चुकंदर Beetroot जानकारी, लाभ और सावधानियां

loading...

चुकंदर को इंग्लिश में शुगर बीट, बीट, बीटरूट, गार्डन बीट और बीटा वलगेरिस के नाम से जानते हैं। गन्ने के अतिरिक्त चुकंदर ही एक ऐसा पादप है जिससे चीनी प्राप्त की जा सकती है। यह मुख्य रूप से उत्तरी गोलार्ध के शीतोष्ण कटिबंधीय प्रदेशों की फसल है। यह एशिया, समेत रूस, अफ्रीका, यूरोप, अमेरिका आदि देशों में उगाया जाता है।

chukandar ka laabh

चुकंदर के पत्तों को शाक रूप में व लाल रंग की जड़ को सब्जी, सलाद और जूस की तरह खाया जाता है। चुकंदर का जूस अकेले ही या अन्य फलों के जूस के साथ मिला कर पिया जाता है। चुकंदर का जूस शारीरिक क्षमता को बढ़ाता है। यह बहुत स्वास्थ्यवर्धक और आयरन से भरपूर होता है। इसका जूस वजन घटाने में सहायक करता है। चुकंदर को दैनिक भोजन में शामिल करने के अनेकों लाभ हैं। लेकिन इसे कम मात्रा में ही लेना चाहिए। इसमें पाया जाने वाला ओक्सालिक एसिड अधिक मात्रा में सेवन करने पर नुकसान करता है।

चुकंदर के नाम

  1. हिंदी: चुकंदर
  2. अंग्रेजी: Beet
  3. लैटिन: Beta vulgaris
  4. फ्रेंच French: Bette
  5. जर्मन German: Baisskohl
  6. स्पेनिश Spanish: Barba bictola
  7. ईटालियन Italian: Bictola
  8. चायनीज़ Chinese: T’ientsai

चुकंदर के घटक

  • Saccharose: A nonreducing disaccharide made up of d-glucose and d-fructose.
  • Other oligosaccharides: refined sugar, ketose.
  • Polysaccharides: including galactans, arabans, pectin.
  • Fruit acids: including L(-)-malic acid, D(+)-tartaric acid, oxaluric acid, adipic acid, citric acid, glycolic acid, glutaric acid.
  • Amino acids: including asparagine, glutamine, Betaine (trimethylglycine) Triterpene saponins

प्रति 100 ग्राम ताजे चुकंदर में पोषण Nutrition per 100 gram

  1. कार्बोहाइड्रेट 9.96 ग्राम
  2. शुगर्स 7.96 ग्राम
  3. आहार फाइबर 2.0 ग्राम
  4. फैट 0.18 ग्राम
  5. प्रोटीन 1.68 ग्राम
  6. विटामिन ए 2 माइक्रोग्राम
  7. थाइमिन (विटामिन बी1) 0.031 मिलीग्राम
  8. रिबोफ़्लविन (विटामिन बी2) 0.027 मिलीग्राम
  9. नियासिन (विटामिन बी3) 0.331 मिलीग्राम
  10. पैंटोथेमिक एसिड (बी5) 0.145 मिलीग्राम
  11. फॉलेट (विटामिन बी9) 80 माइक्रोग्राम
  12. विटामिन बी6 0.067 मिलीग्राम
  13. विटामिन सी 3.6 मिलीग्राम
  14. कैल्शियम 16 मिलीग्राम
  15. आयरन 0.7 9 मिलीग्राम
  16. सोडियम 77 मिलीग्राम
  17. मैगनीशियम 23 मिलीग्राम
  18. फास्फोरस 38 मिलीग्राम
  19. पोटेशियम 305 मिलीग्राम
  20. जिंक 0.35 मिलीग्राम

चुकंदर के स्वास्थ्य लाभ Health Benefits of Beetroot in Hindi

चुकंदर के सेवन के बहुत से लाभ हैं। इसमें पौष्टिक, एंटीइन्फ्लेमेटरी, एंटीकैंसर, एंटीट्युमर, एंटीएनिमिक व एंटीहेपेटोटॉक्सिक गुण पाए जाते हैं। जानवरों में किये गए अध्ययन दिखाते हैं, चुकंदर लीवर में फैट के स्टोरेज को रोकता है। इसलिए इसे लीवर के रोगों और फैटी लीवर में प्रयोग किया जाता है। यह cellulite और obesity में लाभ करता है।

रंग मे यह लाल होता है और खून में वृद्धि करता है। इसमें मौजूद घुलनशील फाइबर कब्ज़ को नहीं होने देते। इसके अतिरिक्त यह कोलेस्ट्रोल को कम करने भी सहयोगी है। इसमें पाए जाने वाले नेचुरल एंटीऑक्सीडेंट शरीर में फ्री रेडिकल डैमेज को रोकते हैं और रोगों से शरीर की रक्षा करते हैं। चुकंदर में मौजूद कैरोटिनोइड्स और फ्लेवोनोइड्स बुरे कोलेस्ट्रोल को कम करते हैं।

चुकंदर हृदय के लिए लाभप्रद है। यह बुरे कोलेस्ट्रोल को धमनियों में जमने नहीं देता और उच्चरक्तचाप को कम करता है। इसमें नाइट्रेट्स होते हैं जो खून में नाइट्रिक ऑक्साइड गैस बनाते हैं जो की खून की नलियों को खोलती और बढ़े हुए रक्तचाप को कम करती है। यह धमनी के सख्त हो जाने व नसों की समस्या में लाभ करता है।  इसमें पाए जाने वाला नाइट्रेट गैस बनना कम करता है।

loading...

चुकंदर में पाए जाने खनिज लवण जैसे की सोडियम, पोटासियम, क्लोरिन, फोलिक एसिड, सल्फर और आयोडीन आदि स्वास्थ्य पर अच्छे प्रभाव डालते हैं। इसमें विटामिन्स की अच्छी मात्रा होती है। पोटेशियम शरीर को प्रतिदिन पोषण प्रदान करने में मदद करता है। क्लोरीन गुर्दों के शोधन में मदद करता है।

  1. चुकंदर में पाया जाने वाला बीटासाइनिन गांठों को नष्ट करता है।
  2. इसमें फोलिक एसिड (विटामिन बी-9 या फोलासीन या फोलेट) भी होता है। यह विटामिन कोशिका निर्माण और कोशिका वृद्धि के लिए आवश्यक है। स्वस्थ रक्त कोशिका के निर्माण के लिए और अनीमिया को रोकने के लिए यह अत्यंत ज़रूरी विटमिन है। फोलेट उच्च रक्तचाप और अल्जाइमर की समस्या को दूर करने में भी मदद करता है।
  3. चुकंदर में कम किन्तु अच्छी गुणवत्ता का लौह, होता है जो रक्तवर्धन और शोधन के काम में सहायक होते हैं।
  4. इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट तत्व, बीटासाइनिन, कैरोटिनोइड्स और फ्लेवोनोइड्स शरीर को रोगों से लड़ने की क्षमता प्रदान करते हैं।
  5. यह प्राकृतिक शर्करा सुक्रोज़’ का स्रोत होता है। इसे खाने से शरीर को ऊर्जा मिलती है।
  6. यह गुर्दे और पित्ताशय को साफ करता है।
  7. इसे खाने से कब्ज़ नहीं होता इसलिए इसे पाइल्स में लेना चाहिए।
  8. चुकंदर के साथ गाजर का रस या सेब का रस मिलाकर पीने से खून की कमी की दूर होती है, फोलिक एसिड की आपूर्ति होती है और ताकत मिलती है। दूसरे रस में मिलाकर पीने से स्वाद बेहतर होता है और गले में चुभन भी नहीं होती।
  9. चुकंदर में बोरोन पाया जाता है जो की ह्यूमन सेक्स हॉर्मोन को बढ़ाता है जिससे सेक्स ड्राइव बढ़ती है।
  10. यह बहुत पौष्टिक है और पूरे पाचन तन्त्र पर टॉनिक असर दिखाता है।
  11. चुकंदर का रस पीने से लीवर से टोक्सिन दूर होते हैं। इसलिए इसे पीलिया, हेपेटाइटिस, फैटी लीवर, फ़ूड पोइज़निंग, उलटी, दस्त आदि में लेना लाभप्रद है।
  12. चुकंदर को अल्सर में लेने से लाभ होता है। इसके लिए चुकंदर के रस में शहद मिलाकर सप्ताह में दो से तीन बार खाली पेट लेना चाहिए।
  13. इसको खाने से खून साफ़ होता है और त्वचा में कान्ति आती है।

सावधानियां / चुकंदर खाने के नुकसान / कब न खाएं

  1. चुकंदर को ताज आंच पर नहीं पकाना चाहिए।
  2. चुकंदर को अधिक पका देने पर इसके स्वास्थ्यवर्धक गुण नष्ट हो जाते है।
  3. चुकंदर में सुक्रोज़ होता है इसलिए इसे डायबिटीज में न खाएं तो बेहतर है।
  4. इसे कच्चा खाने से पहले बहुत अच्छे से धो लें।
  5. जब चुकंदर का जूस पीना शुरू करें, तो शुरू में इसी कम मात्रा पियें। आधे मीडियम साइज़ चुकंदर का रस पीने से शुरुवात करें। मात्रा को धीरे-धीरे बढ़ा सकते हैं।
  6. एक दिन में एक कप जूस का सेवन पर्याप्त है।
  7. इसमें ओक्सालिक एसिड की काफी मात्रा होती है। इसका अधिकता में सेवन किडनी को नुकसान पहुंचा सकता है।
  8. ऑक्सालेट वाले किडनी स्टोंस हों तो इसका सेवन कम मात्रा में करें।
  9. इसको पीने से पेशाब का रंग लाल-गुलाबी हो सकता है लेकिन इससे कोई नुकसान harmless side effect नहीं है।
  10. अधिक मात्रा में इसके सेवंन से ब्लड सीरम में कैल्शियम की कमी hypocalcemia, ऐंठन, उलटी, आदि हो सकते है।
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*