथ औ चमड़ी रोग में इसे कायाकल्प वटी के साथ लेना चाहिए ।

loading...
  • इस काढ़े को विभिन्न त्वचा के रोगों में प्रयोग किया जाता है ।
  • सभी प्रकार के त्वचा रोग
  • एक्जिमा
  • कुष्ठ रोग
  • श्लीपद या फाइलेरिया
  • मोटापा कम करने में
  • सोरायसिस

सेवनविधि और मात्रा How to take and dosage

  • 5-10 ग्राम की मात्रा में सूखे मिश्रण को 400 मिलीलीटर पानी में उबालें जब पानी 100 मिलीलीटर रह जाये, इसे छान कर पियें।
  • इसे दो बार लेना है।
  • सुबह खाली पेट और रात के खाने से एक घंटा पहले ।
  • काढ़ा बनाने से पहले मिश्रण को ८-१० घंटा भिगोना अधिक लाभप्रद है ।

Where to buy

आप इस दवा को सभी फार्मेसी दुकानों पर या ऑनलाइन खरीद सकते हैं।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*