एलारसिन बंगशील Alarsin Bangshil Tablets Detail and Uses in Hindi

loading...

एलारसिन बंगशील टेबलेट में अलार्सिन द्वारा निर्मित एक आयुर्वेदिक दवाई है जिसमें प्रमुख घटक बंग भस्म और शिलाजीत है। इसके अतिरिक्त इसमें बहुत से अन्य महत्वपूर्ण घटक, जैसे की गुग्गुलु, स्वर्ण माक्षिक, काशीश भस्म, दालचीनी, तेजपत्ता, दंतिमूल, निशोथ, एला, त्रिफला, त्रिकटु, आदि भी है। यह दवाई यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन, यूटीआई, जिसे पेशाब का इन्फेक्शन भी कहते हैं, में बहुत लाभकारी है। इसके अतिरिक्त यह पेशाब-मूत्रमार्ग सम्बन्धी अन्य समस्याओं और प्रोस्टेट बढ़ने में भी अच्छे परिणाम देती है।

पेशाब का इन्फेक्शन, वह स्थिति है जिसमें पेशाब करने पर जलन-दर्द, होता है, बुखार आता है और बार-बार पेशाब करने की इच्छा होती है। यह समस्या बड़े से लेकर बच्चों, सभी को कभी न कभी परेशान करती है। कुछ लोगों में यह समस्या बार-बार होती है। बंगशील का प्रयोग नए और पुराने, दोनों ही प्रकार के मूत्र के इन्फेक्शन में लाभप्रद है।

इस पेज पर जो जानकारी दी गई है उसका उद्देश्य इस दवा के बारे में बताना है। कृपया इसका प्रयोग स्वयं उपचार करने के लिए न करें।

Bangshil is a proprietary Ayurvedic medicine from Alarsin and it is effective medicine to treat acute or chronic cases of UTI.In acute cases it is given for 3-7 days and in chronic cases for three weeks.As this medicine contain mineral and metallic ingredients, therefore it should be taken in medical supervision.

Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

  • उपलब्धता: यह ऑनलाइन और दुकानों में उपलब्ध है।
  • दवाई का प्रकार: एलारसिन फार्मास्यूटिकल्स
  • मुख्य उपयोग: जेनिटोयुरनेरी – जननमूत्रीय पथ के रोग
  • मूल्य एलारसिन बंगशील गोलियाँ (100 टेबलेट्स): INR 212.00

एलारसिन बंगशिल के घटक Ingredients of Alarsin Bangshil Tablets

Each Tablet Contains (mg.)

loading...
  1. शिलाजीत Shllajit (Asphaltum) – 60.00
  2. बंग भस्म Bang Bhasma (S.Y.S.158) 7 Puta – 40.00
  3. गुग्गुल Guggul (Commlphora Mukul) – 40.00
  4. स्वर्णमाक्षिक Swarn Makshik Bhasma (A.F.I.157) 10 Puta – 30.00
  5. कसीस Kasis Bhasma (S.Y.S.163) 1Puta – 30.00
  6. दालचीनी Taj (Cinnamomum (Zeylanlcum) – 12.00
  7. तेजपत्ता Tamal Patra (Chnamomum Tamala) – 12.00
  8. दंतीमूल Dantimool (Baliospermum Montanum) – 12.00
  9. त्रिवृत Nishotar (Ipomoea Turpethum) – 12.00
  10. छोटी इलाइची Elaichi (Elettaria Cardamomum) – 9.00
  11. बांस Vanskapoor (Bambusa Arondlnacea) – 6.00
  12. चन्दन Chandan Tel (Santalum Album) – 3.00
  13. संचल Sanchal (Unaqua Sodlum Choride) – 3.00
  14. गिलोय Guduchi (Tinospora Cordifolla) – 3.00
  15. विडंग Vavding (Embelia Ribes) – 3.00
  16. गज पिप्पल Gaj Pipal (Sclndapsus Officinalls) – 3.00
  17. चव्य Chavak (Piper Chaba) – 3.00
  18. आंवला Amala (Embllca Officlnalls) – 3.00
  19. हरड़ Harde (Teminalla Chebula) – 3.00
  20. बहेड़ा Baheda (Teminalla Belerica) – 3.00
  21. सैन्धव Sindhav (Sodii Chloride) – 3.00
  22. सज्जिक्षार Sajikhar (Sodium Carbonate) – 3.00
  23. यवक्षार Javkhar (Potasil Carbonas) – 3.00
  24. पिप्पली Pipar (Piper Longum) – 3.00
  25. कालीमिर्च Kali Marich (Piper Nigrum) – 3.00
  26. सोंठ Sunth (Zingiber Officinale) – 3.00
  27. चित्रक Chltrak Mool (Plumbago Zeylanlca) – 3.00
  28. पिप्पली Ganthoda (Piper Longa) – 3.00
  29. हल्दी Haldi (Curcuma Longa) – 3.00
  30. दारूहल्दी Daru Haridra (Berberis Aristata) – 3.00
  31. अतिविष Ativishkali (Aconitum Heterophyllum) – 3.00
  32. देवदारु Devadaru (Cedrus Deodara) – 3.00
  33. नगर मोथा Nagar Moth (Cyperus Rotundus) – 3.00
  34. चिरायता Kariyattu (Swertia Chirata) – 3.00
  35. वच Vachha (Acorus Calamus) – 3.00
  36. करचूर Kachura (Curcuma Zedoarta) – 3.00
  37. भोल पथरी Bhol Pathari (launnaea Pinnatiflda) – 3.00
  38. श्वेत सरिवा Upersari (Hemidesmus Indicus) – 3.00
  39. चिभदा Chibhada Magaj (Cucumis Species) – 3.00
  40. वरुण Vayavarna Chhal (Crataeva nurvala) – 3.00
  41. सेमल Shimal Mool (Bomax Malabaricum) – 3.00
  42. रेणुका बीज Renuk Beej (Piper Cubeb) – 3.00
  43. मुलेठी Jeshtimadha (Glycyrrhiza Glabra) – 3.00
  44. गलिजिभी Galijibhi (Elephantopus Scaber) – 3.00
  45. कबाब चीनी Chinikabab (Piper Cubeb) – 3.00
  46. गोखरू Gokshura (Tribulus Terrestris) – 3.00
  47. भृंगराज Bhangra (Eclipta Alba) – 3.00
  48. सहजन की जड़ Sahianjana Mool (Moringa Olelfera) – 3.00
  49. Exciplents – q.s.

एलारसिन बंगशिल के लाभ/फ़ायदे Benefits of Alarsin Bangshil Tablets

  1. यह पेशाब के इन्फेक्शन में 2-3 दिन में लक्षणों से राहत देता है और बैक्टीरिया को 2-3 सप्ताह के भीतर साफ करता है।
  2. यह जीवाणुओं के प्रति एंटीबायोटिक दवाओं की संवेदनशीलता में सुधार करता है।
  3. गंभीर मामलों में, इसे एलोपैथी की दवाइयों के साथ लिया जा सकता है।
  4. यह सामान्य स्वास्थ्य में सुधार करता है।
  5. यह लंबी अवधि के उपयोग के लिए सुरक्षित दवा है।
  6. एलारसिन बंगशिल के चिकित्सीय उपयोग Uses of Alarsin Bangshil Tablets
  7. पेशाब में क्रिस्टल Crystalluria (crystals found in the urine)
  8. मूत्राशय की सूजन Cystitis (inflammation of the urinary bladder)
  9. बार बार पेशाब की इच्छा Frequent Micturition (frequent desire to urinate)
  10. मूत्र में ओक्सालिक एसिड Oxaluria (oxalic acid or oxalates, especially calcium oxalate, in the urine)
  11. मूत्र में फॉस्फेट Phosphaturia (phosphates in the urine)
  12. प्रोस्टेट ग्रंथि की सूजन Prostatitis (swelling and inflammation of the prostate gland)
  13. श्रोणि के सूजन Pyelitis (inflammation of the renal pelvis)
  14. जीवाणु संक्रमण के परिणामस्वरूप गुर्दे की सूजन Pyelonephritis (inflammation of the kidney as a result of bacterial infection)
  15. मूत्रमार्ग की सूजन Urethritis (inflammation of the urethra)
  16. यूटीआई, कम पेशाब, पेट के निचले हिस्से में दर्द, बुखार, पेशाब में दर्द-जलन (burning urination, scanty urination, pressure on lower abdomen, fever/chills, dark-smelly urine)
  17. महिलाओं में, पुराना योनिशोथ योनि स्राव, खुजली और दर्द In Females, Chronic vaginitis (inflammation of the vagina resulting in result in discharge, itching and pain), asymptomatic bacteriuria of pregnancy (occurrence of bacteria in the urine without causing symptoms), after instrumentation।
  18. Enlarged Prostate & Post-prostatectomy Syndrome: BANGSHIL + FORTEGE relieves hesitancy, frequency, urgency burning micturition

सेवन विधि और मात्रा Dosage of Alarsin Bangshil Tablets

  • यह दवा डॉक्टर द्वारा निर्देशित रूप में ही लें।
  • बड़े 2 गोली, हर आठ घंटे पर लें।
  • बच्चों (पांच साल से बड़े) को यह दवा 1 गोली की मात्रा में हर आठ घंटे पर दी सकती है।
  • इसे पानी के साथ लें।

सावधनियाँ/ साइड-इफेक्ट्स/ कब प्रयोग न करें Cautions/Side effects/Contraindications

  1. इस दवा को डॉक्टर की देख-रेख में ही लें।
  2. इसे बच्चों की पहुँच से दूर रखें।
  3. इसे ज्यादा मात्रा में न लें।
  4. गर्भावस्था में बिना डॉक्टर की सलाह के इसे न लें।
  5. यह हमेशा ध्यान रखें की जिन दवाओं में खनिज, धातु आदि होते हैं, उन दवाओं का सेवन डॉक्टर के देख-रेख में बताई गई मात्रा और उपचार की अवधि तक ही लेना चाहिए।

उपलब्धता

इस दवा को ऑनलाइन या आयुर्वेदिक स्टोर से ख़रीदा जा सकता है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*