बवासीर के लिए दिव्य अर्शकल्प वटी – Divya Arshkalp Vati

loading...

दिव्य अर्शकल्प वटी(Divya Arshkalp Vati ) स्वामी रामदेव की दिव्य फार्मेसी में निर्मित आयुर्वेदिक दवा है. इस दवा का प्रयोग बवासीर, भगंदर, व् फिस्चुला Piles, bleeding piles and hemorrhoid के इलाज में होता है.

Divya Arshkalp Vati is Ayurvedic medicine from Swami Ramdev’s Divya pharmacy. It is a medicine to treat piles. Here information is given about complete list of ingredients, properties, uses and dosage of this medicine in Hindi.

नीचे इस दवा के घटक, गुण, सेवनविधि, और मात्रा के बारे में जानकारी दी गयी है.

घटक Ingredients of Divya Arshkalp Vati

Each 500mg tablet Contains

  • रसोंत शुद्ध Berberis aristata 150.0mg
  • हरीतकी छोटी Terminalia chebula 100.0mg
  • बकायन Melia azedarach 100.0mg
  • निम्बोली Azadirachta indica 100.0mg
  • रीठा Sapindus mukorossi 5.0mg
  • देसी कपूर Cinnamomum comphora 5.0mg
  • खूनखराबा Daemonorops draco 2.5mg
  • मकोय Solanum nigrum 12.5mg
  • घ्रित कुमारी Aloe barbadensis 12.5mg
  • नाग दोन Artemisia vulgaris 12.5mg

मुख्य गुणधर्म और उपयोग Qualities and therapeutic uses

यह दवा खुनी और बादी बवासीर में दी जाती है. इसका सेवन बवासीर में राहत देता है और बवासीर संबंधी जटिलताओं को कम करता है.

यह अर्श की वजह से होने वाले दर्द और जलन pain, burning sensation को दूर करता है.

सेवनविधि और मात्रा How to take and dosage

1-2 गोलियाँ, प्रातः खाली पेट और शाम को खाने से एक घंटा पहले, पानी या छाछ के साथ ।

Where to buy

आप यह दवा पतंजलि स्टोर या ऑनलाइन खरीद सकते हैं।

loading...

16 thoughts on “बवासीर के लिए दिव्य अर्शकल्प वटी – Divya Arshkalp Vati

    • Is post men sab likha hai Kabj ke upay
      Aur haan सबसे जरूरी है की आप रोज कम से कम २-३ लीटर पानी पियें, सुबह हलकी exercise रोज करें, और साग सब्जी और फल रोज जरूर खाए.

  1. Jab me bathroom jata hu tab blood niklta he..pain nai hota or kabhi kabhi jaln ho jati he..mene doc ki advice li dava li…pr pehle roj niklta tha blood ab dava lene ne hafte me ek baar blood niklta he…kya aryuved dava se iska ilaj completly ho sakta he.?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*